27.1 C
New Delhi
Thursday, June 30, 2022

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी में कुर्सी को लेकर सियासी महाभारत, बने दो-दो अध्यक्ष

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में शनिवार को सत्ता को लेकर हुए सियासी संग्राम में कमेटी दो धड़े में बंट गई। एक धड़े में सभी दल एकजुट हो गए हैं, जबकि दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए मनजिंदर ङ्क्षसह सिरसा हैं, जो एक दिन पहले ही दोबारा अपना इस्तीफा वापस लेते हुए पदभार संभालने का दावा किया था। नये घटनाक्रम के बाद अब दो-दो अध्यक्ष हो गए हैं। इसको लेकर शनिवार को दिनभर श्री रकाबगंज गुरुद्वारा स्थित कमेटी मुख्यालय में हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा।
कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका द्वारा बुलाई गई अंतरिम बोर्ड की मीटिंग में 12 में से 9 सदस्यों ने शामिल होकर मनजिंदर सिंह सिरसा का इस्तीफा सर्वसम्मिति से स्वीकार करते हुए जनरल हाऊस की अनुमति के लिए भेज दिया। साथ ही कमेटी का काम ना रूके इसलिए नई कमेटी के गठन तक कमेटी के उपाध्यक्ष कुलवंत सिंह बाठ को अध्यक्ष के रूप में जिम्मेवारी सौंपी गई। दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका ने एक्ट के दायरे में रह कर अंतरिम बोर्ड की मीटिंग शनिवार दोपहर 3 बजे बुलाई गई। मीटिंग के दौरान कुलवंत सिंह बाठ को कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेवारी सौंपने के साथ ही कई प्रस्ताव भी पास किये गये।

—दो धड़ों में बंटी दिल्ली की सबसे बडी धार्मिक संस्था गुरुद्वारा कमेटी
–कमेटी महासचिव ने बुलाई अंतरिम बोर्ड की बैठक, सिरसा को हटाने का दावा
-कुलवंत सिंह बाठ को सौंपा नई कमेटी गठित होने तक अध्यक्ष का कार्यभार
-सत्ता को लेकर दिनभर चला हाई वोल्टेज ड्रामा, भारी पुलिस बल तैनात

कालका ने कहा कि इस बात की खुशी है कि अलग-अलग गुटों के सदस्यों ने कौम की चढ़दीकला को मुख्य रखते हुए अंतरिम बोर्ड की मीटिंग में शामिल हुए और प्रस्तावों को सर्वसम्मिति के साथ अनुमति दी। कालका के मुताबिक 1 दिसंबर को मनजिंदर सिंह सिरसा द्वारा इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के बाद कोरोना महामारी के कारण अंतरिम बोर्ड की मीटिंग नहीं बुलाई गई पर कमेटी के मौजूदा हालात और स्टाफ की परेशानियों को देखते हुए मीटिंग बुला कर मनजिंदर सिंह सिरसा का इस्तीफा मंजूर करके जनरल हाउस के पास भेजा गया।
कालका ने दावा किया कि अंतरिम बोर्ड की मीटिंग बुलाने का अधिकार केवल महासचिव के पास होता है। बैठक के दौरान हरिगोबिंद एनक्लेव में कमेटी के संस्थान में नाजायज तौर पर चलाये जा रहे शूटिंग रेंज, जिम व कंप्यूटर सेंटर में हुए स्कैंडल का पर्दाफाश होने के बाद इसकी जांच के लिए 3 सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया गया, जिसमें कुलवंत सिंह बाठ, हरिंद्रपाल सिंह व विक्रमजीत सिंह रोहिणी शामिल हैं। यह कमेटी जांच कर सच संगत के समक्ष लाएगी।
कालका ने बताया कि हर सप्ताह अंतरिम बोर्ड की मीटिंग बुलाई जायेगी ताकि प्रबंध को सुचारू ढंग से चलाया जा सके। मीटिंग में कुलवंत सिंह बाठ, हरविंदर सिंह के.पी, परमजीत सिंह राणा, हरिंद्रपाल सिंह, विक्रम सिंह रोहिणी, परमजीत सिंह चंडोक, जंतिद्र सिंह साहनी, भुपिंदर सिंह भुल्लर आदि मौजूद रहे। तख्त पटना साहिब कमेटी के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह, हरमनजीत सिंह तथा तरविंदर सिंह मारवाह विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में मौजूद रहे।
इस दौरान कुलवंत सिंह बाठ ने कहा कि जो जिम्मेवारी उन्हें अंतरिम बोर्ड द्वारा सौंपी गई है वह सभी सदस्यों और स्टाफ को साथ लेकर महासचिव हरमीत सिंह कालका के साथ मिलकर कमेटी के प्रबंधों को चलाने के लिए काम करेंगे।

जसमेन सिंह नोनी 6 वर्ष के लिए पार्टी से निष्कसित

शिरोमणि अकाली दल की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका ने पार्टी के सदस्य जसमेन सिंह नोनी को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के कारण पार्टी से 6 वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है। जसमेन सिंह नोनी दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के सदस्य भी हैं। कालका ने कहा कि अगर पार्टी का अन्य कोई भी सदस्य पार्टी की विचारधारा के विपरीत जा कर काम करेगा व पार्टी द्वारा दिये जा रहे आदेशों को नजरअंदाज करेगा तो उसके खिलाफ भी इसी प्रकार की कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

epaper

Latest Articles