23 C
New Delhi
Tuesday, April 13, 2021

बाबा साहेब अंबेडकर के बहाने घर-घर पहुंची BJP

–भाजपा ने देशभर में मनाई भीमराव अंबेडकर की जयंती
-देश भर में मानवता की सेवा से जुड़े कार्यक्रम आयोजित किये
-प्रधानमंत्री, बीजेपी अध्यक्ष, सभी मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों ने दी श्रद्धांजलि
-बाबासाहब के विचारों को अपने जीवन में उतारने की अपील की

(शिवानी त्रिपाठी)
नई दिल्ली/टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party)  ने आज देश भर में श्रद्धा, सेवा और समर्पण भाव से भारत रत्न बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाई। इस अवसर पर देश भर में मानवता की सेवा से जुड़े कई कार्यक्रम आयोजित किये गए। इस अवसर पर आज देश भर में कई जगहों पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रक्तदान शिविर का आयोजन किया और कोरोना संकट के मद्देनजर जरूरतमंद लोगों को फेस कवर का वितरण भी किया। हैदराबाद में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव के नेतृत्व में युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने कई जगह रक्तदान किया।
पार्टी कार्यकर्ता सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करते हुए हर मंडल में गरीब बस्तियों में राशन किट का वितरण कर रहे हैं। पार्टी कार्यकर्ता हर गरीब बस्ती में जनता को ‘मेरी बस्ती, कोरोना मुक्त बस्ती का संकल्प दिला रहे हैं एवं उन्हें कोरोना से बचाव के लिए प्रेरित कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाबासाहेब डॉ भीमराव अंबेडकर को उनकी जयंती पर सभी देशवासियों की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि दी। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने अपने निवास स्थान पर बाबासाहब के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को सेवा और समर्पण का संदेश दिया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाबासाहब का स्मरण करते हुए कहा कि देश उनके योगदान को सदैव याद रखेगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बाबासाहब को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वे स्वतंत्र भारत के महानायक थे जिन्होंने न केवल संविधान के निर्माण में प्रभावी भूमिका निभाई अपितु विषमताओं से संघर्ष करते हुए उन्होंने सार्थक जीवन जीने की कला भी सिखाई। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने अंबेडकर को श्रद्धांजलि देते हुए लोगों से उनके जीवन से प्रेरणा लेने की अपील की।

कानून एवं संचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने लोकतंत्र के सच्चे मसीहा और एक कानूनविद के रूप में बाबासाहब को याद किया तो केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उनके जीवन से प्रेरणा लेते हुए आम जनता से उनके दिखाए रास्ते पर चलते हुए सेवा भाव से देश को कोरोना संक्रमण की विपत्ति से बाहर निकालने की अपील की।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बाबासाहेब को नमन करते हुए कहा कि उन्होंने केवल संविधान नहीं दिया बल्कि देश के दलितों को सीखने का, एकता बनाये रखने की सीख दी। सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत  ने बाबासाहब को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें समतामूलक समाज और आधुनिक भारत के निर्माण का अग्रणी दूत बताया।

 

इस मौके पर पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं, प्रदेश अध्यक्षों, केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों तथा भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं उप-मुख्यमंत्रियों ने फेसबुक लाइव के माध्यम से बाबासाहब भीमराव अंबेडकर की जयंती के अवसर पर देश/राज्य की जनता से बात की और बाबासाहब के विचारों को अपने जीवन में उतारने की अपील की।

मुख्यमंत्रियों; उप-मुख्यमंत्रियों ने बाबासाहब के बताये रास्तों पर चलने की अपील की

इसके अलावा भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों/उप-मुख्यमंत्रियों एवं प्रदेश अध्यक्षों व संगठन महामंत्रियों ने भी अपने-अपने घरों में उनके चित्रों पर माल्यार्पण किया और देशवासियों से बाबासाहब के बताये रास्तों पर चलने का आह्वान किया। भाजपा के सभी प्रदेश अध्यक्षों, राष्ट्रीय एवं प्रदेश पदाधिकारियों एवं संगठन महामंत्रियों ने भी अपने-अपने घरों में बाबासाहब भीमराव अंबेडकर जी को पुष्पांजलि अर्पित की, उनके चित्रों पर माल्यार्पण किया और वीडियो संदेश जारी कर पार्टी कार्यकर्ताओं से बाबासाहब के बताये रास्तों पर चलने की अपील की।

पश्चिम बंगाल, केरल, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश ने बाबा को याद किया

इसके अलावा पश्चिम बंगाल, केरल, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान आदि प्रदेशों में भी प्रदेश अध्यक्ष एवं पार्टी पदाधिकारियों ने बाबासाहब की प्रतिमाओं एवं चित्रों पर माल्यार्पण किया और वीडियो संदेश जारी करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से कोरोना संकट की इस घड़ी में लोगों की मदद करने का आह्वान किया।

भारतीय संविधान के शिल्पकार थे बाबा साहेब : तरूण चुघ


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव​ एवं दिल्ली के सह प्रभारी तरूण चुघ ने पंजाब के अमृतसर स्थित अपने पैतृक आवास पर बाबासाहब की जयंती पर याद किया और बाबासाहब को श्रद्धांजलि दी। साथ ही कहा कि बाबा साहेब भारतीय संविधान के शिल्पकार, सामाजिक न्याय के प्रणेता और शोषित-दलित-वंचितों के अधिकारों के लिए लडऩे वाले व्यक्तित्व थे। उन्होंने कहा कि बाबासाहेब अम्बेडकर का सामाजिक, आर्थिक और वैधानिक दृष्टिकोण, एक सर्वसमावेशी समाज के निर्माण और उत्तम राष्ट्र संचालन की दिशा में सदैव हमारा मार्गदर्शन करता है।

 

Related Articles

epaper

Latest Articles