spot_img
20.1 C
New Delhi
Monday, October 25, 2021
spot_img

BJP कार्यकर्ता आगे बढ़े, उखाड़ फेंके पश्चिम बंगाल सरकार

–भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बंगाल के कार्यकर्ताओं में भरा जोश
–ममता दीदी की खिसक रही है जमीन, अब कमल खिलेगा
–माँ दुर्गा की शक्ति को लेकर आगे बढ़ेंगे कार्यकर्ता और हर बूथ को मजबूत करेंगे

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने आज पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा की नवगठित कार्यकारिणी में जोश भरते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता दीदी की पांवों के नीचे से जमीन खिसक चुकी है, लिहाजा आप लोग तैयार हो जाएं कमल खिलाने के लिए। राज्य की जनता प्रदेश में कमल खिलाने का मन बना चुकी है। उन्होंने कहा कि हमें तेज गति से आगे बढऩा है, अपने वोट शेयर को 50 प्रतिशत से आगे ले जाना है और आने वाले विधान सभा चुनाव में गरीब विरोधी तृणमूल सरकार को सत्ता से उखाड़ कर फेंक देना है। आने वाले चुनाव में पश्चिम बंगाल की जनता आवाज बुलंद करेगी और ममता सरकार को घर बैठा कर प्रदेश में कमल की सरकार बनाएगी। भाजपा कार्यकर्ता माँ दुर्गा की शक्ति को लेकर आगे बढ़ेंगे और हर बूथ को मजबूत करेंगे। पश्चिम बंगाल के भाजपा कार्यकर्ताओं ने विपरीत परिस्थितियों में भी काम करते हुए राज्य में कमल को मजबूत किया है। पूरा देश पश्चिम बंगाल के भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ है।
नड्डा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में बहुत कम समय में ही लंबी यात्रा की है। 2011 की विधान सभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में भाजपा को केवल 4 फीसदी वोट मिला था और दो ही सीटें मिली थी। 2014 के लोक सभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में भाजपा का वोट शेयर बढ़ कर 18 फीसदी हो गया और इस बार 2019 के लोक सभा चुनाव में राज्य की जनता ने भाजपा को दिल खोल कर आशीर्वाद दिया और पार्टी को 40 फीसदी वोट प्राप्त हुए। ममता सरकार पर हमले को और तेज करते हुए नड्डा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता को मुख्यधारा में शामिल होने से रोकने के लिए ममता दीदी रोड़े अटकाती है। पश्चिम बंगाल में ममता दीदी ने जनता को आयुष्मान भारत, किसान सम्मान निधि योजना और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ से वंचित रखा है। 4.57 करोड़ गरीब लोगों को ममता सरकार ने आयुष्मान भारत के लाभ से वंचित रखा है। अभी तक पश्चिम बंगाल सरकार ने किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों की सूची ही नहीं सौंपी है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि स्वच्छ भारत में सबसे गंदे शहरों की सूची के 10 शहरों में से पश्चिम बंगाल के 8 शहर शामिल हैं। पहले तो पश्चिम बंगाल ने स्वच्छ भारत सर्वे में भाग लेने से ही मना कर दिया था। केंद्र की किसी भी जनोपयोगी और विकास की योजनाओं में ममता सरकार सहयोग नहीं करती। हर बात पर तृणमूल सरकार का एक ही रोना होता है -होबे ना, होबे ना, होबे ना। ममता दीदी, सब कुछ होगा, पश्चिम बंगाल का विकास हो कर रहेगा, राज्य की जनता को उनका हक़ मिल कर रहेगा। कमल सब कुछ बदलेगा। तृणमूल सरकार कोरोना के सही आंकड़े नहीं देती। केंद्र सरकार की टीम को काम नहीं करती दिया तृणमूल सरकार ने। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई तो ममता सरकार ने उसे कोरोना कैरियर्स और कोरोना एक्सप्रेस कहा। तृणमूल सरकार मानवता विरोधी सरकार है, इसे राज्य की जनता से कोई प्रेम नहीं है, इसे केवल वोट बैंक और तुष्टिकरण की राजनीति करनी है। ममता बनर्जी पर हमले की शुरुआत करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पांच अगस्त 2020 को भव्य राम मंदिर का प्रधानमंत्री मोदी ने शिलान्यास किया और पांच अगस्त को ममता दीदी ने पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन कर करोड़ों लोगों की भावनाओं को कुचलने का काम किया जबकि 5 दिन पहले ही ममता सरकार द्वारा 31 जुलाई को बकरीद पर लॉकडाउन हटा लिया गया था। यह तृणमूल सरकार की वोट बैंक और तुष्टिकरण की राजनीति नहीं तो और क्या है?

100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या हुई

नड्डा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के 100 से अधिक कार्यकर्ताओं की नृशंस हत्या हुई है। यह जंगलराज नहीं तो और क्या है? नडडा ने पूछा कि इस पर उनके मुंह से आवाज क्यों नहीं निकलती है? यह तृणमूल कांग्रेस का दोहरा चरित्र नहीं है तो और क्या है? हमें इस से भी लडऩा है। पश्चिम बंगाल में तृणमूल सरकार के कट मनी, टीएमसी मनी और नारदा, शारदा जैसे स्कैम से यह सिद्ध हो चुका है कि तृणमूल सरकार पॉलिटिक्स ऑफ़ क्रिमिनाईलेजशन कर रही है।

 

Related Articles

epaper

Latest Articles