37.5 C
New Delhi
Monday, May 23, 2022

अभिनेत्री सोनम कपूर के घर से चुराए गहने मिले, खरीदने वाला सुनार गिरफ्तार

नयी दिल्ली /अदिति सिंह । दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा अभिनेत्री सोनम कपूर की दादी सास के चोरी हुए आभूषण खरीदने वाले एक सुनार को गिरफ्तार किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। कपूर के अमृता शेरगिल रोड स्थित आवास पर काम करने वाली एक नर्स और उसके पति ने आभूषण चुराए थे। पुलिस ने बताया कि सुनार की पहचान कालकाजी निवासी 40 वर्षीय देव वर्मा के तौर पर की गयी है। उन्होंने बताया कि उन्होंने वर्मा से चोरी किए गए एक करोड़ रुपये से अधिक के आभूषण बरामद किए गए है, जिनमें 100 हीरे, छह सोने की चेन, हीरे की चूडियां, एक हीरे का ब्रेसलेट, दो टॉप्स और एक पीतल का सिक्का शामिल है। उन्होंने बताया कि आरोपी दंपत्ति द्वारा चोरी के पैसों से खरीदी गयी एक आई10 कार भी बरामद की गयी है। अन्य सामान की बरामदगी की प्रक्रिया चल रही है।

—एक करोड़ के आभूषण बरामद, 100 हीरे, छह सोने की चेन
—हीरे की चूडियां, हीरे का ब्रेसलेट, दो टॉप्स शामिल

दंपत्ति ने चोरी के पैसों का इस्तेमाल मुख्यत: कर्ज चुकाने, अपने माता-पिता के इलाज का खर्च उठाने और मकान की मरम्मत कराने के लिए किया। चोरी के इस मामले में गिरफ्तार किया गया वर्मा तीसरा शख्स है। पुलिस ने कपूर के आवास पर अपने पति नरेश कुमार सागर के साथ काम करने वाली अर्पणा रुथ विल्सन को बुधवार को सरिता विहार में उनके घर से गिरफ्तार किया था। उन पर अभिनेत्री के आवास से फरवरी में 2.4 करोड़ रुपये के गहने और नकदी चुराने का आरोप है। सोनम अपने पति और ससुराल वालों के साथ यहां रहती हैं।

पुलिस ने बताया कि नर्स को अभिनेत्री की 86 वर्षीय दादी सास की देखभाल करने के लिए काम पर रखा गया था और उसने अपने अकाउंटेंट पति के साथ मिलकर घर से गहने और नकदी चुराने की साजिश रची। उन्होंने बताया कि वर्मा ने चोरी के आभूषण सागर से खरीदने की बात कबूल की और उसे नकद तथा इलेक्ट्रॉनिक लेनदेन के जरिए पैसा दिया। पुलिस ने बताया कि विल्सन और सागर ने कथित तौर पर 11 फरवरी को चोरी की और प्राथमिकी 23 फरवरी को तुगलक रोड पुलिस थाने में दर्ज करायी गयी। उन्होंने बताया कि मामले में शिकायतकर्ता कपूर और उनके पति आनंद आहूजा के घर का प्रबंधक है। उनके आवास पर 40 से अधिक लोग काम करते हैं। पुलिस ने 32 से अधिक कर्मचारियों और छह नर्स के साथ ही उनके रिश्तेदारों तथा परिचितों से पूछताछ की। पुलिस उपायुक्त (अपराध) रोहित मीना ने बताया कि जांच के दौरान सबसे बड़ी चुनौती यह पता न होना था कि चोरी कब हुई और मालिकों को कब इसकी खबर लगी। उन्होंने कहा, तकनीकी विश्लेषण के आधार पर टीम ने दो संदिग्धों की पहचान की और छापा मारकर नरेश कुमार सागर और उसकी पत्नी अर्पणा रुथ विल्सन दोनों को उनके घर से पकड़ लिया।

पूछताछ के दौरान विल्सन ने पुलिस को बताया कि उसे तब काम पर रखा गया था जब कपूर की दादी सास को 2020 में एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां वह नर्स के तौर पर काम करती थी और उसे उनके घर पर एक और नर्स की आवश्यकता के बारे में पता चला। अधिकारी ने कहा, मार्च 2021 को आरोपी ने अभिनेत्री के घर पर नर्स के तौर पर काम करना शुरू कर दिया। काम के दौरान उसने अलमारी में गहने और नकदी रखी देखी। एक दिन नर्स कपूर की दादी सास को व्हीलचेयर पर अलमारी तक ले गयी और उसके अंदर करोड़ रुपये के गहने और भारी मात्रा में नकदी रखी देखी। उसने अपने पति को इसके बारे में बताया और उन्होंने चोरी करने की साजिश रची। उन्होंने बताया कि सागर ने उसे धीरे-धीरे गहने चुराने के लिए कहा ताकि चोरी का पता न चल पाए। योजना के अनुसार वह पीडि़त को दवा देने के बाद रात में गहने चुराती थी। उन्होंने 10-11 महीने में पूरा माल चुरा लिया और मौका मिलने पर गहने बेच दिए। पुलिस ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 381 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी। तुगलक रोड पुलिस थाने ने मामले की जांच नयी दिल्ली जिले की विशेष स्टाफ शाखा को सौंप दी। पुलिस ने बताया कि अपराध शाखा भी मामले की जांच कर रही है।

Related Articles

epaper

Latest Articles