28.9 C
New Delhi
Saturday, February 27, 2021

INC : कांग्रेस पार्टी को जून में मिलेगा नया राष्ट्रीय अध्यक्ष

– CWC की बैठक में बहस के बाद अध्यक्ष चुनाव की फिर मिली तारीख
-चैट लीक, कृषि कानून और कोरोना वैक्सीन पर सोनिया ने साधा निशाना

नई दिल्ली/टीम डिजिटल । कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक में शुक्रवार को नेताओं के बीच बहस के बाद नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए एक बार फिर तारीख दे दी गई। अब पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद जून में पार्टी को नया अध्यक्ष मिलेगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में किसान आंदोलन, चैट लीक और कोरोना वैक्सीन को लेकर प्रस्ताव पारित किया गया। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इन मुद्दों पर बजट सत्र के दौरान सरकार को घेरने पर जोर दिया।
पार्टी के संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल के मुताबिक कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण ने मई में संगठन के चुनाव कराने की पेशकश की थी, लेकिन सीडब्ल्यूसी के सदस्यों ने पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस कार्यक्रम में थोड़ा बदलाव का आग्रह किया। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अगले दो-तीन महीने तक पार्टी संबंधित पांचों राज्यों के विधानसभा चुनावों में व्यस्त रहेगी, इसलिए जून में कांग्रेस का नया निर्वाचित अध्यक्ष होगा। सूत्र बता रहे हैं कि नए अध्यक्ष के चुनाव के मुद्दे पर बैठक में नेताओं के बीच बहस हो गई। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, पी. चिदम्बरम जैसे कुछ नेताओं ने संगठन और पार्टी अध्यक्ष का चुनाव कराने और जल्द से जल्द पूर्णकालिक अध्यक्ष की जरूरत पर जोर दिया। सूत्र के अनुसार इन नेताओं की बात पूरी होती, इसके पहले ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लगभग बिफरते हुए कहा कि कुछ लोगों को अध्यक्ष चुनाव की ज्यादा जल्दी है, शायद उन्हें सोनिया जी के नेतृत्व पर भरोसा नहीं है। गहलोत ने कहा कि संगठन के आंतरिक चुनाव से ज्यादा हमारी प्राथमिकता आने वाले विधानसभा चुनाव होने चाहिए। गहलोत ने कहा कि जो लोग आंतरिक चुनाव की मांग कर रहे हैं, वे कितनी बार चुनाव जीत कर मंत्री बने और कितनी बार चुनाव जीत कर संगठन और सीडब्ल्यूसी में आए हैं। सूत्रों के मुताबिक आनंद शर्मा ने कुछ जवाब देने की कोशिश की तो राहुल गांधी ने दखल देते हुए कहा कि इस मुद्दे को यहीं छोड़िए और आगे बढ़िए। मालूम हो कि पिछले अगस्त में आजाद, शर्मा, वासनिक समेत पार्टी के 23 वरिष्ठ नेताओं ने सभी स्तर पर संगठन के आंतरिक और पूर्णकालिक अध्यक्ष के चुनाव कराने को लेकर हाईकमान को चिट्ठी लिखी थी। तब से चुनाव की तारीखें बढ़ ही रही हैं।

किसान आंदोलन में हो रही किसानों की मौत पर चिंता जताई

बैठक के बाद प्रेस ब्रीफिंग में कांग्रेस महासचिव और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने अध्यक्ष चुनाव को लेकर नेताओं के बीच बहस होने की बात को पूरी तरह अफवाह बताया और मीडियाकर्मियों को ऐसे अफवाहों से बचने की नसीहत दी। इसके पहले केसी वेणुगोपाल ने कहा कि बैठक बेहद सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई। हर मुद्दे पर चर्चा हुई और सर्वसम्मति से फैसला लिया गया। उन्होंने बताया कि बैठक में तीन प्रस्ताव पारित हुए। पहले प्रस्ताव में किसान आंदोलन में हो रही किसानों की मौत पर चिंता जताई गई है।

तीनों नए कृषि कानूनों को तत्काल रद्द किए जाने की मांग

पार्टी ने तीनों नए कृषि कानूनों को तत्काल रद्द किए जाने की मांग की। दूसरे प्रस्ताव में कोरोना वैक्सीन को लेकर पार्टी ने वैज्ञानिकों और हेल्थ वर्कर्स का धन्यवाद दिया। पार्टी ने समाज के दबे-कुचले और पिछड़े तबकों को मुफ्त टीका लगाने की मांग की। कांग्रेस कार्यसमिति ने कोरोना वैक्सीन खुले बाजार में बेचे जाने को लेकर सरकार को आड़े हाथ लिया। तीसरे प्रस्ताव में बार्क के पूर्व सीईओ और एक पत्रकार के व्हाट्सएप चैट्स लीक के मुद्दे पर सीडब्ल्यूसी ने संयुक्त संसदीय कमेटी जांच की मांग की। कांग्रेस ने इसे राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ बताया और दोषियों के खिलाफ रोजद्रोह का मुकदमा चलाए जाने पर जोर दिया। इसके पहले बैठक की अध्यक्षता करते हुए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इन मुद्दों समेत देश के सामने कई चुनौतियों का जिक्र करते हुए संसद में सरकार को घेरने पर जोर दिया।

Related Articles

epaper

Latest Articles