26.1 C
New Delhi
Tuesday, May 18, 2021

जनधन योजना से गरीबों के खाते में पहुंचा पैसा, खत्म हुआ भ्रष्टाचार

–गृहमंत्री अमित शाह ने जनधन योजना की वर्षगांठ पर दी पीएम को बधाई
–बैंकिंग प्रणाली से वंचित गरीबों को उनका अधिकार मिला

नई दिल्ली / टीम डिजिटल : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री जनधन योजना के 6 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी है। साथ ही कहा कि पीएम मोदी ने अपनी दूरदर्शी सोच से जनधन योजना की शुरुआत की जिसके कारण दशकों से बैंकिंग प्रणाली से वंचित गरीबों को जनधन खाते के रूप में उनका अधिकार मिला। इस योजना से न सिर्फ गरीबों के बैंक खाते में सीधा पैसा पहुंचा बल्कि भ्रष्टाचार भी खत्म हुआ।
केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार प्रधानमंत्री जनधन योजना से गरीबों, किसानों, महिलाओं और बुजुर्गों को डीबीटी के माध्यम से उनके खातों में किसान सम्मान निधि, सब्सिडी और पेंशन पहुंचा रही है।

इसी योजना से कोरोना आपदा में करोड़ों गरीबों को सहायता राशि पहुंचाई। बता दें कि प्रधानमंत्री जनधन योजना की शुरुआत 28 अगस्त 2014 को हुई थी। इसका मूल उद्देश्य वंचितों को बैंकिंग की सुविधा, असुरक्षितों को सुरक्षा, जरूरतमंदों को आर्थिक मदद प्रदान करना है साथ ही इसका मकसद किफायती कीमत पर वित्तीय उत्पादों और सेवाओं की पहुंच सुनिश्चित करना है ।
प्रधानमंत्री जनधन योजना की विभिन्न उपलब्धियों में बैंकिंग सेवाओं तक सार्वभौमिक पहुंच, असंगठित क्षेत्र के लिए पेंशन योजना, क्रेडिट गारंटी फंड का सृजन, वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम, हर परिवार को 10000 की ओवरड्राफ्ट सुविधा के साथ सामान्य बचत बैंकिंग सुविधा तथा सूक्ष्म बीमा शामिल हैं। पीएमजेडीवाई के तहत 55 फीसदी से अधिक खाताधारक महिलाएं हैं तथा 65 फीसदी से अधिक खाताधारक ग्रामीण क्षेत्रों से हैं ।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) के अंतर्गत रूपै कार्ड पर निशुल्क दुर्घटना बीमा कवर एक लाख से बढ़ाकर दो लाख रुपए कर दिया गया है। ऑलओवर ड्राफ्ट की सीमा भी 5000 से बढ़ाकर 10000 रुपए की गई है। भविष्य में प्रधानमंत्री जनधन योजना के क्रमश: 10 फीसदी और 25 फीसदी खाताधारकों को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) के तहत कवर किया जाएगा। पूरे भारत में स्वीकृत बुनियादी ढांचे के निर्माण के माध्यम से प्रधानमंत्री जनधन योजना के जरिए खाताधारकों के बीच डिजिटल भुगतान को बढ़ावा दिया जाएगा साथ ही फ्लेक्सी-आवर्ती जमा और सुकन्या समृद्धि योजना के तहत माइक्रो-क्रेडिट और निवेश के लिए पीएमजेडीवाई खाताधारकों की बेहतर पहुंच होगी।

Related Articles

epaper

Latest Articles