spot_img
28.1 C
New Delhi
Friday, October 22, 2021
spot_img

जागो पार्टी की डिमांड, गुरुद्वारा कमेटी के सभी 46 सदस्यों का करवाया जाए गुरुमुखी टेस्ट

-मनजिंदर सिरसा के फेल होने के बाद कई सदस्यों पर लटकी तलवार
-जागो पार्टी ने शिरोमणी कमेटी अध्यक्ष तथा कार्यकारिणी का मांगा इस्तीफा
-जगीर कौर के खिलाफ धोखाधड़ी का केस अदालत में दर्ज करवाएंगे :जीके

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC)के निवर्तमान अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा के धार्मिक परीक्षा में फेल होने के बाद विपक्षी दल हमलावर हो गए हैं। साथ ही दिल्ली से लेकर अमृतसर तक के प्रबंधकों पर दबाव बना दिया है। जागो पार्टी ने शिरोमणी कमेटी (SGPC) की अध्यक्ष जगीर कौर सहित पूरी कार्यकारिणी का इस्तीफा मांगा है। पार्टी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके ने कहा कि शिरोमणी कमेटी के प्रतिनिधि मनजिंदर सिंह सिरसा का गुरसिखी और गुरमुखी टैस्ट में फेल होना शिरोमणी कमेटी की बादल प्रायोजित प्रबंध की बड़ी हार है। सिरसा 25 अगस्त को आए चुनावी नतीजों में पंजाबी बाग वार्ड से चुनाव हार गए थे। उसी दिन शाम को शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल सिरसा को शिरोमणी कमेटी कोटे की एकमात्र सीट पर सदस्य नामजद करने का ऐलान कर दिया। इसके बाद आनन-फानन में उसी समय शिरोमणी कमेटी सिरसा को नामजद करने वाला पत्र जारी कर दिया। पत्र में 23 अगस्त को हुई शिरोमणी कमेटी की कार्यकारिणी बैठक का हवाला दिया गया, जिसमें सिरसा को दिल्ली कमेटी में नामजद करने का प्रस्ताव पारित किया गया था।
जीके ने शिरोमणी कमेटी द्वारा कार्यकारिणी सदस्यों को भेजें गए मुख्य एजेंडे तथा अतिरिक्त एजेंडे की प्रति सार्वजनिक करते हुए दावा किया कि 23 अगस्त की बैठक में सिरसा को सदस्य नामजद करने का कोई प्रस्ताव पारित नहीं हुआ था। जीके ने हैरानी जताई कि सिरसा को क्या सपना आया था कि वो 25 अगस्त को चुनाव हार रहें हैं, इसलिए 23 अगस्त को अपने को सदस्य नामजद करवाने का फैसला करवा लिया था ? जीके ने कहा कि वो शिरोमणी कमेटी की अध्यक्ष तथा कार्यकारिणी सदस्यों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस अदालत में दर्ज करवाएंगे। क्योंकि, कमेटी ने गलत कागज तैयार करवाया है, और वह दोषी हैं। इसके अलावा मंजीत सिंह जीके ने दिल्ली कमेटी के जीते सभी 46 सदस्यों का गुरमुखी टैस्ट करवाने की वकालत की। साथ ही कहा कि अगर गुरुद्वारा निदेशक की बजाय कमेटी ने पेपर सेट किया होता तो सिरसा फेल ना होते।

सिरसा के अंहकार को सिरसा के फेल होने की वजह

दिल्ली कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष कुलवंत सिंह बाठ ने सिरसा के अंहकार को सिरसा के फेल होने की वजह बताया। जागो पार्टी के महासचिव परमिंदर पाल सिंह ने सिरसा को अपनी पंजाबी आनर्स की डिग्री सार्वजनिक करने की अपील की। इस मौके कमेटी सदस्य परमजीत सिंह राणा, सतनाम सिंह खीवा, पूर्व कमेटी सदस्य चमन सिंह, हरमनजीत सिंह, हरिंदर पाल सिंह, हरजीत सिंह जीके, शिरोमणी अकाली दल संयुक्त के महासचिव हरप्रीत सिंह बन्नी जौली तथा जगजीत सिंह कमांडर मौजूद थे।

Related Articles

epaper

Latest Articles