27.1 C
New Delhi
Thursday, June 30, 2022

अमित शाह बोले, राजस्थान की जनता में उत्साह, 2023 में बनेगी BJP की सरकार

—जयपुर में जन-प्रतिनिधि महा-सम्मेलन एवं राजस्थान प्रदेश भाजपा कार्यसमिति की बैठक

जयपुर/ खुशबू पाण्डेय : केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने  जयपुर (राजस्थान) में जन-प्रतिनिधि महा-सम्मेलन को संबोधित किया। इस महा-सम्मेलन में पूरे प्रदेश से आये हुए जन-प्रतिनिधि और सहकारी नेता उपस्थित थे। इससे पहले शाह ने राजस्थान प्रदेश भाजपा कार्यसमिति की दो दिवसीय बैठक के समापन सत्र को भी संबोधित किया और पार्टी पदाधिकारियों को आगे बढ़ने के मंत्र दिए। जन-प्रतिनिधि महा-सम्मेलन में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश पुनिया, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, वरिष्ठ भाजपा नेता ओम प्रकाश माथुर, राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, अलका सिंह, जसकौर मीणा, पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर, केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और विधान सभा में गुलाबचंद कटारिया गुलाब चंद कटारिया सहित कई वरिष्ठ पार्टी पदाधिकारी, नेता, विधायक एवं सांसद आदि उपस्थित थे। जयपुर एयरपोर्ट से लेकर कार्यक्रम स्थल सीतापुरा स्थित जेईसीसी कन्वेशन हॉल तक की लगभग 9 किलो मीटर की दूरी एक रोड शो में तब्दील हो गई। इस दौरान दर्जनों स्थानों पर शाह का राजस्थानी लोकनृत्य, लोकगीतों एवं पुष्प वर्षा से स्वागत किया गया।

राजस्थान की वीर भूमि को कोटि-कोटि नमन करते हुए शाह ने कहा कि मैं कल रात जैसलमेर में रोहतास चौकी पर जवानों के साथ था। वहां रहे बिना यह मालूम नहीं चल सकता है कि यह वीरों की वह महान धरती है कि जो भी यहाँ जन्म लेता है, वह देश के आन, बान और शान के लिए जीना और मरना, दोनों जानता है। जब देश में मुगलों का साम्राज्य था, तब महाराणा प्रताप ने अकबर को चुनौती दी थी। वीर शिरोमणि दुर्गादास राठौड़ ने मारवाड़ की इसी धरा पर अद्भुत शौर्य की पटकथा लिखी थी। विशाल जन-समुदाय को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि आप सभी का उत्साह, उमंग और जोश देखकर मुझे विश्वास हो गया है कि 2023 में भारतीय जनता पार्टी, राजस्थान में दो-तिहाई बहुमत से सरकार बनने जा रही है। केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कांग्रेस की गहलोत सरकार पर करारा हमला करते हुए कहा कि गहलोत सरकार हमेशा कहती रहती है कि भाजपा हमारी सरकार गिरा रही है। कांग्रेस की गहलोत सरकार बैशाखी की सरकार है, इसे भारतीय जनता पार्टी कभी भी नहीं गिराएगी बल्कि 2023 के चुनाव में भाजपा प्रचंड बहुमत से जीतकर राजस्थान में जन-जन की सरकार बनाएगी। राजस्थान की कांग्रेस सरकार, नरेन्द्र मोदी सरकार की गरीब कल्याण योजनाओं को तोड़-मरोड़ कर जनता तक पहुंचा रही है। आज राजस्थान का हर बच्चा जन्म लेते हुए ही 65,300 रुपये के कर्ज के बोझ तले दबा होता है।

पराजय स्वीकार कर जीत की पटकथा लिखी :शाह  

शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी संगठन और विचारधारा के आधार पर चलती है और सनातन संस्कृति को लेकर आगे बढ़ती है। हमने संघर्षों के झंझावातों से निकलते हुए यहाँ तक का सफ़र तय किया है। हमने पराजय स्वीकार कर जीत की पटकथा लिखी है। जन संघ से शुरू हुई यात्रा अनेक पड़ावों से होकर गुजरती हुई पार्टी के इस स्वर्णिम अध्याय तक पहुंची है। डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय से लेकर श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी और श्री लालकृष्ण अडवाणी जी तक अंकों महान तपस्वी मनीषियों ने अपने त्याग, तपस्या और बलिदान से इसकी नींवों को मजबूत किया है। 2019 में जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने लोक सभा में अपने दम पर 300 का आंकड़ा पार किया तो राजस्थान की जनता ने 25 की 25 सीटों पर भाजपा को अपना आशीर्वाद देकर उसे यशस्वी बनाया। मैं राजस्थान की जनता से आह्वान करने यहाँ आया हूँ कि यहाँ की निकम्मी और भ्रष्टाचारी अशोक गहलोत सरकार को जड़ से उखाड़ कर फेंक दीजिये और जन-जन के विकास के लिए समर्पित भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाइये।

