spot_img
27.1 C
New Delhi
Friday, July 30, 2021
spot_img

कश्मीर घाटी के सभी रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई शुरू, यात्री लें इंटरनेट का मजा

— श्रीनगर सहित 15 स्टेशन रेलटेल के वाई-फाई नेटवर्क में शामिल
—यात्री 30 मिनट तक फ्री में कर सकेंगे इंटरनेट का इस्तेमाल

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : विश्व वाई-फाई दिवस के अवसर पर, रेलटेल द्वारा संघ शासित क्षेत्र कश्मीर के श्रीनगर स्टेशन सहित 15 रेलवे स्टेशनों पर सार्वजनिक वाई-फाई उपलब्ध कराया है। रेलटेल का सार्वजनिक वाई-फाई, रेलवायर के ब्रांड नाम से तहत उपलब्ध कराया जा रहा है, जो कश्मीर क्षेत्र के 15 स्टेशनों (श्रीनगर,बारामूला, हम्रे, पट्टन, मज़होम, बडगाम, श्रीनगर, पम्पोर, काकापोरा, अवंतीपुरा, पंजगाम, बिजबेहरा, अनंतनाग, सादुरा, काज़ीगुंड, बनिहाल) सहित चार जिला मुख्यालयों में उपलब्ध है।
क्षेत्र जम्मू में चार जिला मुख्यालयों सहित 15 स्टेशनों (कठुआ, बुद्धि, छन अरोरियां, हीरा नगर, घग्वाल, सांबा, विजयपुर, बाड़ी ब्राह्मण, जम्मू तवी, बजालता, संगर, मनवाल, राम नगर जेएंडके, ऊधमपुर और कटरा) पर वाई-फाई पहले से ही उपलब्ध था।


रेल मंत्रालय द्वारा रेलटेल को सभी रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई की व्यवस्था करने का कार्य सौंपा गया था। नजरिया था, रेलवे प्लेटफार्म को डिजिटल समावेशी प्लेटफार्म के रूप में बदलना। आज, पूरे देश के 6000+ से अधिक रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई नेटवर्क का प्रसार है और यह विश्व के सबसे बड़े वाई-फाई नेटवर्क में से एक है। इसका लक्ष्य समस्त रेलवे स्टेशनों पर (हाल्ट स्टेशनों को छोड़कर) वाई-फाई उपलब्ध कराना है और इस मार्क तक पहुंचने के लिए केवल कुछ ही स्टेशन बचे हैं।
इस अवसर पर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा, वाई-फाई लोगों को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, और तेजी से ग्रामीण और शहरी भारत के बीच डिजिटल विभाजन को पाट रहा है। भारतीय रेलवे, रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के साथ मिलकर देश के हर कोने में हाई स्पीड वाई-फाई लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। आज, विश्व वाई-फाई दिवस पर, मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि श्रीनगर और कश्मीर घाटी के 14 स्टेशन, देश भर में 6000+ स्टेशनों को जोड़ने वाले दुनिया के सबसे बड़े एकीकृत सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क में से एक,का हिस्सा बन गए हैं। इसके साथ ही घाटी के सभी स्टेशनों पर अब पब्लिक वाई-फाई हो गया है। यह डिजिटल इंडिया मिशन के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और डिजिटल कनेक्टिविटी से वंचित लोगों को जोड़ने में एक लंबा सफर तय करेगा। मैं भारतीय रेलवे और रेलटेल की टीम की सराहना करता हूं, जिन्होंने इस उल्लेखनीय उपलब्धि को हासिल करने के लिए अथक प्रयास किया है।
केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह, ने कहा कि आज वाई-फाई समुदायों को जोड़ने और डिजिटल डिवाइड को पाटने के लिए तथा नवीन समाधानों को बढ़ावा देने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। महामारी के कारण, वस्तुतः डिजिटल ग्रुप से जुड़े रहने की आवश्यकता पहले से कहीं अधिक है। भारतीय रेलवे अपने सीपीएसयू रेलटेल द्वारा बनाए गए स्टेशन वाई-फाई नेटवर्क के माध्यम से ग्रामीण विभाजन को पाटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। जम्मू और कश्मीर में कश्मीर घाटी के 15 स्टेशन अब रेलवायर वाई-फाई के साथ लाइव हैं। यह क्षेत्र और देश के लोगों के लिए एक अतिरिक्त सुविधा होगी।

