spot_img
34.1 C
New Delhi
Wednesday, June 23, 2021
spot_img

दिल्ली-एनसीआर के लोगों के लिए पंजाब में ‘नो एंट्री’… जाने क्यूं

पंजाब में जाना है तो पास ई-पास अनिवार्य, अन्यथा ‘नो एंट्री
–दिल्ली-एनसीआर के लोगों के लिए पंजाब सरकार ने की सख्ती
–सोमवार रात से सिस्टम लागू, बगैर ई-रजिस्ट्रेशन के एंट्री बैन
–पंजाब में प्रवेश करने एवं गुजरने वाले लोगों के लिए भी अनिवार्य

(अदिति सिंह)
नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर पंजाब में अब दिल्ली एवं एनसीआर के लोग बगैर पास के राज्य की सीमा में नहीं घुस पाएंगे। पंजाब सरकार ने इस बावत आज एक नया आदेश जारी करते हुए आज रात से पंजाब में प्रवेश करने वाले यात्रियों के लिए ई-रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया है। सरकार के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर के लोग अपने घरों से ऑनलाइन स्व-रजिस्टर करवा सकते हैं और अपने लिए दिक्कत रहित यात्रा को यकीनी बना सकेंगे।
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पंजाब में प्रवेश करने वालों खासकर दिल्ली-एनसीआर से आने वाले लोगों से पैदा होने वाले खतरे के मद्देनजर 14 दिनों के घरेलू एकांतवास को कम किये जाने को रद्द कर देने के बाद यह नई व्यवस्था शुरू की है। यह व्यवस्था सोमवार रात से मान्य है।

इसे भी पढें…शराब व बीयर पीने में घरेलू महिलाएं भी अव्वल, पार्टियों में छलका रही हैं जाम

सड़क के रास्ते पंजाब में दाखिल होने वाले या पंजाब में से गुजरने वाले यात्रियों को पंजाब सरकार द्वारा सख्ती के साथ सलाह दी गई है। साथ ही कहा गया है कि वह यात्रा शुरू करने से पहले या तो कौवा ऐप या वेब लिंक के द्वारा स्व-रजिस्टर्ड हों। इस ई-रजिस्ट्रेशन का मंतव्य चैकिंग वाले स्थानों पर लम्बी कतारों या भीड़-भाड़ के कारण होने वाली मुश्किल से यात्रियों को बचाना है।
पंजाब सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि वह यात्री जो राज्य में प्रवेश कर रहे हैं और सिर्फ यहाँ से गुजर नहीं रहे, को चैक-प्वाइंट सफ लता से पार कर लेने के बाद जिनमें लक्षण न मिले, को 14 दिनों के लिए अपने घरों में स्व-एकांतवास में रहना होगा। एकांतवास के दौरान उनको अपनी सेहत सम्बन्धी जानकारी रोजाना के आधार पर हेल्पलाइन नंबर 112 या कौवा ऐप के द्वारा देनी होगी। यात्रियों में लक्षण पाए जाने की सूरत में चेक-प्वाइंट पर जरूरी हिदायतें दी जाएंगी।

इसे भी पढें…मायूसी और तनाव के चलते बिखर रहे हैं पति-पत्नी के पवित्र रिश्ते

सरकार के मुताबिक पंजाब आने वाले यात्रियों एवं निवासियों संबंधी सभी जरुरी विवरणों को सही समय पर चौकस करने वाली प्रणाली के द्वारा सम्बन्धित स्वास्थ्य अधिकारियों और पुलिस थानों के साथ साझा किया जायेगा।

प्रवक्ता ने बताया कि सम्बन्धित पुलिस थानों द्वारा आने वाले यात्रियों पर उनके द्वारा दिए पते पर व्यावहारिक और तकनीकी ढंग (जीओ फैंसिंग आदि) के द्वारा निरंतर निगरानी रखी जायेगी जिससे पंजाब के लोगों का स्वस्थ्य और सुरक्षा के साथ-साथ यात्रियों की सलामती यकीनी बनाई जाये।
बता दें कि पंजाब में कोरोना की संख्या लगतार बढ़ रही है। शुरुआती दिनों में सरकार ने कफ्र्यू लगा दिया था, लेकिन बाद में नरमी दे दी। इसके चलते दिल्ली-एनसीआर के बहुतायत में लोग पंजाब पहुंच गए। इसमें कुछ बता कर तो कुछ चोरी छिपे। नतीजन कोरोना की संख्या में बहुत ज्यादा इजाफा हो गया। इसी को रोकने के लिए पंजाब सरकार ने आज अपने ही आदेश में बदलाव करते हुए नई व्यवस्था लागू कर दी है। यह व्यवस्था सोमवार रात से लागू हो गई।

Related Articles

epaper

Latest Articles