spot_img
26.1 C
New Delhi
Saturday, July 31, 2021
spot_img

कोरोना के बीच संभावित बाढ़ से भिड़ेंगे NDRF के जाबांज

—एनडीआरएफ टीमों की बिहार के विभिन्न जिलों में तैनाती
—संभावित बाढ़ के मद्देनजर 9वीं वाहिनीं की कुल 13 टीमों ने संभाला मोर्चा
—कोरोना की जंग के बीच अब एनडीआरएपफ के जवानों के लिए नई चुनौती

पटना / टीम डिजिटल । 9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ बिहटा, पटना की 13 टीमों को इस वर्ष मानसून के दौरान संभावित बाढ़ के खतरे के मद्देनजर बिहार राज्य के अलग-अलग जिलों में तैनात किया जा रहा है। कमान्डेंट विजय सिन्हा ने बताया कि बिहार राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के माँग पर तथा बल मुख्यालय एनडीआरएफ नई दिल्ली की सहमति से 9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ की कुल 13 टीमों को बिहार राज्य के कटिहार, अररिया, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, मोतिहारी, बेतिया, नालन्दा, छपरा, पटना तथा बक्सर जिलों में तैनात किया जा रहा है।
वर्तमान में बेतिया, अररिया, मुजफ्फरपुर, किशनगंज तथा दरभंगा में टीमों की तैनाती की जा चुकी है जबकि कटिहार, मोतिहारी और गोपलगंज जिलों में बुधवार को टीमों को तैनात कर दिया जाएगा। बाकी अन्य जिलों में भी जल्द ही एनडीआरएफ टीमें तैनात कर दी जाएगी। सभी टीमें अत्याधुनिक बाढ़ बचाव उपकरण, कटिंग टूल्स व उपकरण, संचार उपकरण, मेडिकल फर्स्ट रेस्पांडर किट, डीप डाइविंग सेट, इनफ्लैटेबल लाइटिंग टावर आदि से लैस है।

यह भी पढें…सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या की हो CBI जांच

टीमों में कुशल गोताखोर, तैराक और मेडिकल स्टाफ मौजूद है जो कि बाढ़ आपदा के दौरान राहत व बचाव कार्य में लोगों को हर सम्भव मदद पहुँचाने में सक्षम है और बचावकर्मी सदैव तत्पर रहेंगे।
उन्होंने कहा कि इस वर्ष बाढ़ आपदा के दौरान कोरोना वायरस महामारी को भी हमारे बचावकर्मी गम्भीरता से लेंगे।

यह भी पढें..महिला IPS अधिकारियों को दी गालियां, विरोध में उतरी नौकरशाही

सभी कार्मिकों को कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखते हुए पीपीई, मास्क, फेस शील्ड, फैब्रिकेटेड फेस हुड कवर, सेनेटाइजर, हैंड वाश आदि दिया गया है। बाढ़ बचाव ऑपेरशन के दौरान हमारे एनडीआरएफ के बचावकर्मी कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षात्मक दिशा-निर्देश तथा प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करेंगे तथा आम जनता को भी कोविड-19 सुरक्षात्मक उपायों को पालन करने के लिए जागरूक व प्रोत्साहित करेंगे। एनडीआरएफ के सभी टीम कमान्डर सम्बंधित जिलों में जिला प्रशासन से कुशल समन्वय व तालमेल स्थापित कर बाढ़ आपदा के दौरान ऑपरेशनल जिम्मेदारियों को दृढ़ता तथा व्यावसायिक दक्षता के साथ अंजाम देंगे।

Related Articles

epaper

Latest Articles