यात्री वीडियो स्ट्रीमिंग, फिल्में, गाने, गेम्स कर सकते हैं डाउनलोड

वाई-फाई रेलवायर के ब्रांड नाम के तहत उपलब्ध कराया जा रहा है – जो रेलटेल की रिटेल ब्रॉडबैंड सेवा है। यात्रीगण हाई डेफिनेशन (एचडी) वीडियो स्ट्रीमिंग, फिल्में, गाने, गेम्स डाउनलोड करने के लिए इस सुविधा का उपयोग करते हैं और अपना कार्यालयीन कार्य ऑनलाइन करते हैं। उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट का सबसे बेहतर अनुभव देने हेतु ,रेलवे स्टेशनों के लिए डिजाइन किया गया रेलवायर वाई-फाई उन सभी उपयोगकर्ताओं को उपलब्ध हो सकेगा जिनके पास केवाईसी प्रमाणित वर्किंग मोबाइल कनेक्शन वाला स्मार्टफोन होगा।

30 मिनट तक फ्री वाई-फाई नेटवर्क की सुविधा

वाई-फाई नेटवर्क की सफलता के बारे में रेलटेल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक बोलते हुए पुनीत चावला ने कहा कि रेलटेल ने इस नेटवर्क को खड़ा करने के लिए केपेक्स की एक अच्छी-खासी राशि का निवेश किया है और इसके मुद्रीकरण के लिए हमने समस्त वाई-फाई वाले स्टेशनों पर पेड वाई-फाई प्लान की शुरुआत की है। 30 मिनट @ 1एमबीपीएस की स्पीड के फ्री उपयोग के बाद उपयोगकर्ता को हाई स्पीड वाई-फाई के लिए मामूली शुल्क देते हुए प्रीपेड प्लान खरीदना होगा। हम विज्ञापन आधारित राजस्व के माध्यम से नेटवर्क का मुद्रीकरण भी करने जा रहे हैं जिसके लिए हम शीघ्र ही रुचि की अभिव्यक्ति (EOI) आमंत्रित करने जा रहे हैं।

प्रीपेड प्लान प्रतिदिन 10 रूपये, 30 दिन के लिए 75 रुपये

प्रीपेड प्लान प्रतिदिन 10 रूपये (34 एमबीपीएस की स्पीड पर 5जीबी) से लेकर 30 दिन के लिए 75 रुपये (34 एमबीपीएस की स्पीड पर 60जीबी) तक का होगा जिनमें जीएसटी शामिल नहीं है। ऑनलाइन प्लान खरीदने के लिए कई भुगतान विकल्पों जैसे नेट बैंकिंग, वॉलेट, क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया जा सकेगा।
रेलटेल ने पहले से वाई-फाई की सुविधा वाले मौजूदा स्टेशनों पर अपने पीओपी के उपयोग से आसपास के गांवों में वाई-फाई/ ब्रॉडबैंड सेवाओं के विस्तार की परिकल्पना भी की है। माननीय प्रधान मंत्री जी के भारत के 6 लाख गांवों को 1000 दिनों के भीतर जोड़े जाने के इस मिशन के तहत, रेलटेल ने झारखंड और महाराष्ट्र के साध्य गांवों को कनेक्ट करने के लिए दूरसंचार विभाग को एक प्रस्ताव भेजा है, जो दूरसंचार विभाग में सकारात्मक रूप से विचाराधीन है।

Related Articles

epaper

Latest Articles