27.1 C
New Delhi
Thursday, June 30, 2022

काशी विश्वनाथ का ऐतिहासिक गलियारा तैयार, देखेगी दुनिया, 13 को PM करेंगे उदघाटन

नई दिल्ली/ खुशबू पाण्डेय : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ धाम यानी काशी विश्वनाथ गलियारा का उद्घाटन करेंगे। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और देश भर के 3000 से अधिक धर्माचार्य, संत तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे। इस समारोह का 51 हजार से अधिक स्थानों पर लाइव प्रसारण किया जाएगा। पार्टी स्तर पर इस कार्यक्रम के व्यापक प्रचार प्रसार के लिए राष्ट्रीय महामंत्री तरूण चुघ के नेतृत्व में केंद्रीय समन्वय समिति बनाई गई है। इसके लिए 8 और 9 दिसम्बर को देश के हर जिले में भारतीय जनता पार्टी द्वारा स्थानीय स्तर पर दिव्य काशी-भव्य काशी कार्यक्रम को लेकर प्रभात फेरी निकाली जाएगी। देशभर में 10, 11, एवं 12 दिसम्बर को देश के सभी मंदिरों, मठों, आश्रमों, धार्मिक स्थलों में स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा, जिसमें चुने हुए सभी विधायक, मंत्री, सांसद, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री भाग लेंगे। 13 दिसम्बर के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए देश के सभी प्रांतों में संयोजक एवं दो-दो सह संयोजक बनाए गए हैं। इसके अलावा 8 दिसम्बर से संवाद कार्यक्रम शुरू किया गया है जो 12 दिसम्बर तक चलेगी। इसमें महानगर एवं काशी जिला से 300 वालंटियरों की टीम तैयार की गई है। भजन मंडली भी बनाई गई है। भाजपा महासचिव तरुण चुग के मुताबिक बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में स्वच्छता कार्यक्रम 12 दिसम्बर तक चलेगा।

-पीएम मोदी करेंगे महीने भर चलने वाले कार्यक्रमों का शुभारंभ
– सभी मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, देश भर से 3000 धर्माचार्य, संत होंगे शामिल
-पूरा देश देखेगा लाइव, 51 हजार स्थानों पर लगाई जाएगी स्क्रीन
– दिव्य काशी-भव्य काशी कार्यक्रम को लेकर प्रभात फेरी निकाली जाएगी
-250 सालों के बाद काशी विश्वनाथ मंदिर का पुर्निनर्माण व सौंदर्यीकरण
-13 दिसंबर से 14 जनवरी 2022 तक काशी में रोज एक उत्सव होगा
-13 दिसंबर की शाम भाजपा के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन होगा
-17 दिसंबर को काशी में देशभर के महापौरों का सम्मेलन होगा

काशी के हर वार्ड में स्वच्छता अभियान व्यापक रूप से चल रहा है। भाजपा मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पार्टी महासचिव तरुण चुग ने बताया कि करीब 250 सालों के बाद काशी विश्वनाथ मंदिर का पुर्निनर्माण और सौंदर्यीकरण का काम किया गया है। भाजपा ने काशी विश्वनाथ धाम के उद्घाटन समारोह का नाम ‘दिव्य काशी, भव्य काशीÓ रखा है। तरूण चुुग ने कहा कि वाराणसी में भाजपा 13 और 14 दिसंबर को अपने मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन भी करेगी जिसमें सरकारों की कल्याणकारी योजनाओं पर चर्चा होगी और इससे जनता को अधिक से अधिक लाभ मिले उस पर मंथन होगा।
बता दें कि भाजपा की ओर से इस प्रकार के आयोजन को आगामी विधानसभा चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है। उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा के चुनाव होने हैं। अयोध्या में जारी राम मंदिर निर्माण कार्य के बीच काशी विश्वनाथ मंदिर का नया स्वरूप विकास के अलावा भाजपा के हिन्दुत्व के एजेंडे के मुताबिक है। वाराणसी प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र है।

काशी में रोज एक उत्सव होगा, शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी करेंगे

उन्होंने कहा कि 13 दिसंबर से 14 जनवरी 2022 (मकर संक्रांति) तक काशी में रोज एक उत्सव होगा और इन उत्सवों की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी करेंगे। ये भव्य कार्यक्रम सिर्फ काशी तक ही सीमित न रह जाए बल्कि गांव-गांव तक पहुंचे, इसके लिए देश के 51,000 स्थानों पर इन कार्यक्रमों का लाइव प्रसारण किया जाएगा। चुग ने बताया कि 17 दिसंबर को काशी में देशभर के महापौरों का सम्मेलन होगा जबकि 23 दिसंबर को देश के अलग-अलग प्रांतों से प्राकृतिक खेती, जैविक खेती करने वाले वैज्ञानिक, किसान, नई खेती करने वालों का बड़ा सम्मेलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती पर काशी में युवा सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

भाजपा के सभी मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन

13 दिसंबर की शाम से भाजपा के सभी मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन शुरु होगा। यह सम्मेलन 14 दिसंबर को भी चलेगा। केंद्रीय संस्कृति व पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने बताया कि काशी का देश और दुनिया में बहुत महत्व है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में काशी विश्वनाथ मंदिर का पुर्निनर्माण किया गया है लेकिन मंदिर के वास्तविक स्वरूप के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में अलग-अलग कार्यक्रम केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश सरकार और भाजपा द्वारा किए जा रहे हैं ताकि देश भर के लोगों की इस कार्यक्रम में भागीदारी सुनिश्चित हो सके।

Related Articles

epaper

Latest Articles