36.1 C
New Delhi
Monday, June 27, 2022

अग्निपथ प्रदर्शन: 340 ट्रेनों का परिचालन प्रभावित,234 ट्रेनें रद्द, 10 डिब्बों को फूंका

नयी दिल्ली /खुशबू पाण्डेय  : सशस्त्र बलों में भर्ती से संबंधित ‘अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन के कारण अब तक (शाम 6 बजे तक) 340 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। आधा दर्जन से अधिक यात्री ट्रेनों के डिब्बों को फूंक दिया गया है। बिहार, बंगाल, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, झारखंड सहित कई राज्यों में फैले बवाल के चलते 234 यात्री ट्रेनों को पूरी तरह से कैंसिल कर दिया गया है। इसमें 94 मेल एक्सप्रेस, एवं 140 पैसेंजर ट्रेन शामिल हैं। जबकि आंशिक रूप से 65 मेल एक्सप्रेस एवं 30 पैसेंजर ट्रेनों को रद किया गया है। इसके अलावा रेलवे ने 11 यात्री ट्रेनों को डायवर्ट किया है। ट्रेनों के प्रभावित होने से लाखों रेल यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी है।

-लाखों यात्री परेशान, रेलवे को करोड़ों रुपये का नुकसान,
-दिल्ली, यूपी, बिहार, झारखंड, बंगाल के कई जगहों पर घटनाएं
-रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने की अपील, राष्ट्र की संपति को ना करें नुकसान
-सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर उपद्रव, गोलीबारी, 1 की मौत, कई घायल

इस बीच रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने देशभर के युवाओं से रेलवे संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाने का आग्रह किया है। साथ ही कहा, ‘मैं युवाओं से ङ्क्षहसक विरोध प्रदर्शन में शामिल नहीं होने और रेलवे की संपत्तियों को नुकसान नहीं पहुंचाने की अपील करता हूं। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि राष्ट्र की संपत्ति को नुकसान ना करें। वह आपकी संपत्ति है।

