39.1 C
New Delhi
Monday, June 27, 2022

राज्यसभा चुनाव: सियासत के सेमीफाइनल में पास हुए अश्विनी वैष्णव, जीता भरोसा

नई दिल्ली /खुशबू पाण्डेय : महाराष्ट्र सहित देश के चार राज्यों कर्नाटक, राजस्थान और हरियाणा में राज्यसभा की 16 सीटों पर हुए मतदान में भारतीय जनता पार्टी राजस्थान को छोड दें तो बाकी सभी राज्यों में फायदे में रही। सबसे मजेदार महाराष्ट्र का राज्यसभा चुनाव था जहां भाजपा ने तीन सीटों पर जीत हासिल की और शिवसेना के संजय पवार को हरा दिया। यहां तीन सीटें भाजपा के खाते में गई एक शिवसेना, एक कांग्रेस और एक एनसीपी ने झटक ली। भाजपा की ओर से राज्यसभा प्रत्याशी पियूष गोयल, अनिल बोंडे और धनंजय महादिक ने जीत हासिल की। इसके अलावा शिवसेना के संजय राउत चुनाव जीत गए है। एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल को भी जीत मिली है। हारने में शिवसेना के संजय पवार का नाम है।

—राज्यसभा चुनाव के लिए महाराष्ट के बनाए गए थे बीजेपी प्रभारी
—एक सीट पर फंसा था पेंच, विरोधियों को चित पर मारी बाजी
—प्रधानमंत्री मोदी के खास माने जाते हैं अश्विनी वैष्णव

महाराष्ट्र की छह सीटों पर 7 उम्मीदवार थे। छठी सीट के लिए शिवसेना के संजय पवार और बीजेपी के धनंजय महादिक में मुकाबला कांटे का था।मुख्यमंत्री के लिए उद्धव ठाकरे के लिए ये प्रतिष्ठा की लड़ाई थी लेकिन वो अपने उम्मीदवार जिताने में नाकाम रहे। महाराष्ट्र में भाजपा दो सीटों पर आसानी से जीत पहले से तय थी, लेकिन तीसरे सीट पर संशय बना हुआ था। भाजपा ने महाराष्ट्र के इस सियासी मैदान को फतह करने के लिए नौकरशाह से नेता और रेलमंत्री बने अश्विनी वैष्णव को कमान सौंपी। अश्विनी वैष्णव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी भी माने जाते हैं। कहते हैं कि पार्टी ने अश्विनी वैष्णव को परखने और उन्हें सियासी दांव—पेंच सिखाने के लिए महत्वपूर्ण सियासी राज्य महाराष्ट्र का प्रभारी बनाया था। अश्विनी वैष्णव भी अपने मकसद में कामयाब रहे और राज्यसभा चुनाव की तीसरी सीट को शिवसेना से छीनते हुए जीत दिला दी। भाजपा उम्मीदवार पीयूष गोयल 48 वोट हासिल करने में कामयाब रहे। इसके अलावा बीजेपी के एक और उम्मीदवार अनिल बो बोंडे ने 48 वोट के साथ जीत दर्ज की। जबकि भाजपा के धनंजय महादिक को 41.58 वोट मिले।
राज्‍यसभा चुनाव में श‍िवसेना के संजय पवार बनाम बीजेपी के धनंजय महादिक के नतीजों में बीजेपी के पक्ष में 10 ऐसे वोट पड़े जिनकी उसे भी उम्‍मीद नहीं थी। शनिवार तड़के आए राज्‍यसभा चुनाव के नतीजों में महादिक को जीत के लिए 41 वोट चाहिए थे और महादिक ने यह आंकड़ा छू लिया। महादिक के अलावा बीजेपी से पीयूष गोयल और अनिल बोंदे राज्‍यसभा पहुंचे हैं।
नतीजे से पहले दोनों खेमों में जबरदस्त खींचतान देखी गई। कांग्रेस ने चुनाव आयोग के बीजेपी विधायक सुधीर मुनगंटीवा मुनगंटीवार और निर्दलीय रवि राणा का वोट रद्द करने की मांग की तो बीजेपी ने एनसीपी के जितेंद्र आव्हाड, कांग्रेस की यशोमति ठाकुर और शिव सेना के सुहास कांदे के वोट को ही रद्द किया। आधी रात को करीब एक बजे दोबारा वोटों की गिनती शुरू हुई, सुबह जब नतीजे आए तो बीजेपी के खेमे में खुशी थी और शिव सेना खेमा निराश था।

बीजेपी का एक सीट से बढत बनाना बेहद खास

राज्य में श‍िवसेना और बीजेपी 25 साल तक गठबंधन में साथ रहे थे। मौजूदा समय में सत्‍ता में न रहने के बाद बीजेपी का राज्यसभा चुनाव में एक सीट पर बढ़त बनाना मायने रखता है। इस जीत के बाद बीजेपी को उद्धव सरकार पर निशाना साधने का मौका मिल गया है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ने जीत के बाद जो बात कही उससे साफ जाहिर भी हो जाता है। केंद्रीय मंत्री और महाराष्ट्र से बीजेपी के राज्यसभा उम्मीदवार पीयूष गोयल ने जीत के बाद कहा कि जिस कुशलता के साथ पूरी पार्टी एकजुट होकर लगी थी उन्होंने दिखा दिया कि भाजपा को ही प्रदेश में लोगों ने चुना था। फिर एक बार जनता को मौका मिलेगा और जनता भाजपा के साथ खड़ी है।

BJP ने कहा था चमत्कार होगा

राज्यसभा चुनाव के लिए शुक्रवार सुबह 9 बजे मतदान से शुरू हो गया था। मतदान से पहले बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस, एनसीपी नेता व गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील और खाद्य और आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल सबसे पहले पहुंचने वाले नेताओं में से थे। मतदान के दौरान नेताओं के बयानबाजी के तीर चलाए। महा विकास आघाडी (एमवीए) के मंत्रियों और विधायकों ने जहां अपनी जीत का दावा किया था, वहीं बीजेपी ने कहा चमत्कार होगा। बीजेपी के नेताओं में गजब का विश्वास दिखाई दिया। इस चुनाव में पर्दे के पीछे अश्विनी वैष्णव की पूरी रणनीति काम आ गई।

Related Articles

epaper

Latest Articles