36.1 C
New Delhi
Monday, June 27, 2022

लद्दाख में सेना की बस नदी में गिरी, 7 जवान शहीद

 लद्दाख /अदिति सिंह : लद्दाख के तुरतुक सेक्टर में हुए एक बड़े हादसे मेें सेना के सात जवान बलिदान हो गए, जबकि 19 घायल हो गए हैं। सभी घायलों को स्थानीय सैन्य अस्पताल पहुंचाया गया। प्राथमिक उपचार देने के बाद सभी को चंडीगढ़ के मिलिट्री अस्पताल में एयरलिफ्ट किया गया। घायलों में कई की हालत ज्यादा गंभीर है। यह हादसा उस समय पेश आया जब जवानों से बस ट्रक श्योक नदी में गिर गई। जवानों की एक टुकड़ी बस में सवार होकर परतापुर के ट्रांजिट कैंप से हनीफ सब सेक्टर के अग्रिम इलाके की ओर जा रही थी। इस बड़ी घटना पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्‍द, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सहित कई लोगों ने दुख व्यक्त किया है। इसके साथ ही उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।

—19 जवान घायल, चंडीगढ़ के मिलिट्री अस्पताल में एयरलिफ्ट किया गया
—राष्ट्रपति, PM मोदी, अमित शाह, राजनाथ सिंह, राहुल गांधी ने शोक जताया
—सेना की बस 60 फीट नीचे श्योक नदी में गिरी, मोर्चे पर जा रहे थे 26 फौजी

प्राप्त जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की सुबह करीब नौ बजे 26 जवानों का एक दल बस में सवार होकर परतापुर स्थित ट्रांजित कैंप से आगे जा रहा था। हनीफ सेक्टर की ओर जा रही ट्रक जब थोइस से करीब 25 किलोमीटर दूर पहुंचा तो अचानक बस चालक से असंतुलित होकर सड़क से करीब 90 फीट नीचे श्योक नदी में फिसल कर गिर गई। हादसे के बाद वहां चीख-पुकार मच गई। आसपास के लोगों और पुलिस व सेना के जवानों ने मिलकर रेस्क्यू आपरेशन चलाया। नदी में गिरे सभी जवानों को निकाला गया।
इनमें से सात जवानों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। बाकी 19 घायलों में कई की हालत गंभीर है। सभी को पहले परतापुर के 403 फील्ड अस्पताल पहुंचाया गया। सेना के पीआरओ ले. कर्नल एमरान मुसाबी ने बताया कि प्राथमिक उपचार के बाद सभी को भारतीय वायु सेना के विशेष विमान से चंडीगढ़ भेज दिया गया। वहां सभी का उपचार अब सैन्य अस्पताल में चल रहा है। मृतक जवान और घायलों के नाम और पते की जानकारी अभी नहीं मिली है। बताया जा रहा है कि नोबरा के लरगयाब पच्छाथांग में दुर्घटनाग्रस्त बस का नंबर जेके10-6245 है। इसे लद्दाख के चांगमार इलाके का रहने वाला अहमद शाह चला रहा था। इस मामले में लेह पुलिस ने नोबरा थाने में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविन्‍द ने कहा कि यह जानकर दुख हुआ कि लद्दाख में एक दुर्भाग्यपूर्ण सड़क दुर्घटना ने हमारे कुछ बहादुर सैनिकों की जान ले ली है। मृतकों के परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। उपराष्ट्रपति सचिवालय ने एम वेंकैया नायडू के हवाले से ट्वीट किया कि लद्दाख में एक सड़क दुर्घटना में हमारे बहादुर सैनिकों की मौत के बारे में जानकर दुख हुआ। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए मेरी प्रार्थना। पीएम मोदी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा, लद्दाख में हुए बस हादसे से आहत हूं, जिसमें हमने अपने वीर सेना के जवानों को खो दिया है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मुझे उम्मीद है कि जो घायल हुए हैं वे जल्द से जल्द ठीक हो जाएं। प्रभावितों की हर संभव मदद की जा रही है।
रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह ने कहा कि लद्दाख में एक बस त्रासदी के कारण हमारे बहादुर भारतीय सेना के जवानों की जान जाने से गहरा दुख हुआ। हम अपने देश के लिए उनकी अनुकरणीय सेवा को कभी नहीं भूलेंगे। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे से बात की, जिन्होंने मुझे स्थिति से अवगत कराया और घायल सैनिकों की जान बचाने के लिए सेना द्वारा उठाए गए कदमों से अवगत कराया। सेना घायल जवानों की हर संभव मदद कर रही है।
केंद्रीय अमित शाह ने कहा कि लद्दाख में भारतीय सेना की एक बस के खाई में गिरने से हुई दुर्घटना अत्यंत दुःखद है। इस हादसे में हमने अपने जिन वीर जवानों को खोया है मैं उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ। घायलों को त्वरित उपचार के लिए ले जाया गया है, ईश्वर से उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।
जम्‍मू कश्‍मीर के लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्‍हा के कार्यालय ने बयान जारी कर कहा कि लद्दाख में एक दुखद बस दुर्घटना में हमारे बहादुर सेना के जवानों के शहीद होने के बारे में जानकर गहरा दुख हुआ। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। राष्ट्र के लिए उनकी निस्वार्थ सेवा को हमेशा याद किया जाएगा। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना है।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विटर पर कहा कि लद्दाख में भारतीय सेना के जवानों के साथ दुखद दुर्घटना के बारे में सुनकर बेहद दुख हुआ। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। हमारे घायल सैनिकों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

Related Articles

epaper

Latest Articles