22.1 C
New Delhi
Sunday, December 4, 2022

बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिज की सात करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क

नयी दिल्ली /अदिति सिंह : प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कथित ठग सुकेश चंद्रशेखर और अन्य के खिलाफ आपराधिक जांच के संबंध में धनशोधन रोधी कानून के तहत बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिज की सात करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है। प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार को यह जानकारी दी। संघीय एजेंसी ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत छत्तीस वर्षीय अभिनेत्री की 7.12 करोड़ रुपये की सावधि जमा और 15 लाख रुपये नकद कुर्क करने के लिए एक अस्थायी आदेश जारी किया है। निदेशालय ने इसे अपराध से हासिल धन करार दिया। गौरतलब है कि सुकेश चंद्रशेखर ने जैकलीन फर्नांडिज को जबरन वसूली सहित आपराधिक गतिविधियों से हासिल आय से 5.71 करोड़ रुपये के विभिन्न उपहार दिए थे।

—ईडी ने की कार्रवाई, कई और लोग भी लपेटे में आए
—ठग सुकेश चंद्रशेखर तिहाड़ जेल से चला रहा था अवैध वसूली का कारोबार

ईडी ने एक बयान में कहा, चंद्रशेखर ने इस मामले में अपनी लंबे समय से सहयोगी और सह-आरोपी ङ्क्षपकी ईरानी को जैकलीन तक उपहार पहुंचाने का जिम्मा सौंपा था। इन उपहारों के अलावा, चंद्रशेखर ने सह-आरोपी अवतार सिंह कोचर, एक अंतरराष्ट्रीय हवाला ऑपरेटर, के माध्यम से अपराध से हासिल धन से फर्नांडिज के करीबी परिवार के सदस्यों को 1,72,913 अमेरिकी डॉलर (वर्तमान विनिमय दर के अनुसार लगभग 1.3 करोड़ रुपये) और एयूडी 26740 (लगभग 14 लाख रुपये) की धनराशि भी दी। निदेशालय ने अपने बयान में कहा कि उसकी जांच में पाया गया कि चंद्रशेखर ने फर्नांडिज की ओर से एक पटकथा लेखक को उसकी वेबसीरीज परियोजना की पटकथा लिखने के लिए अग्रिम के रूप में 15 लाख रुपये की नकद राशि दी थी। यह नकद राशि भी कुर्क की गई है।

ईडी ने कहा कि अपराध से हासिल शेष रकम का पता लगाने के संबंध में जांच जारी है। गौरतलब है कि फर्नांडिज श्रीलंका की मूल नागरिक हैं और उनसे इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कई बार पूछताछ की है। ईडी ने पिछले साल दिसंबर में उन्हें अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरने से पहले मुंबई हवाई अड्डे पर रोक दिया था और जांच में शामिल होने का निर्देश दिया था। ईडी ने आरोप लगाया है कि चंद्रशेखर ने फर्नांडिज को उपहार देने के लिए अवैध धन का इस्तेमाल किया, जिसे उसने फोॢटस हेल्थकेयर के पूर्व प्रमोटर शिवेंदर मोहन सिंह की पत्नी अदिति ङ्क्षसह सहित कई नामी-गिरामी लोगों को धोखा देकर अॢजत किया था। उस पर आरोप है कि उसने अदिति सिंह और उसकी बहन के साथ फोन पर बातचीत में खुद को केंद्रीय गृह सचिव और कानून सचिव के रूप में पेश किया। ईडी ने कहा कि उसकी जांच में पाया गया कि एक व्यक्ति लोगों को ठगने के लिए स्पूङ्क्षफग कॉल से संपर्क कर रहा था क्योंकि उनके फोन पर दिखाई देने वाले नंबर सरकारी अधिकारियों के थे और उन्होंने एक सरकारी अधिकारी होने का दावा किया था जो लोगों को धन के बदले मदद करने का दावा कर रहा था। उस व्यक्ति ने स्वयं को केंद्रीय गृह सचिव, केंद्रीय कानून सचिव, प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) का अधिकारी और अन्य कनिष्ठ अधिकारी बताकर शिवेंदर मोहन सिंह की पत्नी अदिति सिंह से संपर्क किया और पार्टी के फंड में योगदान के बहाने उनसे 1 साल की अवधि में 200 करोड़ रुपये से अधिक की वसूली की। ईडी ने कहा, उक्त व्यक्ति ठग सुकेश चंद्रशेखर था, जो जेल अधिकारियों की मिलीभगत से दिल्ली (तिहाड़ जेल) की केंद्रीय जेल से अपना अवैध वसूली का कारोबार चला रहा था। जैकलीन ने पिछले साल अगस्त और अक्टूबर में ईडी को दिए अपने बयान में बताया था कि उन्हें चंद्रशेखर से उपहार स्वरूप गुची के तीन डिजाइनर बैग, जिम में पहनने के लिए दो गुची की ड्रेस, लुई वीटन कंपनी के एक जोड़ी जूते, हीरे के दो जोड़े झुमके और दो हेमीज ब्रेसलेट मिले थे। अभिनेत्री ने ईडी को बताया कि उसने एक मिनी कूपर कार लौटा दी, जो उसे इसी तरह उपहार में मिली थी। प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी जांच में पाया कि चंद्रशेखर फरवरी से जैकलीन के साथ नियमित संपर्क में था, जब तक कि उसे पिछले साल 7 अगस्त को (दिल्ली पुलिस द्वारा) गिरफ्तार नहीं किया गया था। बाद में उसे ईडी ने भी गिरफ्तार किया था।

Related Articles

epaper

Latest Articles