spot_img
17.1 C
New Delhi
Tuesday, December 7, 2021
spot_img

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फिर UP दौरा, बुंदेलखंड होगा टारगेट

spot_imgspot_img

– झांसी में राष्ट्र रक्षा समर्पण पर्व पर रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत को महत्वपूर्ण बढ़ावा देंगे
-हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर, ड्रोन और नौसेना के जहाजों के लिए वारफेयर सूट सौंपेंगे
-झांसी खंड में 400 करोड़ रुपये की परियोजना का शिलान्यास करेंगे मोदी

Indradev shukla

नई दिल्ली/ नेशनल ब्यूरो : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसी सप्ताह फिर 19 नवंबर को उत्तर प्रदेश के दौरे पर जा रहे हैं। इस बार बुंदेलखंड टारगेट होगा। दौरा तो पूरी तरह से सरकारी है, लेकिन निशाना उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होगा। झांसी की अपनी यात्रा के दौरान राष्ट्र रक्षा समर्पण पर्व में रक्षा क्षेत्र की कई पहलों का शुभारंभ करेंगे और राष्ट्र को समर्पित करेंगे। यह कार्यक्रम झांसी में 17 से 19 नवंबर तक आजादी का अमृत महोत्सव समारोह के हिस्से के रूप में आयोजित किया जा रहा है। रक्षा क्षेत्र में आत्मानिर्भर भारत को बढ़ावा देने के लिए, प्रधानमंत्री औपचारिक रूप से स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित किए गए उपकरणों को सशस्त्र बलों के सेवा प्रमुखों को सौंपेंगे। इनमें हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को डिजाइन और विकसित लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (एलसीएच) को वायु सेना प्रमुख को, थल सेनाध्यक्ष को भारतीय स्टार्टअप द्वारा डिजाइन और विकसित किए गए ड्रोन/यूएवी, और डीआरडीओ द्वारा डिजाइन किया और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) द्वारा नौसेना के जहाजों के लिए निर्मित उन्नत इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सूट को नौसेनाध्यक्ष को सौंपना शामिल है। एलसीएच में प्रभावी लड़ाकू भूमिकाओं के लिए उन्नत तकनीकों और चालबाज सुविधाओं को शामिल किया गया है। भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा भारतीय यूएवी की तैनाती भी भारतीय ड्रोन उद्योग इकोसिस्टम की बढ़ती परिपक्वता का प्रमाण है। उन्नत ईडब्ल्यू सूट का उपयोग विभिन्न नौसैनिक जहाजों में किया जाएगा, जिनमें विध्वंसक, युद्धपोत आदि शामिल हैं।

झांसी खंड में 400 करोड़ रुपये की परियोजना का शिलान्यास करेंगे

प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश रक्षा औद्योगिक गलियारे के झांसी खंड में 400 करोड़ रुपये की परियोजना का शिलान्यास करेंगे। टैंक रोधी निर्देशित मिसाइलों के लिए प्रणोदन प्रणाली का उत्पादन करने के लिए एक संयंत्र स्थापित करने के लिए भारत डायनेमिक्स लिमिटेड द्वारा इस परियोजना को कार्यान्वित किया जा रहा है। इसके अलावा एनसीसी के पूर्व छात्रों को एनसीसी के साथ फिर से जोडऩे में सक्षम बनाने के लिए एक औपचारिक मंच प्रदान करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री एनसीसी पूर्व छात्र संघ का शुभारंभ करेंगे। यह संघ एनसीसी के उद्देश्यों को आगे बढ़ाएगा और राष्ट्र निर्माण में सहायता करेगा। यह संघ प्रधानमंत्री को एक पूर्व एनसीसी कैडेट के रूप में एसोसिएशन के पहले सदस्य के रूप में नामांकित करेगा।

एनसीसी की सैन्य इकाई के लिए राइफल फायरिंग सिमुलेटर की स्थापना

Indradev shukla

प्रधानमंत्री एनसीसी की तीनों इकाइयों के लिए सिमुलेशन प्रशिक्षण सुविधाओं को बढ़ाने के उद्देश्य से एनसीसी कैडेटों के लिए सिमुलेशन प्रशिक्षण के राष्ट्रीय कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। इसमें एनसीसी की सैन्य इकाई के लिए राइफल फायरिंग सिमुलेटर की स्थापना, एयर विंग के लिए माइक्रोलाइट फ्लाइंग सिमुलेटर और नेवल विंग के लिए रोइंग सिमुलेटर शामिल हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय समर स्मारक में संवर्धित वास्तविकता संचालित इलेक्ट्रॉनिक कियोस्क राष्ट्र को समर्पित करेंगे जो आगंतुकों को बटन के साधारण क्लिक के माध्यम से शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित करने में सक्षम बनाएगा।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img