प्रदर्शन का सबसे अधिक प्रभाव पूर्व मध्य रेलवे पर पड़ा है जिसके अंतर्गत बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के कई हिस्से आते हैं। इन राज्यों में व्यापक स्तर पर प्रदर्शन देखा गया है।
अधिकारियों ने बताया कि वे इन ट्रेनों की आवाजाही पर नजर रख रहे हैं और स्थिति के अनुसार उनके परिचालन के संबंध में निर्णय लेंगे। रेलवे ने कहा कि पूर्व मध्य के क्षेत्राधिकार से उत्तर सीमांत रेलवे की कई ट्रेन गुजरती हैं और उनमें से कई प्रभावित हुई है। प्रदर्शनकारियों ने पूर्व मध्य रेलवे की तीन ट्रेनों और एक खाली ट्रेन को नुकसान पहुंचाया। उत्तर प्रदेश के बलिया में ‘वाङ्क्षशग लाइन पर खड़ी एक ट्रेन के एक डिब्बे को भी क्षति पहुंचाई गयी। अग्निपथ योजना के विरोध में गुस्साई भीड़ ने ट्रेनों और रेलवे संपत्ति को निशाना बनाया है। ङ्क्षहसक प्रदर्शनकारियों ने पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) में तीन ट्रेनों और कुल्हड़िया (ईसीआर में ही) में एक खाली डिब्बे को क्षतिग्रस्त कर दिया। रेलवे अधिकारियों ने कहा कि अचल संपत्ति के नुकसान का आकलन फिलहाल मुश्किल है। बलिया में प्रदर्शनकारी युवाओं ने ‘भारत माता की जय  और ‘अग्निपथ वापस लो जैसे नारे लगाते हुए एक खाली ट्रेन में आग लगा दी और कुछ अन्य ट्रेनों में तोड़फोड़ की। इसके बाद पुलिस को उन पर लाठीचार्ज करना पड़ा। सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों द्वारा तोड़फोड़ करने और ट्रेन में आग लगाने की भी खबर आयी है।
इस बीच बिहार के मोहिउद्दीननगर रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार सुबह करीब छह बजकर 10 मिनट पर प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन संख्या 15652 गुवाहाटी-जम्मू तवी लोहित एक्सप्रेस के छह डिब्बों में आग लगा दी। हालांकि, ट्रेन में सवार 1,169 यात्रियों में से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। असम में एनएफआर के रंगिया डिवीजन में नलबाड़ी और घोगरापार रेलवे स्टेशन के बीच बाढ़ के पानी से रेल पटरियों को हुए नुकसान के कारण कई ट्रेन को या तो रद्द कर दिया गया है या कामाख्या-गोलपारा टाउन-न्यू बोंगईगांव की ओर मार्ग परिवर्तित किया गया है।
मध्य प्रदेश के इंदौर में सैकड़ों युवाओं ने शुक्रवार को रेल और सड़क यातायात बाधित किया। प्रदर्शनकारियों के पथराव के बाद हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज करने के साथ आंसू गैस भी छोड़ी। रेलवे के मुताबिक करीब 600 युवा अलग-अलग समूहों में आकर शहर के लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन के पास पटरियों पर एकत्र हो गए जिससे कुछ रेलगाडिय़ां रोकनी पड़ीं। प्रदर्शनकारियों के पथराव शुरू करने पर पुलिस ने उन्हें खदेडऩे के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस छोड़कर हालात पर काबू पाया। पथराव में दो पुलिसर्किमयों को चोटें आई हैं। क्षेत्रीय रेलवे के अनुसार, पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) में 164, उत्तर पूर्वी रेलवे (एनईआर) में 34, उत्तर रेलवे में 17 और पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे में लगभग तीन ट्रेन रद्द की गईं। अधिकारियों ने कहा कि प्रदर्शनकारी अब तक सात ट्रेनों की बोगियों को आग लगा चुके हैं।
इसका विरोध दक्षिणी राज्य में भी फैल गया। रेलवे सुरक्षा बल ने सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर उपद्रव करने वाले प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए गोलीबारी की, जहां प्रदर्शन के दौरान एक ट्रेन के तीन डिब्बों को आग लगा दी गई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक व्यक्ति की मौत हो जाने की पुष्टि की है। गोलीबारी आरपीएफ ने की। घायलों का इलाज राजकीय गांधी अस्पताल में चल रहा है। उत्तर मध्य रेलवे एनसीआर के जनसंपर्क अधिकारी अमित मालवीय ने बताया कि एनसीआर क्षेत्र में किसी भी ट्रेन के साथ तोडफ़ोड़ की अभी तक कोई सूचना नही हैं। आधा दर्जन से अधिक ट्रेन को जगह-जगह रोका गया है और स्थिति सामन्य होने पर उन्हें गंतव्य की ओर रवाना किया जा रहा है । मालवीय के अनुसार एनसीआर क्षेत्र में किसी भी ट्रेन को रदद नहीं किया गया है।

उत्तर रेलवे ने 17 प्रमुख ट्रेनों को कैंसिल किया

उत्तर रेलवे ने देशभर में चल रहे बवाल के चलते दिल्ली के विभिन्न स्टेशनों से चलने वाली कुल 17 यात्री ट्रेनों को कैंसिल किया है। उत्तर रेलवे के सीपीआरओ के मुताबिक आनंद विहार से दानापुर की जनसाधारण एक्सप्रेस, गरीब रथ एक्सप्रेस, मगध एक्सप्रेस, फरक्का एक्सप्रेस, पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, ब्रहमपुत्रा मेल, लिक्च्छवी एक्सप्रेस, एसएस एक्सप्रेस, सहरसा एक्सप्रेस, वैशाली एक्सप्रेस, कामाख्या एक्सप्रेस, हावड़ा मेल, हावड़ा एक्सप्रेस, हावड़ा एक्सप्रेस, कोलकाता एक्सप्रेस, गोवाहाटी एक्सप्रेस, राजगीर एक्सप्रेस को पूरी तरह से कैंसिल कर दिया है।

Related Articles

epaper

Latest Articles