spot_img
29.1 C
New Delhi
Monday, July 26, 2021
spot_img

गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में छबील का नामकरण, ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने किया शुभारंभ

–शहीद बाबा जंग सिंह यादगारी प्याऊ के नाम से जाना जाएगा
–श्री गुरू ग्रंथ साहिब भवन की नई इमारत का उदघाटन

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने आज यहां दिल्ली सिख गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा गुरूद्वारा रकाबगंज साहिब में छबील का नामकरण किया। अब शहीद बाबा जंग सिंह यादगारी प्याऊ के नाम से जाना जाएगा। इसके साथ ही श्री गुरू ग्रंथ साहिब भवन गुरउपदेश प्रिंटरज के सुंदरीकरण और आधुनिकरण के बाद ईमारत का उद्घाटन किया। इस मौके पर तख्त श्री पटना साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रणजीत सिंह भी मौजूद रहे। प्याऊ का नाम नानकसर संप्रदाय के बाबा जंग सिंह के नाम पर रखा गया है। इस भवन का नवीनीकरण व सुंदरीकरण जत्थेदार बाबा कश्मीर सिंह भूरी वालों द्वारा किया गया है।
इस मौके पर ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि 26 जनवरी के घटनाक्रम के बाद झूठा बहाना लगा कर दिल्ली पुलिस ने सैंकड़ों नौजवानों को जेलों में बंद कर दिया। ये तो शुक्र है कि गुरूद्वारा कमेटी ने अपना फर्ज पहचाना तथा इन नौजानों की रिहाई की पैरवी कर ज्यादातर को बाहर करवाया। ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि सिख युवाओं में से एक नौजवान रणजीत सिंह भी है, जिसके खिलाफ बहुत ही खतरनाक धाराओं के तहत केस दर्ज कर जेल में डाला गया और जुल्म किया गया। उन्होंने कहा कि इस नौजवान ने सिखी की शान बरकरार रखी है। आज सिख मिशन दिल्ली में हमनें नौजवान का सम्मान किया।
इस मौके पर दिल्ली कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि दो वर्ष पहले जब मौजूदा कमेटी ने जिम्मेवारी संभाली थी तो बहुत सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। संगत द्वारा सौंपी गई सेवा के चलते दिल्ली गुरूद्वारा कमेटी द्वारा किये गये कार्यों की आज दुनिया भर में प्रशंसा हुई है। चाहे वह लाकडाउन में लंगर लगाने का मामला हो, एंबुलेंस उपलब्ध करवाने का, किसान आंदोलन के लिए सेवा करने का या फिर दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार नौजवानों की रिहाई करवाने के लिए निभाई भूमिका का मामला हो। इस मौके पर तख्त श्री पटना साहिब कमेटी के अध्यक्ष अवतार सिंह हित्त, महासचिव हरमीत सिंह कालका, अनेक संत महापुरुषों व गणमान्य शख्सियतों की मौजूदगी में किया गया।

Related Articles

epaper

Latest Articles