18 C
New Delhi
Wednesday, March 3, 2021

शताब्दी और बाकी मेल-एक्सप्रेस ट्रेनें जल्द शुरू होंगी

–राजधानी स्पेशल ट्रेनों में भी मिलेगा वेटिंग टिकट
-स्पेशल ट्रेनों के एसी-1 कोच में 20 वेटिंग टिकट दिए जाएंगे
— एसी-2 में 50 सीटें और एसी-3 में 100 सीटें वेटिंग मिलेगी
–आरएएसी नहीं मिलेगा, तत्काल एवं करंट टिकट नहीं

नई दिल्ली / टीम डिजिटल : राजधानी एक्सप्रेस और श्रमिक एक्सप्रेस के बाद अब देश में मध्यम वर्गीय लोगों के लिए भी शताब्दी एक्सप्रेस सहित बाकी दूसरी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चलनी शुरू हो जाएगी। रेल मंत्रालय ने इसकी तैयारी कर ली है। लेकिन, कब से चलना शुरू होगी, इसकी तारीख अभी तय नहीं है। कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए इन ट्रेनों को जल्द ही चलाया जाएगा। इसके अलावा 12 मई से 15 जोड़ी राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों में नियमों में आज कुछ बदलाव किया गया है।

राजधानी स्पेशल ट्रेनों में अब वेटिंग टिकट भी मिल सकेगा। अब तक इनमें केवल कन्फर्म टिकट बुक हो रहा था। स्पेशल ट्रेनों के एसी-1 कोच में 20 वेटिंग टिकट दिए जाएंगे। वहीं एसी-2 में 50 सीटें और एसी-3 में 100 सीटें वेटिंग में दी जाएगी। जबकि स्लीपर में ये संख्या 200 होगी। हालांकि आरएसी कोटे में फिलहाल टिकट नहीं दिए जाएंगे। इसके अलावा राजधानी स्पेशल ट्रेनों के 24 घंटे के भीतर टिकट कैंसिलेशन करने 50 फीसदी रकम वापस करने के फैसले में भी बदलाव किया है। अब नार्मल रिफंड प्रणाली को लागू कर दिया है।
बता दें कि भारतीय रेलवे ने 12 मई से ही 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलानी शुरू की हैं।

डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू-तवी तक जा रही हैं।
कोरोना वायरस के मद्देनजर जारी लॉकडाउन के चलते पिछले करीब 50 दिनों से देश भर में भारतीय रेलवे सेवाएं बंद थी। इसके कारण हजारों यात्री फंसे हुए थे। रेलवे की ओर से 10 मई को स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की गई थी ये सेवाएं 12 मई से शुरू हुईं। इन ट्रेनों में यात्रा करने के लिए पहुंचे यात्री रेलवे द्वारा बताए गए दिशानिर्देशों का पालन करते दिखे।

सूत्रों के मुताबिक श्रमिक और राजधानी स्पेशल की तर्ज पर अब मेल एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन भी चलाई जाएंगी। इनमें शताब्दी स्पेशल और इंटर सिटी स्पेशल भी शामिल हो सकती है। इन गाडिय़ों में तत्काल और प्रीमियम तत्काल टिकट की व्यवस्था नहीं होगी, लेकिन वेटिंग लिस्ट बनाया जाएगा। हालांकि इनमें आरएसी का टिकट नहीं काटा जाएगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles