30.1 C
New Delhi
Wednesday, May 25, 2022

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस का क्लीन स्वीप, बीजेपी की लुटिया डूबी

—कांग्रेस ने तीनों विधानसभा सीटों, मंडी लोकसभा सीट पर जीत हासिल की
—मंडी से वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह ने जीता चुनाव

शिमला /मीरा शर्मा : हिमाचल प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका देते हुए विपक्षी दल कांग्रेस ने तीनों विधानसभा सीटों फतेहपुर, अर्की और जुबल-कोटखाई और मंडी लोकसभा सीट पर जीत हासिल कर ली है। उपचुनाव के परिणाम के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि पार्टी आत्मावलोकन करेगी। गौरतलब है कि चारों सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान 30 अक्टूबर को हुआ था। कभी भारतीय जनता पार्टी के हिस्से में रही मंडी लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी और करगिल युद्ध के अनुभवी सैनिक भाजपा प्रत्याशी कौशल ठाकुर को 7,490 वोटों के अंतर से हराया। मंडी मुख्यमंत्री ठाकुर का गृह जिला है। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया है कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ काम किया है और पार्टी इसके लिए आत्मावलोकन करेगी।

कांग्रेस ने अपनी फतेहपुर और अर्की सीटें बरकरार रखी

निर्वाचन आयोग द्वारा मंगलवार को घोषित चुनाव परिणाम के अनुसार, कांग्रेस ने अपनी फतेहपुर और अर्की सीटें बरकरार रखी हैं, जबकि जुबल-कोटखाई सीट भाजपा से छीनने में कामयाब हुई है। यहां तक कि जुबल-कोटखाई सीट पर सत्तारूढ़ भाजपा अपनी जमानत बचाने में भी नाकाम रही। फतेहपुर से भवानी सिंह पठानिया, अर्की से संजय और जुबल-कोटखाई से रोहित ठाकुर ने जीत दर्ज की है। मंडी लोकसभा सीट पर प्रतिभा सिंह को 3,69,565 वोट मिले जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी को कौशल ठाकुर को 3,62,075 वोट मिले। फतेहपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के भवानी सिंह पठानिया (24,449) ने भाजपा के बलदेव ठाकुर (18,660) को 5,789 मतों के अंतर से हराया है। वहीं, निर्दलीय चुनाव लडऩे वाले राज्य के पूर्व मंत्री डॉक्टर रंजन सुशांत को 12,927 वोट मिले हैं। अर्की से कांग्रेस प्रत्याशी संजय (30,798) ने 3,219 वोटों के अंतर से भाजपा उम्मीदवार रतन सिंह पाल (27,579) को हराया।

जुबल-कोटखाई में भाजपा प्रत्याशी जमानत भी नहीं बचा सकीं

जुबल-कोटखाई में कांगेस के रोहित ठाकुर (29,955) ने 6,293 वोटों के अंतर से निर्दलीय उम्मीदवार चेतन सिंह ब्राग्टा (23,662) को हराया। वहीं भाजपा प्रत्याशी नीलम सेराइक अपनी जमानत भी नहीं बचा सकीं, उन्हें महज 2,644 वोट मिले। राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौड़ ने भाजपा की हार के बाद नैतिक आधार पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से इस्तीफा मांगा है। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस ने सेमीफाइनल जीत लिया है और अगले साल दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनावों में भी जीत दर्ज करेगी। वहीं दूसरी ओर, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि भाजपा उपचुनाव में पार्टी की हार पर आत्मावलोकन करेगी। मुख्यमंत्री ठाकुर ने आरोप लगाया कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ काम किया। उन्होंने कहा, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ठाकुर ने कहा, पार्टी अपनी कमियों को दूर करने के लिए रणनीति तैयार करेगी और 2022 के विधानसभा चुनाव में जीत के लिए हरसंभव प्रयास करेगी।

Related Articles

epaper

Latest Articles