कांग्रेस के 55 साल तक चली सरकार में गरीबी नहीं हटी

कांग्रेस पर तंज कसते हुए शाह ने कहा कि इंदिरा गाँधी जी ने 70 के दशक में ‘गरीबी हटाओ’ का नारा दिया था। कांग्रेस के 55 साल से अधिक समय तक चली सरकार में गरीबी नहीं हटी। उन्होंने गरीबी हटाने की जगह ‘गरीब हटाओ’ का माहापाप किया था। सच्चे अर्थों में देश से गरीबी हटाने की शुरुआत 2014 में पूर्ण बहुमत की  नरेन्द्र मोदी सरकार बनने के बाद हुई। जब 2014 में  नरेन्द्र मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बने तो देश की लगभग दो तिहाई आबादी के पास अपना बैंक एकाउंट तक नहीं था, करोड़ों लोगों के पास अपना घर नहीं था, घर में बिजली नहीं थी, गैस कनेक्शन नहीं था, गरीबों को शौचालय नसीब नहीं थी और भारी-भरकम स्वास्थ्य खर्च से गरीबों का जीना मुहाल हो गया था। प्रधान सेवक श्री नरेन्द्र मोदी जी के सेवा के 7 सालों में आज हर गाँव, हर घर में बिजली पहुंची है, 11 करोड़ से अधिक शौचालय बने हैं, लगभग दो करोड़ घर बने हैं, 9 करोड़ गैस कनेक्शन दिए गए हैं और देश के लगभग 55 करोड़ लोगों को सालाना पांच लाख रुपये तक की फ्री स्वास्थ्य सुविधा मिली है। आज किसी गरीब को, किसी मजदूर को अपने बच्चे का या अपने माता-पिता का इलाज कराने के लिए किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है।

राहुल गाँधी को ट्विटर से फुर्सत नहीं मिलती

कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि जनता की परेशानी से राजस्थान की कांग्रेस सरकार को कोई सरोकार नहीं है। राहुल गाँधी को ट्विटर से फुर्सत नहीं मिलती और कांग्रेस की गहलोत सरकार को बस अपना तिजोरी प्रिय है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रित करने और देश की जनता को राहत देने के लिए जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने पूरे देश में पेट्रोल-डीजल पर वैट घटाया तो सभी भाजपा एवं एनडीए शासित सरकारों ने भी वैट घटाया और इसका परिणाम यह हुआ कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भारी गिरावट हुई लेकिन राजस्थान एक ऐसा राज्य है जिसने पेट्रोल-डीजल पर वैट नहीं घटाया। मैं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील करता हूँ कि कांग्रेस की गरीब विरोधी गहलोत सरकार के खिलाफ वे लोकतांत्रिक आंदोलन करें और राज्य की कांग्रेस सरकार को पेट्रोल-डीजल पर वैट घटाने के लिए मजबूर करें।

राजस्थान में विकास की नई कहानी लिखनी है : शाह 

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने राजस्थान में 40 हजार से अधिक गाँवों को खुले में शौच के दंश से मुक्त किया, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत 14 लाख घर बनाने का कार्य किया, लगभग 1200 किलोमीटर से अधिक की रेल परियोजनाओं का पूरा किया, लगभग 50 हजार गाँवों में बिजली पहुंचाई और भारतमाला परियोजना के तहत प्रदेश में लगभग 2400 किलोमीटर सड़कें बनाई। शाह ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा कि यदि राजस्थान में विकास की नई कहानी लिखनी है, विकास को नई गति देनी है और सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास की अवधारणा पर सर्वस्पर्शी और सर्वसमावेशी विकास की गाथा लिखनी हिया तो राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी की दो-तिहाई बहुमत से सरकार बनाना जरूरी है।

Related Articles

epaper

Latest Articles