30.1 C
New Delhi
Tuesday, October 4, 2022

रेलवे प्रमोटी अधिकारी महासंघ ने भरी हुंकार, कैरियर उन्नयन पर गंभीर मंथन

गोरखपुर/ खुशबू पांडे: पूर्वोत्तर रेलवे प्रमोटी अधिकारी संघ (NERPOA) के तत्त्वावधान में भारतीय रेल प्रमोटी अधिकारी महासंघ (IRPOF) की कार्यकारी समिति की दो दिवसीय अधिवेशन का आयोजन आयोजित की गई। इस मौके पर भारतीय रेल के प्रमोटी अधिकारियों के कैरियर उन्नयन से सम्बन्धित विभिन्न मुद्दों पर व्यापक विचार-विमर्ष किया गया।
भारतीय रेल प्रमोटी अधिकारी महासंघ के अध्यक्ष अमित जैन ने कहा कि जूनियर स्केल के अधिकारियों की पदोन्नति के लिये सीनियर स्केल के पदों को तदर्थ आधार पर पुनः री-स्टोर करने के लिए महासंघ निरन्तर प्रयास कर रहा है। इसी प्रकार अधिकारियों के फ्रीज्ड पदों को डी-फ्रीज्ड करने की दिशा में भी तेजी से कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। जैन ने कहा कि अपेक्षित परिणामों की प्राप्ति के लिए सभी को मिशन मोड में कार्य करना होगा । निरन्तर बढ़ते हुये काम के बोझ के संदर्भ में चर्चा करते हुये उन्होंने कहा कि इसके लिये अधिकारियों को अपनी तकनीकी योग्यता बढ़ानी होगी । उन्होंने क्षेत्रीय स्तर पर नियमित रूप से औपचारिक बैठक आयोजित कर मंडलों के पदाधिकारियों की राय पर भी विचार करने का सुझाव दिया, जिससे गतिविधियों को नई गति प्राप्त हो।

—पूर्वोत्तर रेलवे प्रमोटी अधिकारी संघ,गोरखपुर के तत्वाधान में दो दिवसीय अधिवेशन
— जूनियर स्केल के अधिकारियों की पदोन्नति के लिये री-स्टोर करने के लिए प्रयास जारी : अमित जैन
—जूनियर स्केल के पदों में की गई अभूतपूर्व कटौती के विरूद्ध संघर्ष जारी : एचसी यादव

भारतीय रेल प्रमोटी अधिकारी महासंघ के महासचिव एचसी यादव ने कहा कि प्रमोटी अधिकारियों के जूनियर स्केल के पदों में की गई अभूतपूर्व कटौती के विरूद्ध महासंघ का संघर्ष जारी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2021 एवं 2022 के डीपीसी एक साथ कराने के लिये संघ लोक सेवा आयोग स्तर पर कार्यवाही किये जाने के लिए महासंघ निरन्तर प्रयासरत है। यादव ने ग्रुप-बी अधिकारियों के पदों की रि-स्ट्रक्चरिंग के सम्बन्ध में किये जा रहे प्रयासों पर भी विस्तार से प्रकाश डाला। भारतीय रेल प्रमोटी अधिकारी महासंघ के संगठन सचिव आरपी चन्द ने क्षेत्रीय स्तर पर मासिक बैठकों के नियमित आयोजन पर बल देते हुये कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर प्रत्येक माह के अन्तिम दिन संघ की बैठक आयोजित कर अनेक मुद्दों पर विचार-विमर्ष करने के साथ ही सेवानिवृत्त हो रहे प्रमोटी अधिकारियों को विदाई दी जाती है। उन्होंने प्रमोटी अधिकारियों के कैरियर उन्नयन के लिए सीनियर स्केल के पदों को तदर्थ आधार पर री-स्टोर किये जाने की आवष्यकता को रेखांकित किया।

 

महासंघ के सलाहकार जितेन्द्र सिंह ने कहा कि महासंघ प्रमोटी अधिकारियों के कैरियर एडवांसमेंट के लिए नई जिम्मेदारियाँ ले रहा है। कैडर से सम्बन्धित अनेक मामलों में हर स्तर पर तेजी से कार्यवाही सुनिष्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रमोटी अधिकारी अपनी क्षमता में निरन्तर वृद्धि करते रहें, जिससे उनकी सशक्त उपस्थिति प्रशासनिक कार्यों में दर्ज होती रहे।
कार्य समिति की बैठक को क्षेत्रीय रेलों के प्रमोटी अधिकारी संघ के पदाधिकारियों ने भी सम्बोधित किया, जिनमें पष्चिम मध्य रेलवे के नितिन तिवारी, केन्द्रीय रेल विद्युतीकरण संगठन के प्रदीप तिवारी आदि प्रमुख हैं। वक्ताओं ने अपने सम्बोधन में प्रमोटी अधिकारियों की समस्याओं तथा उनके निदान से सम्बन्धित अनेक पक्षों पर विस्तार से चर्चा की।
पूर्वोत्तर रेलवे प्रमोटी अधिकारी संघ (एनईआरपीओए) के अध्यक्ष कृष्णा सिंह ने कहा कि महासंघ के पत्राचार को ई-आफिस के तर्ज पर किया जाय, जिससे सभी सदस्यों को समुचित जानकारी यथाषीघ्र प्राप्त हो सके। सिंह ने संगठन की पत्रिका के ई-संस्करण को नियमित रूप से अपडेट करने तथा इसे इन्टररेक्टिव बनाने का भी सुझाव दिया जिससे यह विचारों के आदान-प्रदान का एक प्रभावी माध्यम बन सके।

Related Articles

epaper

Latest Articles