spot_img
20.1 C
New Delhi
Friday, December 3, 2021
spot_img

भारतीय रेल का अजूबा स्टेशन, नीचे दौड़ेगी रेल गाडी, ऊपर पांच सितारा होटल

spot_imgspot_img

देश का पहला PPP मॉडल पर बना रेलवे स्टेशन तैयार, दुनिया की सभी सुविधाएं उपलब्ध
–गुजरात का गांधीनगर रेलवे स्टैशन बना आधुनिक, देश के लिए मिसाल बना
–बनारस से गांधीनगर के लिए शुरू होगी ट्रेन, दिल्ली भी जुड़ेगी सीधे

Indradev shukla

नयी दिल्ली/ नेशनल ब्यूरो : देश के पहले पुनर्विकसित आधुनिक रेलवे स्टेशन का लोकार्पण शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। यह स्टेशन गुजरात की राजधानी गांधीनगर में बना है, जिसके ऊपर पांच सितारा होटल भी बनाया गया है। गांधीनगर देश का पहला स्टेशन है जिसे सरकारी निजी साझीदारी (PPP) तर्ज पर विकसित किया गया है। स्टेशन के अलावा गुजरात साइंस सिटी में तीन अन्य परियोजनाओं का भी शुभारंभ प्रधानमंत्री करेंगे।
रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने गुरुवार को यहां पत्रकारों को बताया कि इस स्टेशन को प्रधानमंत्री मोदी की गुजरात जैसे अत्यधिक विकसित राज्य के लिए एक उपयुक्त एवं विश्वस्तरीय कन्वेंशन सेंटर की सोच के अनुरूप महात्मा मंदिर कन्वेंशन सेंटर परिसर के समीप बनाया गया है। गांधीनगर के नवविकसित स्टेशन में टिकटिंग एरिया में लॉबी बहुत खुली जगह होगी। बाहरी दृश्यांकन एवं लैंडस्केपिंग के साथ 28 प्रकार की थीम के साथ थीम आधारित प्रकाशन व्यवस्था होगी। एक विशेष आर्ट गैलरी और एलईडी स्क्रीन वॉल और डिस्प्ले लाउंज होगा। केन्द्रीकृत एसी मल्टीपरपज़ वेटिंग लाउंज, एस्केलेटर एवं लिफ्ट, दिव्यांगों के लिए जनसुविधाएं, वातानुकूलित शिशु स्तनपान कक्ष, अंतरधार्मिक प्रार्थना कक्ष, 500 यात्रियों की क्षमता वाला प्रतीक्षालय होगा। रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म भूमिगत पारपथ से जुड़े होंगे और पार्किंग की पर्याप्त जगह होगी।
रेलवे बोर्ड के मुखिया ने कहा कि गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन से दो यात्री सेवाओं की भी शुरूआत की जा रही है। गांधीनगर से बारास्ता झांसी एवं प्रयागराज, वाराणसी तक एक साप्ताहिक एक्सप्रेस ट्रेन चलायी जाएगी जिसमेें छह वातानुकूलित कोच सहित 16 कोच होंगे। इसके साथ गांधीनगर कैपिटल से वरेठा तक मेमू गाड़ी शुरू की जाएगी जो सप्ताह में छह दिन चला करेगी।

दुनिया भर के राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों, वैज्ञानिकों, शिक्षाविदों आदि की मेजबानी की

सीआरबी शर्मा ने कहा कि महात्मा मंदिर कन्वेंशन सेंटर सम्मेलनों, प्रदर्शनियों और कार्यक्रमों के लिए एक पसंदीदा स्थान बन गया है। ‘द वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल बिजनेस समिट्स जैसे द्वि-वार्षिक आयोजनों के कारण एमएमसीसी की मांग बढ़ी है। एमएमसीसी ने दुनिया भर के राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों, सभासदों, राजदूतों और प्रमुख उद्योगपतियों, वैज्ञानिकों, शिक्षाविदों आदि की मेजबानी की है। हालांकि यहां एकमात्र कमी, महात्मा मंदिर परिसर के समीप ठहरने के लिए उपयुक्त आवास का अभाव था।

Indradev shukla

स्टेशन के ऊपर 318 कमरे वाले पांच सितारा होटल

उन्होंने बताया कि अहमदाबाद सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से सिर्फ 20 मिनट की दूरी पर स्थित यह कन्वेंशन सेंटर, हवाई मार्ग से आने वाले यात्रियों के लिए पहले से ही सुगम था। गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन के विकास एवं उन्नयन के तहत रेल परिसर में ही स्टेशन के ऊपर 318 कमरे वाले पांच सितारा होटल का निर्माण किया गया है। यहां मल्टीप्लेक्स, गेम जोन, फूड कोर्ट, शॉपिंग एरिया आदि के लिए लगभग 7400 वर्गमीटर के वाणिज्यिक विकास की भी संभावना है। इससे एमएमसीसी में होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में प्रतिनिधियों की आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद मिलेगी।
उन्होंने कहा कि पुनर्विकसित स्टेशन और अतिरिक्त ट्रेनों की संभावना के साथ-साथ अहमदाबाद-मोटेरा से महात्मा मंदिर तक वर्ष 2024 की शुरुआत में मेट्रो परिचालन का लक्ष्य पूरा कर लेने और सरखेज-गांधीनगर राजमार्ग के 6 लेन सड़क से जोडऩे के साथ ही इस कनेक्टिविटी को और मजबूत किया जाएगा।

देश में सबसे बड़ी और एशिया में सबसे बड़े एक्वा पार्कों का लोकार्पण होगा

गुजरात सरकार की आवासीय आयुक्त आरती कंवर ने बताया कि प्रधानमंत्री गुजरात साइंस सिटी में एक एक्वैटिक गैलरी, रोबोटिक्स गैलरी और नेचर पार्क का भी लोकार्पण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि करीब 15 हजार 670 वर्ग मीटर क्षेत्र में निर्मित एक्वैटिक गैलरी देश में सबसे बड़ी और एशिया में सबसे बड़े एक्वा पार्कों में से एक होगा। इसमें 68 टैंक होंगे जिनमें जलीय जन्तुओं की 188 प्रजातियां होंगी। इनमें 11693 प्रकार की मछलियां होंगी। परियोजना की लागत 260 करोड़ रुपए होगी। 28 मीटर की शार्क गैलरी एवं 5 डी थियेटर एक प्रमुख आकर्षण होगी। सुश्री कंवर ने कहा कि करीब 11 हजार 512 वर्ग मीटर की रोबोटिक्स गैलरी में 79 प्रकार के 202 रोबोट होंगे। इस गैलरी में एक रोबो रेस्त्रां भी होगा जिसमें रोबोट खाना बनायेंगे और रोबोट वेटर परोसेंगे। इस गैलरी में रोबोट गाइड सैलानियों को सैर कराएंगे। यह बच्चों एवं किशोरों के लिए विशेष रूप से आकर्षण का केन्द्र होगा। उन्होंने बताया कि नेचर पार्क करीब 20 एकड़ जमीन में फैला होगा जिसमें 380 प्रकार के जीव जन्तु होंगे। इसमें बच्चों में खेलने की जगह भी होगी।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img