22 C
New Delhi
Thursday, February 25, 2021

PM मोदी ने खाया लिट्टी-चोखा, कुल्हड़ में चाय पी

-अचानक ‘हुनर हाट पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी
–पीएम ने लिट्टी-चोखा का 120 रुपये का किया भुगतान
–मोदी उत्सुकतावश कुछ वाद्य यंत्रों को स्पर्श कर उन्हें बजाने का प्रयास किया

(खुशूबू पाण्डेय)
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ओर से आयोजित ‘हुनर हाट में बुधवार को अचानक पहुंचे और वहां लिट्टी-चोखा खाया एवं कुल्हड़ में चाय पी एवं इनका भुगतान उन्होंने स्वयं किया। मंत्रिमंडल की बैठक के तत्काल बाद मोदी दिन में करीब डेढ़ बजे इंडिया गेट के निकट राजपथ पर लगे ‘हुनर हाट में पहुंचे और वहां लगभग 50 मिनट तक रहे। मोदी ने विभिन्न स्टॉल पर जाकर उत्पादों को देखा और उनके बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री पहली बार किसी हुनर हाट में पहुंचे हैं। एक अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री का यह दौरा तय नहीं था। वह बुधवार की दोपहर अचानक ही हुनर हाट पहुंचे। इससे वहां सभी लोग हैरान रह गए। उनके पहुंचने की जानकारी पाते ही अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी तत्काल वहां पहुंचे और उनकी अगवानी की।
सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री ने ‘हुनर हाट में मौजूद एक स्टॉल पर रुककर लिट्टी-चोखा खाया, जिसके लिए उन्होंने 120 रुपये का भुगतान किया। इसके साथ ही उन्होंने दो कुल्हड़ चाय भी ली जिसमें से एक उन्होंने स्वयं ली और दूसरी चाय नकवी को दी। मोदी ने चाय के लिए भी 40 रुपये का भुगतान किया।

‘मोदी-मोदी के नारे लगाए

प्रधानमंत्री के वहां पहुंचने के साथ भारी भीड़ जमा हो गई। लोगों ने ‘मोदी-मोदी के नारे लगाए और कई ने तो उनके साथ सेल्फी भी खचवाई। बाद में मोदी ने ट््वीट कर कहा कि इंडिया गेट पर लगे हुनर हाट में दोपहर में शानदार समय बिताया। यहां कई हस्तशिल्प, कारपेट, कपड़े और लजीज पकवान हैं। यहां पहुंचिए। उन्होंने कहा कि पूरे देश से लोगों की भागीदारी ने ‘हुनर हाट एक जीवंत स्थान बनाता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि दोपहर के भोजन में स्वादिष्ट लिट्टी-चोखा खाया और गर्म चाय पी।


हुनर हाट में मोदी उत्सुकतावश कुछ वाद्य यंत्रों को स्पर्श कर उन्हें बजाने का प्रयास किया। प्रधानमंत्री ने जो ट््वीट किए हैं उनमें कई तस्वीरें भी शेयर की हैं जिनमें वह लोगों से बातचीत करते नजर आ रहे हैं। यहां मौजूद कई कारीगरों और दस्तकारों ने प्रधानमंत्री से कहा कि देश के कई पारंपरिक हुनर दम तोड़ रहे थे, लेकिन ‘हुनर हाट उनमें नयी जान डाली है। मोदी ने एक दिव्यांग पेंटर से भी बातचीत की जो ‘हुनर हाट से लाभान्वित हुआ है।

50 प्रतिशत से अधिक महिला दस्तकार शामिल

कौशल को काम विषय पर आधारित यह ‘हुनर हाट 13 फरवरी से 23 फरवरी 2020 तक आयोजित किया गया है जहां देश भर के हुनर के उस्ताद  दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं। इनमे 50 प्रतिशत से अधिक महिला दस्तकार शामिल हैं। नकवी का कहना है कि पिछले लगभग तीन वर्षों में हुनर हाट के माध्यम से लगभग तीन लाख दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों को रोजगार और रोजगार के मौके उपलब्ध कराये गए हैं। इनमे बड़ी संख्या में देश भर की महिला दस्तकार भी शामिल हैं। इससे पहले दिल्ली, मुंबई, प्रयागराज, लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, हैदराबाद, पुडुचेरी, इंदौर आदि स्थानों पर हुनर हाट आयोजित किए जा चुके हैं। अगले हुनर हाट का आयोजन रांची में 29 फरवरी से 8 मार्च, 2020 तक और फिर चंडीगढ़ में 13 मार्च से 22 मार्च, 2020 तक किया जाएगा। आने वाले दिनों में हुनर हाट का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुवनेश्वर, अजमेर आदि में किया जायेगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles