30.1 C
New Delhi
Tuesday, October 4, 2022

बीजेपी की महिला सांसद रंजीता कोली पर हमला, ट्रक से कुचलने की कोशिश

नयी दिल्ली/खुशबू पाण्डेय । भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सोमवार को भरतपुर से पार्टी की सांसद रंजीता कोली पर हुए कथित हमले का मुद्दा संसद के भीतर और संसद के बाहर उठाया तथा कानून एवं व्यवस्था को लेकर राजस्थान सरकार पर निशाना भी साधा। पार्टी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस शासित राजस्थान में स्थिति भयावह है और कानून-व्यवस्था बिगड़ी हुई है तथा खनन माफियाओं को पूरी छूट दी गई है। कोली ने दावा किया कि रविवार रात भरतपुर में एक खनन माफिया ने उनकी कार को कथित तौर पर ट्रक से कुचलने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि कथित हमले में उनकी कार क्षतिग्रस्त हो गई है।

—खनन माफिया ने उनकी कार को कथित तौर पर ट्रक से मारी टक्कर 
—भाजपा ने राजस्थान सरकार पर संसद में और बाहर साधा निशाना

घटना के बाद कोली अपने समर्थकों के साथ क्षेत्र में चल रहे खनन के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर भरतपुर की दिलावती पुलिस चौकी के सामने धरने पर बैठ गईं। केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और राज्यवर्धन राठौड़ ने संसद भवन परिसर में पत्रकारों से चर्चा में आरोप लगाया कि भरतपुर सांसद पर चौथी बार खनन माफियाओं द्वारा हमला हुआ है। राठौड़ ने कहा, राजस्थान में स्थिति फिलहाल पूरी तरह नियंत्रण से बाहर है। राजस्थान सरकार अपने अंतिम दिन गिन रही है, लेकिन इसमें वहां की जनता पिस रही है। अवैध खनन माफिया को वहां पूरी छूट दी गई है, ऐसा लगता है कि पूरे देश में कांग्रेस को चुनाव राजस्थान को बेचकर ही लडऩा है। मेघवाल ने कहा कि राजस्थान में कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ी हुई है और कोली पर चौथी बार खनन माफियाओं द्वारा हमला हुआ है। उन्होंने कहा, राजस्थान सरकार कानून व्यवस्था के मामले में पूरी तरह लापरवाह हो गई है। राजस्थान सरकार के हाथ में कुछ नहीं रह गया है। राज्य में दलितों और महिलाओं पर अत्याचार बढ़ गए हैं। लोकसभा में भाजपा की सांसद जसकौर मीणा ने कोली पर हमले का मुद्दा उठाया और कहा कि उनपर चौथी बार हमला हुआ। भाजपा के सदस्यों ने राजस्थान सरकार शर्म करो के नारे लगाकर कोली पर हुए हमले की ङ्क्षनदा की। शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए मीणा ने कहा कि राजस्थान में महिलाओं की सुरक्षा की स्थिति काफी खराब है। उन्होंने कहा, हमारी सांसद रंजीता कोली पर चौथी बार हमला किया गया है। जब प्रदेश सरकार एक सांसद की सुरक्षा नहीं कर पाएगी तो आम महिलाओं का क्या होगा।उन्होंने दावा किया, ”सांसद की जान को खतरा है और राजस्थान सरकार का रवैया महिलाओं के प्रति असंवेदनशील है। मीणा ने कहा कि सदन को इस ओर ध्यान देना चाहिए और उचित कार्रवाई होनी चाहिए। भाजपा की रंजनाबेन भट्ट ने भी शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए कहा, ”राजस्थान के भरतपुर में हमारी साथी सांसद रंजीता कोली पर कल हमला हुआ।

उन पर चौथी बार हमला किया गया है। दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती। उन्होंने आरोप लगाया, राजस्थान के मुख्यमंत्री ने अपना खुद का कानून बना लिया है कि बलात्कार के दोषियों को फांसी की सजा नहीं होगी। रंजना बेन ने कहा कि रंजीता कोली पर हमले के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की जाए। पार्टी की कई महिला सदस्यों ने उनका समर्थन किया। सदन के बाहर भाजपा नेताओं ने मुख्यमंत्री गहलोत के उस बयान को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि बलात्कारियों के लिये मौत की सजा का नया कानून लागू होने के बाद से बलात्कार पीडि़तों की हत्याएं बढ़ी हैं। इससे पहले, भरतपुर में संवाददाताओं से बातचीत में कोली ने कहा, “खनन माफिया ने मुझ पर चौथी बार हमला किया था। मैं अपने सहयोगियों के साथ क्षेत्र में चल रहे अवैध खनन की स्थिति का जायजा लेने पहुंची थी। माफिया ने ट्रक से मेरे वाहन को कुचलने की कोशिश की। सौभाग्य से हम समय पर वाहन से बच निकले।Ó

Related Articles

epaper

Latest Articles