22 C
New Delhi
Monday, April 19, 2021

हैंड सैनिटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल से त्वचा को नुकसान, कम उपयोग करें महिलाएं

– सैनिटाइजर का कम से कम उपयोग करें महिलाएं : डॉ. विदूषी
-हद से ज्यादा इस्तेमाल त्वचा को नुकसान पहुंचाता है
-सैनिटाइजर की वजह से लोगों में हो रही है एलर्जी
— हैंड एक्जिमा में हाथ की त्वचा खुश्क हो जाती है, फिर खुरदरी, लाल और फिर त्वचा में कट पड़ जाते हैं

नई दिल्ली/ कंचन लता : कोरोना वायरस का खौफ बढ़ता जा रहा है। ऐसे में लोग बचाव को लेकर कई तरह के उपाय कर रहे हैं। बहुत से लोग संक्रमण से बचाव के लिए का इस्तेमाल ज्यादा करने लगे हैं। त्वचा रोग विशेषज्ञों के अनुसार हैंड सैनिटाइजर का बार-बार और हद से ज्यादा इस्तेमाल त्वचा को नुकसान पहुंचाता है। त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. विदूषी जैन कहती हैं कि इन दिनों उनके पास ऐसे काफी मरीज आ रहे हैं, जिनके हाथों में सैनिटाइजर की वजह से एलर्जी हो गई है। इसमें हैं एक्जिमा व हैंड डरमटाइटिस प्रमुख है।

हैंड एक्जिमा में हाथ की त्वचा खुश्क हो जाती है। फिर खुरदरी, लाल और फिर त्वचा में कट पड़ जाते हैं। ऐसा होने पर हाथों में दर्द बढ़ जाता हैं, जबकि हैंड डरमटाइटिस में लोगों के हाथों में खुश्की, खारिश, पानी निकलने लगता है। यहीं नहीं कई बार तो उसके ऊपर बैक्टीरियल या फंगल इंफेक्शन हो रहे हैं। बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से पस पड़ रही है, जबकि फंगल इंफेक्शन की वजह से सफेद रंग के धब्बे पड़ जाते हैं। एक्जिमा में हमें सूदिग क्रीम देनी पड़ती है। स्टीरॉयड क्रीम देनी पड़ती है।

यह भी पढें…IAS पलका साहनी बनी बिहार भवन की स्थानिक आयुक्त

बैक्टीरियल इंफेक्शन में एंटी बायोटिक क्रीम देनी पड़ती है, जबकि फंगल इंफेक्शन में एंटी फंगल क्रीम और टेबलेट देनी पड़ती है। ऐसे में महिलाएं सैनिटाइजर का कम से कम उपयोग करें।
डॉ. विदूषी जैन ने कहा कि सैनिटाइजर में 70 से 80 फीसद एल्कोहल होता है। ऐसे में लोगों को अपनी स्किन के हिसाब से ही हैंड सैनिटाइजर इस्तेमाल करना चाहिए। मरीज की स्किन सेंसटिव नहीं है, तो सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें, अगर सेंसिटिव स्किन है, तो हैंड सैनिटाइजर की बजाए माइल्ड सोप साबुन इस्तेमाल करें या फिर सोप फ्री हैंड वॉशेज इस्तेमाल करें। कैमिस्ट शॉप पर यह आसानी से मिल जाएंगे।

हर दस मिनट बाद लोग हैंड सैनिटाइज कर रहे

डॉ. विदूषी जैन ने कहा कि उनके पास आ रहे मरीजों से जब हिस्ट्री पूछी जाती है, तो वह बताते हैं कि कोरोना का डर उनके दिमाग में बैठ गया है। वह हर दस मिनट बाद हैंड सैनिटाइज कर रहे हैं। ऐसे लोगों को हम सलाह दे रहे हैं कि अगर वह घर में हैं तो बेबी सोप से हाथ धो लें। अगर बाहर जाना है, तो सोप फ्री कलेंजर का इस्तेमाल करें।

माइश्चराइजर का इस्तेमाल करें

डॉ. विदूषी जैन ने कहा कि अगर साबुन से हाथ धोने या हैंड सैनिटाइजर के इस्तेमाल से हाथों पर ड्राइनस आ रही है, तो घर में जो भी माइश्चराइजर पड़ा हो, वह इस्तेमाल करें। नारियल का तेल लगा सकते है। सरसों का तेल लगाने से बचना चाहिए। क्योकि वह फोटोटोक्सिक होता है। सरसों का एलर्जी को बढ़ा देता है।

Related Articles

1 COMMENT

  1. बिल्कुल सही बात है कि हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करने से नुकसान हो सकता है डॉक्टर साहब ने तथ्यों के साथ सही जानकारी दी है इसके लिए बहुत-बहुत शुक्रिया

Comments are closed.

epaper

Latest Articles