spot_img
21.1 C
New Delhi
Monday, October 18, 2021
spot_img

रेलवे में नौकरी : एक पद के लिए 17 हजार 428 अभ्यर्थी आजमाएंगे किस्मत

–रेलवे में 1.4 लाख पदों के लिए 2.44 करोड़ परीक्षार्थी देंगे एग्जाम
–भारतीय रेलवे 15 दिसम्बर से शुरू कर रहा है मेगा भर्ती अभियान
—रेलवे भर्ती परीक्षा में नहीं हो सकेगी किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी
–21 रेलवे भर्ती बोर्ड ओं की तरफ से 3 चरणों में होगा भर्ती अभियान

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : भारतीय रेलवे में करीब 1. 4 लाख रिक्त विभिन्न पदों को भरने के लिए देशभर में 15 दिसंबर से मेगा भर्ती अभियान शुरू होने जा रहा है। इसके लिए देश के विभिन्न शहरों में 2.44 करोड़ से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। इस हिसाब से एक पद के लिए 17 हजार 400 से अधिक अभ्यर्थी नौकरी के लिए किस्मत आजमाएंगे। मेगा भर्ती अभियान भारतीय रेलवे अपने 21 रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) के माध्यम से करवा रहा है। परीक्षा तीन चरणों में होगी। इसके लिए भारतीय रेलवे ने पूरी तैयारी पुख्ता रूप से कर ली है। परीक्षा में किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी न हो इसके लिए भारतीय रेलवे ने विशेष इंतजाम किए हैं। कंप्यूटर आधारित परीक्षा के लिए कक्ष में पहुंचने पर सबसे पहले अभ्यर्थियों को बायोमेट्रिक और फोटो कैप्चर कराना होगा। इससे अभ्यर्थियों की जगह किसी के अन्य शामिल होकर परीक्षा देने की गुंजाइश नहीं रहेगी। हालांकि कोविद-19 की परिस्थितियों के बीच कराई जा रही परीक्षा को लेकर रेलवे ने विशेष इंतजाम किए हैं। इसके बावजूद यदि परीक्षा देने पहुंचे अभ्यर्थियों में से किसी का तापमान अधिक निकलता है तो उसे फिर परीक्षा देने का अवसर दिया जाएगा,ऐसी व्यवस्था की जाएगी। परीक्षा के दौरान कोविड-19 के सभी प्रोटोकाल का ख्याल रखा जाएगा।
रेलवे बोर्ड में महानिदेशक (मानव संसाधन ) आनंद के खाती के मुताबिक 15 दिसंबर से 18 दिसंबर तक कंप्यूटर आधारित सीबीटी का पहला चरण आयोजित किया जाएगा। गैर तकनीकी श्रेणियों के लिए सीबीटी का दूसरा चरण 28 दिसंबर 2020 से मार्च 2021 तक आयोजित किया जाएगा। तीसरे चरण में लेवल 1 पदों के लिए जून 2021 तक परीक्षाएं आयोजित की जाएगी।

कोरोना के चलते दो पारियों में ही परीक्षा आयोजित 

कोरोना के चलते भारतीय रेलवे इस बार परीक्षाओं को केवल दो पारियों में ही आयोजित करेगा। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग , मास्क , सैनिटाइजर, क्यूरेट शिफ्ट को अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा सभी राज्यों में परीक्षार्थियों को परेशानी ना हो इसके लिए उनके राज्यों में ही परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। महिला एवं विकलांग अभ्यर्थियों को उनके गृह राज्य में ही परीक्षा देने की व्यवस्था की गई है। भारतीय रेलवे ने राज्य सरकारों के मुख्य सचिवों को भी कहा है कि वह सीबीटी का संचालन करने के लिए स्थानीय प्रशासन का सहयोग रेलवे भर्ती बोर्ड को सुरक्षित और सुरक्षित तरीके से प्रदान करें ताकि सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जा सके।
रेलवे भर्ती बोर्ड ने कोविड के नियमों के अनुसार सभी परीक्षार्थियों को आदेश दिया है कि वह सभी प्रासंगिक पूर्व प्रोटोकाल दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन और पालन करेंगे। साथ ही केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा जारी किए गए नवीनतम निर्देशों, दिशानिर्देशों निर्देशों और आदेशों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles