spot_img
11.1 C
New Delhi
Saturday, January 29, 2022
spot_img

BJP: कांग्रेस का नाम मुस्लिम लीग कांग्रेस होना चाहिए

spot_imgspot_img

–कांग्रेस के मुस्लिम तुष्ठिकरण पर भाजपा ने बोला हमला
–अशोक चव्हाण के बयान पर बीजेपी ने किया पलटवार
–चव्हाण के बयान से कांग्रेस की पोल खुल गई है : संबित पात्रा

Indradev shukla

(खुशबू पाण्डेय )

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने आज यहां कांग्रेस पार्टी (Congress party) पर वोट बैंक और तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए एक के बाद एक कई हमले किये। साथ ही कहा कि कांग्रेस की मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति के कारण अब कांग्रेस का नाम आईएनसी (Indian National Congress) नहीं बल्कि एमएलसी यानी मुस्लिम लीग कांग्रेस होना चाहिए। भाजपा ने कांग्रेस के महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण के बयान पर करारा हमला करते हुए कहा कि चव्हाण के बयान से कांग्रेस की पोल खुल गई है। कांग्रेस ने ऐसा बयान देकर समग्र विश्व के हिंदुओं का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन की आड़ में हिंदुओं को अपशब्द कहा जाता है।

Indradev shukla

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस के नेता कहते हैं कि वह केवल मुस्लिमों के लिए किसी सरकार में शामिल हैं तो आखिर हिंदुओं, सिखों, पारसियों ने आखिर क्या गुनाह किया है? बता दें कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान सरकार में मंत्री अशोक चव्हाण ने कहा- कई मुस्लिम भाइयों ने कहा था कि हमारी सबसे बड़ी दुश्मन बीजेपी है, बीजेपी को अगर रोकना है तो कांग्रेस को इस सरकार में शामिल होना चाहिए। इसीलिए कांग्रेस आज सरकार में शामिल है। इसका एक ही निचोड़ है कि कांग्रेस मुसलमानों से पूछकर ही सरकार बनाती है, किसी और धर्म के लोगों को ध्यान में रखकर नहीं। कांग्रेस के इस आपत्तिजनक बयान के लिए और हिंदुओं का अपमान करने के लिए देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस पार्टी सिर्फ मुसलमानों का वोट पाने के लिए तुष्टिकरण की राजनीति करती है लेकिन मुसलमानों का कभी कोई भला नहीं करती है। अब से कांग्रेस को इंडियन नेशनल कांग्रेस नहीं बल्कि मुस्लिम लीग कांग्रेस कहना चाहिए। जुलाई 2018 में राहुल गांधी ने कहा था कि हाँ, कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है। जुलाई 2018 में ही कर्नाटक की तत्कालीन कांग्रेस-जेडीएस सरकार में कांग्रेस कोटे से मंत्री जेडए खान ने देश के हर जिले में शरिया कोर्ट की वकालत की थी।

संबित पात्रा ने कहा कि मई 2017 में केरल में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सरेआम एक गाय की हत्या की थी गौमांस के भक्षण का जघन्य अपराध किया था। 2013 में तत्कालीन गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने एक कदम आगे बढ़कर भगवा आतंकवाद की कहानी गढ़ी थी।
इसके अलावा 2006 में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है। जुलाई 2009 में राहुल गांधी ने अमेरिकी राजदूत टिमोथी जे. रोमर से कहा था कि देश को सबसे ज्यादा खतरा भगवा आतंकवाद से है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि 2008 में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान कांग्रेस ने कहा कि वह राम सेतु के अस्तित्व को नहीं मानती।

सोनिया गांधी ने कांचि कामपीठ के शंकराचार्य को गिरफ्तार करवाया

सोनिया गांधी ने कांचि कामपीठ के शंकराचार्य को गिरफ्तार करवाया था, जिसका खुलासा बाद में पिछले वर्ष पूर्व राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी ने किया था। उन्होंने कहा कि 1949 में कांग्रेस ने अयोध्या में राम मंदिर का विरोध किया जो सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक मुद्दा बना रहा। अर्थात् 1946 से लेकर आज तक कांग्रेस ने केवल मुस्लिम वोट बैंक और तुष्टिकरण की केवल राजनीति ही की।

उन्होंने कहा कि कल औवेसी ने कहा कि मुसलमानों ने 800 वर्ष तक इस मुल्क में हुक्मरानी और जांबाजी की है। मेरे आबा और जात ने इस मुल्क को कुतुबमीनार, चार मिनार, जामा मस्जिद दिया है। लाल किला भी मेरे आबा और दादा ने बनाया, तेरे बाप ने क्या बनाया है?
हमारे दादा-परदादा ने इस देश को सहिष्णु, विराट, क्षमतावान, गरीमावान बनाया और आप लोग ऐसी भाषा का उपयोग करते हैं। ओवैसी जिन्ना बनने की राह पर चल रहे हैं।

सीएए-एनपीआर पर देश में भ्रम का माहौल

भाजपा नेता ने कहा कि विपक्ष सीएए-एनपीआर पर देश में भ्रम का माहौल बना रहा है। इसमें खासतौर पर कांग्रेस पार्टी है। इस विरोध की आड़ में कांग्रेस ने हिंदुओं को अपशब्द देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में छोटी बच्चियों के जेहन में जहर किसने भरा है। पीएम को जान से मार देना है यह उन्हें किसने सिखाया?
संबित पात्रा ने कहा कि देश में हिंदुओं के खिलाफ जहर बोया जा रहा है। यह काफी दर्दनाक है। देश में लोकतंत्र है। यहां किसी भी विषय पर प्रदर्शन किया जा सकता है लेकिन ऐसे किसी के जेहन में जहर बोना कहां तक उचित है?

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img