33 C
New Delhi
Tuesday, April 13, 2021

पहले चरण का मतदान आज, विधानसभा चुनावों के एग्जिट पोल पर प्रतिबंध

-चुनाव आयोग ने जारी की अधिसूचना, नहीं कर पाएंगे एग्जिट पोल
-27 मार्च को सुबह 7 बजे से 29 अप्रैल शाम 7.30 बजे तक रहेगी रोक
-बंगाल में पहले चरण की 30 विधानसभा सीटों पर मतदान आज

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : केंद्रीय चुनाव आयोग ने असम, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी की विधान-सभाओं के लिए आम चुनाव तथा लोकसभा एवं विभिन्न राज्यों की विधान-सभाओं के उपचुनाव-एग्जिट पोल पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस बावत शुक्रवार को सख्त निर्देश भी जारी कर दिया है। 27 मार्च को पहले चरण का चुनाव है। चुनाव आयोग ने जन प्रतिनिधि अधिनियम, 1951 की धारा 126ए की उप-धारा (1) के तहत शक्तियों का प्रयोग करते हुए 27 मार्च को सुबह 7 बजे से 29 अप्रैल शाम 7.30 बजे के बीच की समयावधि को अधिसूचित किया है। इस अवधि के दौरान असम, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी की विधानसभाओं के आम चुनाव तथा लोकसभा एवं विभिन्न राज्यों की विधान सभाओं के उपचुनाव के संबंध में किसी भी एग्जिट पोल नहीं किया जाएगा। साथ ही इसका संचालन करन, प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया या किसी अन्य तरीके से एग्जिट पोल के परिणामों को प्रकाशित करना या प्रचार करना निषिद्ध होगा। उक्त चुनावों की अधिसूचना निर्वाचन आयोग द्वारा 26 फरवरी और 16 मार्च, के आदेश में जारी की गयी थी।

यह भी पढें...भारतीय सेना में महिला अधिकारियों के साथ भेदभाव, सुप्रीम कोर्ट नाराज

चुनाव आयोग के प्रवक्ता के मुताबिक जनप्रतिनिधि अधिनियम, 1951 की धारा 126 (1) (बी) के तहत, किसी भी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में किसी भी जनमत सर्वेक्षण या कोई अन्य चुनाव सर्वेक्षण के परिणामों समेत किसी भी चुनावी सामग्री को प्रदर्शित नहीं किया जाएगा। इस दौरान आम चुनाव और उपचुनाव के प्रत्येक चरण के संबंधित मतदान क्षेत्रों में मतदान के समापन के लिए निर्धारित घंटे के साथ पूर्ववर्ती 48 घंटे की अवधि के दौरान निषिद्ध होगा।

यह भी पढें..हरियाणा में महिला IAS अधिकारी के साथ छेड़छाड़

बता दें कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 30 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च को पहले चरण का मतदान होगा। इस चरण में 73 लाख से अधिक मतदाता 191 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। इस चरण की अधिकतर सीटें एक समय नक्सलवाद से प्रभावित रहे जंगलमहल क्षेत्र में पड़ती हैं। अधिकारियों ने कहा कि कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान संपन्न होगा और चुनाव आयोग ने केंद्रीय बलों की करीब 684 कंपनियों को तैनात किया है जो 7,061 मतदान स्थलों पर 10,288 मतदान बूथों पर पहरा देंगी। इसके अलावा रणनीतिक महत्व वाले स्थानों पर राज्य पुलिस को भी तैनात किया जाएगा। पहले चरण में पुरुलिया जिले की सभी नौ सीटों, बांकुड़ा की चार सीटों, झाडग़्राम की चार सीटों, पश्चिम मेदिनीपुर की छह और पूर्ब मेदिनीपुर की सात सीटों पर कोविड-19 के दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए मतदान होगा। पूर्ब मेदिनीपुर भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी का गृहक्षेत्र है। पश्चिम बंगाल में 294 सीटों पर आठ चरणों में मतदान होगा। मतगणना दो मई को होगी।

Related Articles

epaper

Latest Articles