spot_img
17.1 C
New Delhi
Tuesday, December 7, 2021
spot_img

सांसदों ने उत्तर रेलवे से की मांग, पंजाब से चलाई जाए वंदेभारत ट्रेन

spot_imgspot_img

–पंजाब मेल में पुराने डिब्बे हटाकर आधुनिक यात्री डिब्बे लगाए जाएं
–जोगिंदरनगर-पठानकोट रेल मार्ग कालका-शिमला की तर्ज पर बने
–ट्रेनों की स्पीड बढ़ी, लेकिन स्टेशनों पर खड़ी कर दी जाती हैं ट्रेनें : ढीढ़सा
–ट्रेनों का स्टापेज, यात्री सुविधाएं बढ़ाने, एफओबी, नई ट्रेनों की मांग
-सहारनपुर से इलाहाबाद के बीच सीधी ट्रेन चलाई जाए : सांसद रेहमान
–उत्तर रेलवे ने पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर के सांसदों के साथ की बैठक

Indradev shukla

नई दिल्ली /खुशबू पाण्डेय : उत्तर रेलवे ने अपने दो प्रमुख रेल मंडलों अंबाला एवं फिरोजपुर के दायरे में आने वाले निर्वाचन क्षेत्रों के सांसदों की वीरवार को उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। बैठक में पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश एवं जम्मू-कश्मीर के प्रतिनिधि मौजूद रहे। अध्यक्षता केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने की। वह पंजाब से जुड़े हैं। उन्होंने पंजाब से एक नई वंदेभारत ट्रेन चलाने की मांग की। उनका समर्थन राज्यसभा संासद सुखदेव सिंह ढींढसा आदि ने भी किया है। इसके अलावा हिमाचल के सांसदों ने जोगिंदर नगर से पठानकोट रेल मार्ग को और आधुनिक बनाने, कालका-शिमला की तर्ज पर आधुनिक डिब्बे और सुविधाएं बढ़ाने का मुद्दा उठाया। अकाली दल के सांसद बलविंदर सिंह भूदड़ ने पंजाब मेल ट्रेन में नये यात्री डिब्बे लगाने की डिमांड रखी। उन्होंने कहा कि पंजाब में ही रेलवे कोच फैक्ट्री है लिहाजा पंजाब मेल के पुराने डिब्बों को बदल कर नये और आधुनिक डिब्बे लगाए जाएं, ताकि यात्रियों को अच्छी सुविधा मिल सके। राज्यसभा संासद सुखदेव सिंह ढींढसा ने उत्तर रेलवे के आला अधिकारियों के समक्ष ट्रेनों की पंचुअलटी का मसला उठाया। साथ ही कहा कि जब रेलगाडिय़ों की स्पीड बढ़ा दी गई है तब ट्रेनों को अंबाला जैसे स्टेशनों पर काफी देर तक ट्रेनों को रोका जाता है। ढींढसा के मुताबिक शताब्दी जैसी ट्रेनों को समय पर चलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ट्रेनों का टाइम टेबुल चेंज किया जाना चाहिए। बठिंडा के सांसद ने स्टेशन पर यात्री सुविधाएं बढ़ाने, यात्रियों के लिए फुट ओवर ब्रिज का निर्माण का मामला उठाया। इस मौके पर सांसदों ने शताब्दी जैसी प्रमुख ट्रेनों के स्टापेज की मांग भी की। इसके अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के सांसद हाजी फजलूर रेहमान ने सहारनपुर से इलाहाबाद के लिए सीधी ट्रेन चलाने की मांग की। उनके मुताबिक हाईकोर्ट सहित कई विभागों के मुख्यालय इलाहाबाद (अब प्रयागराज) में स्थित है और सहारनपुर क्षेत्र से सैकड़ों लोगों का आना जाना होता है, सीधी ट्रेन न होने की वजह से लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है। इस मौके पर सांसदों की ओर से केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश, सांसद गुरजीत सिंह औजला, संतोख सिंह चौधरी, डॉ अमर सिंह, डॉ किशन कपूर, रतनलाल कटारिया, नायब सिंह, हाजी फजलूर रेहमान, जसबीर सिंह, सुखदेव सिंह ढींढसा, इंदू बाला गोस्वामी, सरदार बलविंदर सिंह भुंदर आदि मौजूद रहे।

सांसदों के सभी मुददों को हल करने का भरोसा

उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने सांसदों के सभी मुददों को हल करने का भरोसा दिया। साथ ही कहा कि नई ट्रेनों को चलाने की बावत वह रेलवे बोर्ड को लिखेंगे। बाकी जो उनके स्तर पर होगा उसे जल्द से जल्द हल करवाया जाएगा।उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल के मुताबिक यह बैठक रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव द्वारा क्षेत्रीय रेलों के महाप्रबंधकों को देश की बेहतर सेवा के लिए आम जनता तक पहुँचने और उनके सुझाव प्राप्त करने के निर्देशों के अनुपालन में आयोजित की गयी है । महाप्रबंधक ने सभी सांसदों को विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों और नई पहलों के संबंध में अवगत कराया। इस मौके पर सभी राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों-जम्मू एवं कश्मीर, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश के निर्वाचन क्षेत्रों पर यात्री सुविधाओं, बुनियादी ढॉंचे और स्टेशनों व रेलगाडिय़ों में विकासात्मक गतिविधियों का प्रेजेंटेशन भी प्रस्तुत किया। इस मौके पर अम्बला मंडल के डीआरएम गुरिन्दर मोहन सिंह, फिरोजपुर के मंडल रेल प्रबंधक डॉ सीमा शर्मा सहित उत्तर रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

Indradev shukla
Indradev shukla
spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img