33 C
New Delhi
Tuesday, April 13, 2021

दिल्ली में गंगाराम अस्पताल के 37 डॉक्टर संक्रमित, बना कोरोना हॉटस्पॉट

—32 डॉक्टर होम आइसोलेशन हैं और पांच की हालत गंभीर
—अधिकांश डॉक्टर ले चुके हैं कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर तेजी से बढता ही जा रहा है। आम लोग इसके पीडित तो हो ही रहे थे, अब अस्पताल के डाक्टर एवं कर्मचारी भी कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। ताजा मामला वीरवार की रात सर गंगाराम अस्पताल का आया है, जहां एक साथ 37 डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें 32 डॉक्टर होम आइसोलेशन हैं और पांच की हालत गंभीर बताई जा रही है जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया है। फिलहाल यह अस्पताल राजधानी में यह सबसे बड़ा हॉट स्पॉट के रूप में सामने आया है। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को सभी डॉक्टरों की रिपोर्ट आई है। इनमें 37 डॉक्टर कोरोना संक्रमित मिले हैं। हालांकि अधिकतर डॉक्टरों में संक्रमण के हल्के लक्षण हैं लेकिन एहतियात के तौर पर इन्होंने खुद को घर में एकांत में रखा है लेकिन पांच डॉक्टरों की हालत गंभीर है। इनकी आयु भी 50 वर्ष से अधिक है। इन डॉक्टरों को तत्काल गंगाराम अस्पताल के ही कोविड वार्ड में भर्ती किया है। संक्रमित पाए गए डॉक्टरों में से अधिकांश डॉक्टर कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन ले चुके हैं। यही वजह है कि इन्हें संक्रमित होने के बाद बेहद हल्के लक्षण दिखाई दे रहे हैं।
इसी प्रकार दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में पिछले एक सप्ताह में 50 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित मिले। मेडिसिन विभाग के कुछ वरिष्ठ डॉक्टरों के अलावा सर्जरी के भी रेजिडेंट डॉक्टर कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें से अधिकतर ऐसे हैं जिन्हें बेहद हल्के लक्षण हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़ने पर एम्स ने कई ऑपरेशन थियेटर भी बंद करने का फैसला किया है। यहां सिर्फ इमरजेंसी मामलों में ही सर्जरी की जायेगी।

दिल्ली में कोविड की साढे साती, सर्वाधिक 7,437 नए मामले आए

दिल्ली में कोविड-19 के 7,437 नए मामले सामने आए हैं, जो इस साल का सबसे बड़ा दैनिक आंकड़ा है, जबकि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई, जिससे राष्ट्रीय राजधानी में मृतकों की संख्या बढ़कर 11,157 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, संक्रमण दर भी पिछले दिन की 6.1 प्रतिशत से बढ़कर 8.1 प्रतिशत हो गई, क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों में मामलों में काफी वृद्धि हुई है। इस वर्ष पहली बार एक दिन में 7,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। पिछले दो दिन 5,000 से अधिक नए मामले आए थे। दिल्ली में अब तक के सबसे अधिक दैनिक मामले 11 नवंबर को आए थे, जब 8,593 मामले आए थे, जबकि शहर में कोविड-19 से सबसे अधिक मौतें 19 नवंबर को हुई थीं, जिस दिन 131 मरीजों की मौत हो गई थी। बुलेटिन में कहा गया कि एक दिन पहले 52,696 आरटी-पीसीआर जांच और 39,074 रैपिड एंटीजन जांच सहित कुल 91,770 जांच की गई थी।

बृहस्पतिवार को बीमारी के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई

बृहस्पतिवार को संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 6,98,005 हो गए। अब तक 6.63 लाख से अधिक मरीज वायरस से उबर चुके हैं। नवीनतम बुलेटिन के अनुसार, बीमारी के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई, जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 11,157 हो गई। दिल्ली में उपचाराधीन मरीजों की संख्या एक दिन पहले के 19,455 से बढ़कर 23,181 हो गई। बुलेटिन में कहा गया है कि गृह पृथकवास में रखे गए लोगों की संख्या बुधवार के 10,048 से बढ़कर 11,367 हो गई, जबकि निरूद्ध क्षेत्रों की संख्या एक दिन पहले के 3,708 से बढ़कर 4,226 हो गई।

Related Articles

epaper

Latest Articles