spot_img
29.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021
spot_img

यात्री कृपया ध्यान दें… ट्रेनों में नहीं मिलेगा चादर-कंबल व भोजन

–कोरोना बीमारी के चलते एहतियातन रेलवे ने लिया फैसला
–टिकट कैंसिल करने पर मिलेगा सिर्फ 50 फीसदी पैसा
–ट्रेनों में अधिकतम 7 दिन तक का अडवांस बुकिंग होगी
-इसमें न तो कोई तत्काल टिकट और ना ही करंट टिकट मिलेगा
-सभी टिकट आईआरसीटीसी के जरिये आनलाइन मिलेगा

(खुशबू पाण्डेय)
नई दिल्ली /टीम डिजिटल : देशव्यापी लॉकडाउन के बीच मंगलवार से शुरू हो रही 15 जोड़ी राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों में बिछाने के लिए चादर एवं ओढऩे के लिए कंबल की व्यवस्था नहीं हेागी। इसके अलावा रेल यात्रा के दौरान यात्रियों को भोजन एवं पानी भी रेलवे की ओर से मुहैया नहीं करवाया जाएगा। लिहाजा, अब आपको पुराने जमाने की यात्राओं को याद करते हुए घर से बिस्तर एवं खाना-पीना लेकर चलना होगा। हालांकि, बीच में आपको एक बोतल पानी रेलवे विशेष परिस्थिति में दे सकता है।

कोरोना के चलते एहतियातन भारतीय रेलवे ने यह फैसला लिया है। रेलवे ने बीमारी के फैलने से रोकने के लिए इन चीजों को देने से इनकार कर दिया है। इन ट्रेनों को कहा स्पेशल जा रहा है, लेकिन सही मायने में यह राजधानी एक्सप्रेस ही है। यही कारण है कि किराया भी राजधानी वाला ही वसूला जा रहा है।
सभी ट्रेनें एयरकंडीशन होंगी। इसमें एसी प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी के कोच होंगे। इस दौरान यात्राओं के बीच इन ट्रेनों में तापमान इतना ठंडा नहीं किया जाएगा, जितना आमतौर पर ठंडा किया जाता है। इसीलिए कंबल ओढऩे की जरूरत नहीं पड़ेगी। जिन्हें कंबल का उपयोग करना है तो वह घर से साथ लेकर चलेंगे। सोमवार की शाम आईआरसीटीसी पर जैसे ही शाम चार बजे बुकिंग शुरू हुई थोड़ी देर में महज 10 मिनट से भी कम समय में हावड़ा-नई दिल्ली एक्सप्रेस ट्रेन में थर्ड एसी की सारी टिकटें बुक हो गईं। यही हाल सेकेंड एसी एवं थर्ड एसी का भी रहा।

24 घंटे पहले टिकट रद्द कराया जा सकता है

रेलवे ने कहा है कि इन ट्रेनों में ट्रेन चलने से कम से कम 24 घंटे पहले टिकट रद्द कराया जा सकता है, लेकिन टिकट रद्द कराने पर यात्रियों का 50 फीसदी पैसा काट लिया जाएगा। इस ट्रेन में यात्रा करने के इच्छुक यात्रियों को अडवांस टिकट कटाने की भी सुविधा दी गई है। रेलवे बोर्ड के मुताबिक इन स्पेशल ट्रेनों में अधिकतम 7 दिन तक का अडवांस टिकट कटाया जा सकेगा। आमतौर पर रेलवे की गाडिय़ों में महीनों पहले अडवांस टिकट लिया जा सकता है, लेकिन इन स्पेशल गाडिय़ों में उस तरह की व्यवस्था नहीं की गई है। सभी स्पेशल ट्रेनों के लिए शत-प्रतिशत टिकट आईआरसीटीसी की वेबसाइट से है कटाये जा सकेंगे।

वेटिंग टिकट एवं आरएसी नहीं मिलेगा

स्पेशल ट्रेनों में ना ही वेटिंग लिस्ट जारी किए जाएंगे और ना ही आरएसी के टिकट मिलेंगे। ऐसा इसलिए, क्योंकि सरकार ने तय किया है कि इन गाडिय़ों में सीट से ज्यादा यात्री कतई नहीं चढ़ाए जाएंगे। आमतौर पर देखा जाता है कि अगर वेटिंग टिकट या आरएसी टिकट जारी किया जाता है तो आरएसी वाले सभी पैसेंजर ट्रेन पर चढ़ जाते हैं, जबकि वेटिंग लिस्ट वाले भी कुछ पैसेंजर टीटीई से बात करके चले जाते हैं कि हो सकता है रास्ते में उन्हें कंफर्म सीट मिल जाए। इसमें न तो कोई तत्काल टिकट की बुकिंग होगी और ना ही करंट टिकट बुक किए जाएंगे।

पहाडग़ंज की तरह से होगी यात्रियों की एंट्री

नई दिल्ली रेलवे स्टैशन से मंगलवार को चलने वाली राजधानी स्पेशल ट्रेन में चढऩा हो तो याद रखिए कि आपको सिर्फ पहाडग़ंज साइड से स्टेशन में प्रवेश मिलेगा। किसी भी सूरत में रिजर्व ट्रेन के पैसेंजर को अजमेरी गेट साइड से प्रवेश नहीं मिलेगा। उत्तर रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार, रेल प्रशासन ने राजधानी स्पेशल गाडिय़ों में चढऩे वाले रिजर्व टिकट वाले पैसेंजर को पहाडग़ंज साइड से इंट्री देने का फैसला किया है। आमतौर पर लोग अजमेरी गेट साइड से इंट्री करते हैं, क्योंकि उस तरफ न सिर्फ पार्किंग की ज्यादा जगह है, बल्कि मेट्रो स्टेशन भी उधर ही बना हुआ है। आम दिनों में पहाडग़ंज साइड में काफी भीड़भाड़ होती है और इसकी इंट्री कनॉट प्लेस की तरफ से होने की वजह से वहां जाम का भी लफड़ा होता है।

आईआरसीटीसी की वेबसाइट क्रैश, देर से शुरू हुई बुकिंग

देशव्यापी लॉकडाउन के बीच 12 मई से राजधानी दिल्ली से 15 स्पेशल ट्रेनें चलाने के लिए सोमवार से आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर शाम चार बजे से बुकिंग शुरू हुई। जैसे की वेबसाइट खुली, अचानक भारी ट्रैफिक हो गया, जिसके चलते आईआरसीटीसी को बुकिंग रोकनी पड़ी। हालांकि इसके बाद रेलवे ने कहा कि बुकिंग शाम 6 बजे से फिर शुरू की जाएगी। जब शाम छह बजे दोबारा बुकिंग शुरू हुई तो फिर फिर वही दिक्कतें पेश आने लगीं, जिसके कारण यात्रियों को टिकटें बुक करने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आईआरसीटीसी ने अपनी वेबसाइट पर जारी एक संदेश में कहा कि हैवी ट्रैफिक के कारण अगले आदेश तक के लिए बुकिंग रद्द की जा रही है। इसके कुछ मिनटों बाद रेल मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया कि डेटा को वेबसाइट में फीड किया जा रहा है, जैसे ही यह काम पूरा होता है बुकिंग फिर से शुरू हो जाएगी।

Related Articles

epaper

Latest Articles