28.6 C
New Delhi
Tuesday, May 11, 2021

पूर्व MLA ने फेसबुक पर डाली विवादास्पद पोस्ट, भडकी AAP, सस्पेंड

—दिल्ली के पूर्व विधायक जरनैल सिंह आम आदमी पार्टी से निलंबित
–फेसबुक पर विवादित पोस्ट के चलते पार्टी ने की त्वरित कार्रवाई
–आम आदमी पार्टी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस
–पूर्व गृहमंत्री पी चिदबंरम पर जूता फेंकने के बाद चर्चा में आए थे जरनैल सिंह
–2017 में पंजाब के मुख्यमंत्री बादल के खिलाफ लड़े से विधानसभा चुनाव

नई दिल्ली/टीम डिजिटल : पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदम्बरम पर जूता फेंकने के बाद चर्चा में आए और बाद में पत्रकार से विधायक बने जरनैल सिंह (राजौरी गार्डन) को आज आम आदमी पाटी्र की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। इसके पीछे 11 अगस्त को उनके निजी फेसबुक एकाउंट पर डाली गई विवादित पोस्ट को जिम्मेदार ठहराया गया है। जरनैल सिंह (पूर्व विधायक राजौरी गार्डन) द्वारा हिन्दू देवी के बारे में गलत शब्दकोष के उपयोग पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए आम आदमी पार्टी के पीएसी की बैठक में निर्णय लिया गया है। पार्टी ने उन्हें एक कारण नोटिस जारी किया है कि उन्हें इस शर्मनाक कृत्य के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त क्यों किया जाना चाहिए। सिख समुदाय भी अपने बयान से बहुत दुखी है क्योंकि किसी भी समुदाय के खिलाफ ऐसा दुर्भाग्य भी गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं के खिलाफ है। आम आदमी पार्टी एक धर्मनिरपेक्ष पार्टी है और किसी धर्म का अपमान करने वाले की पार्टी में कोई जगह नहीं है ।

बता दें कि 5 अगस्त को अध्योध्या में राम मंदिर आधारशिला के बाद से लगातार सोशल मीडिया पर सिख गुरु साहिबानों के लवकुश के वंशज होने पर चल रही बहस के दौरान अनेक सिखों पर सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट डाली थी। जरनैल सिंह ने भी इसी कड़ी में आगे बढ़ृते हुए हिंदू धर्म के अवतारेां के खिलाफ ऐसी शब्दावली का जिक्र कर दिया जिसको लेकर आम आदमी पार्टी भड़क गई। पार्टी ने जरनैल सिंह से किनारा करते हुए तुरंत निलंबित करना उचित समझा। हालांकि, इसके तुरंत बाद जरनैल सिंह से फेसबुक पोस्ट पर अपनी सफाई भी डाली, लेकिन बात नहीं बनी।
बता दें कि 2017 में राजौरी गार्डन विधायक की सीट से इस्तीफा देकर जरनैल सिंह पंजाब के लंबी विधानसभा सीट से उस समय के पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ चुनाव लडऩे के लिए चले गए थे। चुनाव में उनकी हार हुई थी। इधर दिल्ली से उनकी विधायकी भी चली गई। लेकिन, बाद में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जरनैल सिंह को दिल्ली में पंजाबी अकादमी का उपाध्याक्ष नियुक्त कर सम्मान दे दिया था।
सोशल मीडिया पर जरनैल की पोस्ट को कुछ लोग भावुकता से भरी हुई पोस्ट कह कर बचाव कर रहे हैं। साथ ही तर्क दे रहे हैं कि यह जरनैल सिंह का निजी खाता है इसलिए पार्टी को जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए थी। लेकिन 2022 के दिल्ली नगर निगम और फरवरी 2022 में पंजाब विधानसभा चुनावों को लेकर आम आदमी पार्टी किसी भी धर्म या संप्रदाय के लोगों केा नाराज नहीं करना चाहती है।

पंजाब के प्रभारी MLA जरनैल सिहं ने कहा-गलत थी पोस्ट

आप के तिलकनगर से विधायक और पंजाब के पार्टी प्रभारी जरनैल सिंह तिलकनगर ने जरनैल सिंह राजौरी गार्डन को पार्टी से निलंबित जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि उनकी पोस्ट धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली पोस्ट थी। जरनैल सिंह (पूर्व विधायक राजौरी गार्डन) के इस बयान की आम आदमी पार्टी कड़ी निंदा करती है और तत्काल प्रभाव से पार्टी की बुनियादी सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है।

बेटा ले रहा था आनलाइन क्लास, गलती से फेसबुक पोस्ट कर दी : जरनैल सिंह

राजौरी गार्डन से पूर्व विधायक जरनैल सिंह फेसबुक पर अपनी सफाई में दूसरी पोस्ट डालते हुए कहा कि उनका फोन उनके छोटेबेटे के पास था जो वह आनलाइन पढ़ाई के लिए ले रखा था। बेटे ने फेसबुक पर चल रहे किसी कमेंट को कापी करके पोस्ट में डाल दी थी। मैं गुरबानी में आए सभी अवतारों का सम्मान करता हूं और श्री गुरुतेग बहादुर साहिब के बताए रास्ते पर चलता हूं।

Related Articles

epaper

Latest Articles