30.1 C
New Delhi
Tuesday, October 4, 2022

हर दिन, हर घर आयुर्वेद पहुंचाने की तैयारी, 19 मंत्रालय चलाएंगे अभियान

नई दिल्ली /खुशबू पाण्डेय : आयुर्वेद दिवस को इस बार जनभागीदारी और जन आंदोलन के रूप में मनाने की तैयारी आयुष मंत्रालय ने शुरू कर दी है। इसका श्रीगणेश सोमवार को अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान में आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय आयुष मंत्री सर्वानंद सोणोवाल व केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री महेंद्र मुंजपारा की मौजूदगी में किया गया। 23 अक्टूबर तक चलने वाले कार्यक्रम देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आयोजित किए जाएंगे। इसके लिए अंतर मंत्रालयी सहयोग लिया जा रहा है। केंद्र सरकार के करीब 19 मंत्रालयों को आयुष मंत्रालय के इस अभियान से जोड़ा गया है, जो अपने-अपने स्तर पर हर दिन, हर घर आयुर्वेद अभियान को आगे बढाएंगे। कार्यक्रम की व्यापक रुपरेखा बनाकर सभी मंत्रालयों और राज्यों को भेजा जा रहा है।

जनभागीदारी और जन आंदोलन के रूप में आयुर्वेद दिवस मनाने की तैयारी
-42 दिनों तक देश- विदेश में होंगे विभिन्न कार्यक्रम
-ग्राम पंचायत से हवाई अड्डों तक रहेगी आयुर्वेद की धूम
-रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों, हाईवे पर होगा एलईडी प्रदर्शन, टिकट में होगा क्यूआर रोड

हर दिन, हर घर आयुर्वेद के थीम से शुरु होने वाले इस कार्यक्रम को जन संदेश, जनभागीदारी और जन आंदोलन के तीन हिस्सों  में बांटा गया है। इसके लिए नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान को नोडल एजेंसी घोषित किया गया है। जन संदेश के तहत देशभर में व्यापक स्तर पर एसएमएस संदेश, रेडियो जिंगल, एफएम रेडियो, टीवी स्पॉट, एलईडी, फिल्म और प्रिंट मीडिया से संदेश दिया जाएगा। जबकि जनभागीदारी में देश के 75 विशेष स्थानों पर प्रकृति परीक्षण कैंप का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा आंगनवाड़ी, एनएसएस और फूड फेस्टिवल, म्यूजिक कंसर्ट सहित स्कूलों और विश्वविद्यालयों में आयुर्वेद को लेकर जागरुकता अभियान चलाया जाएगा। जन आंदोलन के तहत सभी राज्यों की ग्राम पंचायतों में पोस्टर लगाए जाएंगे, इसके अलावा सेल्फी प्वाइंट बनाने की योजना है।योग की ही तरह आयुर्वेद को एक-एक व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए अंतर मंत्रालयी सहयोग और कार्यक्रम तय किए गए हैं। जिसमें तकरीबन 19 केंद्रीय मंत्रालयों का सहयोग लिया गया है। इसके अलावा नॉर्थ इस्ट रिजन, पंचायती राज से लेकर राज्य  सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी इसमें शामिल किया गया है। 42 दिनों तक चलने वाले कार्यक्रम में रेलवे स्टेशनों, रेलों, हवाई अड्डों, हवाई जहाज आदि में एलईडी प्रदर्शन, टिकट पर क्यूआर रोड प्रकाशित करना है। जबकि विदेश मंत्रालय विदेशों में स्थित भारतीय दूतावासों के माध्यम से आयुर्वेद पर कार्यक्रम आयोजित करेगा। इसी तरह रक्षा, गृह, वाणिज्य, संस्कृति मंत्रालय सहित कुल 19 मंत्रालय अभियान को आगे बढाएंगे।

   केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल के मुताबिक देश के सभी परिवार तक देश की प्राचीन चिकित्सा पद्धति को पहुंचाना है। छह सप्ताह का जो कार्यक्रम निर्धारित किया गया है, उससे हर व्यक्ति जागरूक होगा। होलिस्टिक हेल्थ के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ेगी। सभी मंत्रालय मिलकर लोगों तक आयुर्वेद का संदेश पहुंचाए।

कुल छह सप्ताह के कार्यक्रम
12 से 18 सितंबर – होलिस्टिक हेल्थ
19 से 25 सितंबर- मोटे अनाज
26 सितंबर से 2 अक्टूबर- आयुर्वेद आहार
3 से 9 अक्टूबर- वरिष्ठ  नागरिक और आयुर्वेद
10 से 16 अक्टूबर- मानसिक स्वास्थ्य
17 से 23 अक्टूबर- आयुर्वेद पर अनुभव

Related Articles

epaper

Latest Articles