spot_img
28.1 C
New Delhi
Saturday, June 19, 2021
spot_img

DELHI: 8 फरवरी को वोटिंग, 11 को निकलेगा रिजल्ट

–दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान, बजा बिगुल
–सभी 70 सीटों पर होगा चुनाव, 13,750 पोलिंग बूथ बनाए
–पुरुष 80,55,686 एवं महिला मतदाता 66, 35, 635 हैं
–815 किन्नर मतदाता भी चुनेंगे दिल्ली की सरकार
–सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था रहेगी, सभी सीमाओं पर रहेगी निगरानी
–वरिष्ठ नागरिकों एवं दिब्यांगों के लिए विशेष व्यवस्था

(खुशबू पाण्डेय)
नई दिल्ली  : केंद्रीय चुनाव आयोग (Central election commission) ने राजधानी दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान आज यहां कर दिया। 8 फरवरी को सभी 70 सीटों पर मतदान होगा। जबकि, 11 फरवरी को मतगणना होगी। उसी दिन रिजल्ट घोषित किया जाएगा। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही दिल्ली में आदर्श चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है। इस दौरान (चुनाव तिथियों की घोषणा के बाद) दिल्ली के लिए विशेष योजनाओं का ऐलान नहीं किया जा सकता है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने सोमवार को अपराहन चुनाव की तारीखों का ऐलान किया। उनके मुताबिक 70 सदस्यीय विधानसभा चुनाव के लिए अधिसूना 14 जनवरी को जारी की जाएगी और नामांकन पत्र भरने की अंतिम तारीख 21 जनवरी है। जबकि, नामांकन पत्रों की जांच 22 जनवरी होगी। इसके साथ ही 24 जनवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

 

विधानसभा चुनाव के लिए 13,750 पोलिंग बूथ बनाए

इस बार विधानसभा चुनाव के लिए 13,750 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में यह 16.89 फीसदी पोलिंग स्टेशन अधिक हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त के मुताबिक मतदान 8 फरवरी को होगा और वोटों की गिनती 11 फरवरी मंगलवार को की जाएगी। विधानसभा चुनाव की पूरी प्रक्रिया 13 फरवरी को समाप्त हो जाएगी। इस बार चुनाव में 1,46, 92, 136 सामान्य मतदाता वोट का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके अलावा 11,556 सर्विस वोटर्स हैं। इस तरह कुल मतदाताओं की संख्या 1,47,03,692 होगी। कुल मतदाताओं में पुरुष मतदाता 80,55,686 एवं महिला मतदाता 66, 35, 635 हैं। इसके अलावा किन्नर मतदाताओं की संख्या 815 है। नये मतदाताओं की संख्या 2 लाख 8 हजार 883 हैं। विधानसभा चुनाव में सुरक्षा की चाक चौबंद इंतजाम किए जाएंगे। दिल्ली की सभी सीमाओं पर निगरानी रखी जाएगी। मदिरा सहित सभी नशीले पदार्थों के बिक्री एवं वोटरों को लुभाने के लिए इस्तेमाल में नहीं लाने दिया जाएगा। इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों एवं दिव्यांग मतदाताओं के लिए वैलेट का भी इतंजाम किया गया है।

मटियाला में सबसे अधिक वोटर, चांदनी चौक में सबसे कम


राजधानी के पश्चिम दिल्ली की मटियाला विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 4,09,935 मतदाता हैं। इसी प्रकार सबसे कम दिल्ली-6 में पड़ते चांदनी चौक विधानसभा में 1,25, 172 मतदाता हैं। दिल्ली के सभी मतदाओं के फोटो पहचान पत्र बर गए हैं। मतदान केंद्रों की संख्या 13,750 होगी जो पिछले चुनाव की तुलना से 16.89 फीसदी अधिक है। दिल्ली की 70 सीटों में से 58 सामान्य श्रेणी की है जबकि 12 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं।

90 हजार कर्मचारी तैनात किए जाएंगे

मुख्य चुनाव आयुक्त (Chief Election Commissioner) सुनील अरोड़ा के मुताबिक चुनावी व्यवस्था में 90 हजार कर्मचारी तैनात किए जाएंगे। चुनावी आचार संहिता लागू हो गई है। दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल 22 फरवरी को समाप्त होगा। नियमानुसार उससे पहले ही चुनाव संपन्न कराकर नई विधानसभा का गठन करना होगा। अरोड़ा ने बताया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारियों के सिलसिले में विभिन्न कानून अनुपालन एजेंसियों के साथ व्यापक चर्चा की गई है जिसमें सुरक्षा से जुड़े आयाम भी शामिल हैं।

पहली बार होगी मोबाइल फोन लॉकर की सुविधा

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि विधानसभा चुनाव के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस बार पोलिंग स्टेशन पर मोबाइल फोन के लिए लॉकर की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों के लिए चुनाव आयोग ने खास इंतजाम किए हैं, जिससे उनको वोट डालने में आसानी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि स्थिति पर निगरानी रखने के लिए मीडिया मॉनिटरिंग सेंटर बनाए गए हैं।

बजट में राज्य संबंधित योजनाओं की नहीं होगी घोषणा


मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से जब उनसे पूछा गया कि चुनाव के तारीखों की घोषणा होते ही आचार संहिता भी लागू हो गया है और 1 फरवरी को आम बजट है, जिसमें योजनाओं को घोषणा की जाती है, आयोग ने इसको लेकर क्या विचार किया है? मुख्य चुनाव आयुक्त (Chief Election Commissioner) सुनील अरोड़ा ने कहा कि यह मुद्दा 2017 चुनाव के वक्त आया था। इसके बाद आयोग ने निर्देश दिया था कि राज्य संबंधित किसी भी तरह की योजनाओं की घोषणा नहीं की जाएं ताकि निष्पक्ष चुनाव कराया जा सके।

Related Articles

epaper

Latest Articles