spot_img
23.1 C
New Delhi
Friday, October 22, 2021
spot_img

DSGMC चुनाव : दो सदस्यों के लिए निकाली 5 लॉटरी, 4 सदस्य मृतक निकले

-280 गुरुद्वारों के अध्यक्षों में से 2 अध्यक्षों का होना था चुनाव
–लॉटरी में निकले नामों पर विपक्ष ने जताई आपत्ति, रिजल्ट रोका
-गुरुद्वारा चुनाव निदेशक ने जांच के दिए आदेश, रिपोर्ट आने पर होगा फैसला
–दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी के कोआप्शन सीटों का चुनाव  

नई दिल्ली /अदिति सिंह : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में सिंह सभा गुरुद्वारों के अध्यक्षों में से को-आप्शन की 2 सीटों के लिए हुए चुनाव में नया मोड़ आ गया। कुल 280 अध्यक्षों में से 2 अध्यक्षों को कमेटी सदस्य के रूप में लॉटरी के जरिये चुना जाना था। इसके लिए पांच लॉटरी निकाली गई, जिसमें से 4 अध्यक्ष स्वर्गवासी (मृतक) निकले। जबकि 1 अध्यक्ष जीवित निकला। इसमें 3 गुरुद्वारे पश्चिमी दिल्ली क्षेत्र में पड़ते हैं। जबकि 1 गुरुद्वारा दक्षिणी दिल्ली और एक गुरुद्वारा नार्थ वेस्ट दिल्ली में पड़ता है। 4 अध्यक्षों के नामों पर आपत्ति चुनाव के लिए बुलाई गई मीटिंग के दौरान विपक्षी दलों के सदस्यों ने दर्ज कराई। साथ ही खुलासा किया कि वह अब इस दुनिया में नहीं रहे। इसके बाद गुरुद्वारा चुनाव के निदेशक नरिंदर सिंह ने रिजल्ट रोक दिया और इसकी जांच कराने के आदेश दिए। चुनाव निदेशालय ने स्थानीय एसडीएम एवं रजिस्ट्रार सोसायटी को पत्र लिखकर चारों गुरुद्वारों का डिटेल जानकारी मांगी है। नई जानकारी आने के बाद ही इसका रिजल्ट घोषित किया जाएगा। लेकिन, इस पूरी प्रक्रिया में सिस्टम के उपर बड़े सवाल खड़े कर दिए हैं।
जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को सिंह सभा गुरुद्वारा अध्यक्षों के नामों की लॉटरी निकाली गई। कुल 280 अध्यक्षों में से 2 अध्यक्षों को कमेटी सदस्य के रूप में चुना जाना था। पहले दो लॉटरी निकाली गई। जब निदेशालय के अधिकारियों ने इसका नाम पढ़ा तो विपक्षी सदस्यों ने उसपर आपत्ति जता दी। इसके बाद दूसरी लॉटरी निकली, उसका भी अध्यक्ष मृतक निकला। इसी तरह तीसरी और चौथी लॉटरी में भी जो नाम निकला, विपक्षी सदस्यों ने उसपर भी सवाल खड़े कर दिए। साथ ही दावा किया गया कि चारों सदस्य अब इस दुनिया में नहीं हैं। इसलिए इसकी जांच करवाई जानी चाहिए। इस दौरान कुल पांच लॉटरी निकाली गई, जिसमें से सीरियल नंबर-13 सतवंत कौर-गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, जेजे कालोनी, रघुबीर नगर, 190 स्वर्ण सिंह- गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, विशाखा एन्क्लेव, पीतमपुरा, 59 तिलोक सिंह- गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, स्वर्ण पार्क, मुंडका,  38 रामजी दास-गुरुद्वारा श्री गुरु नानक सतसंग सभा, मानसरोवर गार्डन एवं सीरियल नंबर 238 पर मोहिंदर सिंह-गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा कृष्णा नगर, बी-2 ब्लाक, सफदरजंग एन्क्लेव के नाम निकले। बताया जाता है कि इन पांच अध्यक्षों में से 4 अध्यक्ष स्वर्गवासी हैं। इसलिए अब गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय के सामने मुसीबत खड़ी हो गई है । आयोग के निदेशक ने बताया कि उन्होंने अपनी तरफ से संबंधित एसडीएम को पत्र भेज कर जानकारी मांगी है कि इस समय मौजूदा गुरुद्वारों में अध्यक्ष कौन है। सही जानकारी आने के बाद ही नियम अनुसार फैसला लिया जाएगा।

सिरसा की अयोग्यता पर कोर्ट में बहस, 29 को आएगा फैसला  

अपनी अयोग्यता बचाने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट गए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा को आज कोई फौरी राहत नहीं मिली। लगभग साढ़े चार घंटे तक दोनों पक्षों के सीनियर वकीलों की बहस सुनने के बाद जस्टिस प्रतीक जालान ने 29 सितम्बर तक मामले को स्थगित कर दिया। उम्मीद जताई जा रही है कि 29 सितम्बर को इस संबंध में अंतरिम आदेश कोर्ट दे सकती है। दरअसल सिरसा ने निदेशक गुरुद्वारा चुनाव के द्वारा उनको अयोग्य ठहराने के दिए फैसले को अदालत में चुनौती दी थी।

चारों तख्तों के जत्थेदार कमेटी के लिए सदस्य नामित हुए

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में कुल 55 सदस्य होते हैं। 46 सदस्यों का चुनाव संगत मतदान द्वारा किया जाता है। इसके अतिरिक्त नौ सदस्य नामित होते हैं। इसमें चारों तख्तों के जत्थेदार साहिबानों को आज गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय के जरिये नामित किया गया। इसमें श्री अकाल तख्त साहिब, तख्त श्री पटना साहिब, तख्त श्री केशगढ़ साहिब व तख्त श्री हुजूर साहिब के जत्थेदार शामिल हैं। एसजीपीसी की ओ से एक प्रतिनिधि डीएसजीएमसी के नामित मनजिंदर सिंह सिरसा का मामला कोर्ट में है इसलिए इसपर चुनाव नहीं हो सका।

Related Articles

epaper

Latest Articles