28.1 C
New Delhi
Saturday, February 27, 2021

राजधानी दिल्ली में बवाल, बसों में लगाई आग, लाठीचार्ज

-राजधानी दिल्ली में बवाल, बसों में लगाई आग, लाठीचार्ज
-नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन रविवार को भी जारी
-पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े

नई दिल्ली/ (खुशबू पाण्डेय): राजधानी दिल्ली में नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन रविवार को भी जारी है जिसने हिंसक रूप धारण कर लिया है। प्रदर्शनकारियों ने साउथ दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में जमकर तांडव मचाया। 3 बसों और कुछ मोटरसाइकलों को आग के हवाले कर दिया। आग बुझाने के लिए तत्काल 4 दमकल वाहनों को भेजा गया लेकिन उग्र प्रदर्शनकारियों ने एक दमकल वाहन को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। 2 दमकलकर्मी जख्मी भी हुए हैं। इस बीच, दक्षिण दिल्ली के चार मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट बंद कर दिया गया है। रविवार को बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने जामियानगर से ओखला की तरफ मार्च निकाला। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों में जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स भी शामिल थे। इस दौरान पुलिस के साथ उनकी झड़प हो गई, जिसके बाद प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और आगजनी करने लगे।

पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। प्रदर्शनाकरियों ने पथराव कर कुछ बसों के शीशे भी तोड़ दिए और फायर ब्रिगेड की गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया। हाथों में तिरंगा और प्लेकार्ड लिए प्रदर्शनकारी नए नागरिकता कानून के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। इस प्रदर्शन के कारण सड़क यातायात प्रभावित हुआ।

डीटीसी की 3 बसों में लगाई आग, कई वाहनों में तोड़फोड़

प्रदर्शनकारी मथुरा रोड पर बैठकर शांतिपूर्ण विरोध दर्ज करा रहे थे तभी पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को परेशान किया। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने इसका विरोध किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े। एक अन्य छात्र ने दावा किया कि पुलिस के बल प्रयोग के बाद कुछ प्रदर्शनकारियों ने बसों में आग लगा दी और तोड़फोड़ करने लगे।

दिल्ती के प्रमुख इलाकों में यातायात प्रभावित

प्रदर्शनकारियों ने न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के सामने मथुरा रोड के दोनों कैरेजवे को बाधित कर दिया है। उधर, एहतियातन कदम उठाते हुए ट्रैफिक पुलिस ने ओखला अंडरपास से सरिता विहार जाने वाले मार्ग पर यातायात रोक दिया है। लोगों से अपील की गई है कि वे इस रास्ते न गुजरें। बता दें कि केंद्रीय दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है जहां पूर्वोत्तर के स्टूडेंट्स कानून का विरोध करने के लिए जुटे हैं।

बवाल के चलते 4 मेट्रो स्टेशन पर एंट्री बंद

हिंसक प्रदर्शनों का सड़क यातायात के साथ-साथ मेट्रो सेवा पर भी असर पड़ा है। दिल्ली मेट्रो ने ट्वीट कर बताया कि दिल्ली पुलिस की सलाह के बाद जामिया मिलिया इस्लामिया, ओखला विहार और जसोला विहाल शाहीन बाग मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट बंद कर दिया गया है। इस स्टेशन पर कोई मेट्रो ट्रेन नहीं रूक रही है। इसके अलावा आश्रम मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर 3 को भी बंद कर दिया गया है।

Related Articles

epaper

Latest Articles