spot_img
17.1 C
New Delhi
Tuesday, December 7, 2021
spot_img

ऑस्ट्रेलिया बना T20 वर्ल्ड चैंपियन, न्यूजीलैंड का सपना टूटा

spot_imgspot_img

—टी-20 वर्ल्ड कप :न्यूजीलैंड को एकतरफा मुकाबले में आठ विकेट से हराया
—ऑस्ट्रेलिया टी-20 वर्ल्ड कप जीतने वाला छठा देश बन गया

Indradev shukla

दुबई/टीम डिजिटल । ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में न्यूजीलैंड को एकतरफा मुकाबले में आठ विकेट से हराकर पहली बार आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप ट्रॉफी अपने नाम कर ली। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया टी-20 वर्ल्ड कप जीतने वाला छठा देश बन गया है। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए न्यूजीलैंड को चार विकेट पर 172 रन पर रोक दिया और 18.5 ओवर में दो विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। ऑस्ट्रेलिया की टीम ने पहली बार आईसीसी टी20 विश्व कप जीती है। ऑस्ट्रेलिया के लिए मिचेल मार्श ने 50 गेंदों पर छह चौके और चार छक्के लगाए। वॉर्नर ने 38 गेंदों पर चार चौके और तीन छक्के और तीन छक्के लगाए। उनके अलावा ग्लेन मैक्सवेल ने 18 गेंदों पर चार चौके और एक छक्के की मदद से 28 रनों की नॉट आउट पारी खेली।


ऑस्ट्रेलिया से पहले, 2016 में वेस्टइंडीज, 2014 में श्रीलंका, 2012 में वेस्टइंडीज, 2010 में इंग्लैंड, 2009 में पाकिस्तान और 2007 में भारत टी-20 वर्ल्ड कप खिताब जीत चुका है। ऑस्ट्रेलिया के चैंपियन बनते ही टी-20 वर्ल्ड कप को नया चैंपियन मिल गया है और कंगारूओं ने इसके साथ ही 14 साल के अपने टी-20 वर्ल्ड कप के खिताबी सूखे को समाप्त कर दिया है। ऑस्ट्रेलिया अब 11 महीने बाद अपने घर में अपना टी-20 वर्ल्ड कप खिताब बचाएगी। वहीं, न्यूजीलैंड को पिछले छह साल में तीसरी बार आईसीसी टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा है। कीवी टीम को इससे पहले 2015 के वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से और 2019 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में इंग्लैंड से हार का सामना करना पड़ा था।
इससे पहले, कप्तान केन विलियमसन की 48 गेंद में 85 रन की पारी की मदद से न्यूजीलैंड ने चार विकेट पर 172 रन बनाया। पहले बल्लेबाजी के लिये भेजी गई न्यूजीलैंड टीम पहले दस ओवर में रन बनाने के लिये जूझती नजर आई। मार्टिन गुप्टिल ने 35 गेंद में 28 रन बनाए। इसके बाद विलियमसन ने 48 गेंद में 10 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 85 रन बनाकर पारी का नक्शा बदल दिया। न्यूजीलैंड ने आखिरी दस ओवरों में 115 रन बनाकर फाइनल मुकाबले को रोमांचक बनाने की नींव रख दी।

संकटमोचक विलियमसन ने खूबसूरत बल्लेबाजी की

Indradev shukla

अक्सर अपनी टीम के संकटमोचक साबित होने वाले विलियमसन ने बेहद खूबसूरती से बल्लेबाजी करते हुए पहली 16 गेंद में 15 रन बनाए। उस समय एडम जाम्पा किफायती गेंदबाजी कर रहे थे और गुप्टिल फॉर्म में नहीं थे। एक बार लय पकड़ने के बाद विलियमसन ने खुलकर खेला और अगली 32 गेंद में 70 रन बनाए। विलियमसन टी20 विश्व कप फाइनल में सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले कप्तान बन गए जिन्होंने श्रीलंका के कुमार संगकारा को पछाड़ा। उन्होंने 11वें ओवर में मिशेल स्टार्क को 19 रन जड़कर दबाव कम किया। इसी ओवर में जोश हेजलवुड ने उनका कैच भी छोड़ा । स्टार्क आज काफी महंगे साबित हुए जिन्होंने चार ओवर में 60 रन दिय।

न्यूजीलैंड की पारी कप्तान विलियमसन के नाम रही

स्टार्क का दूसरा ओवर जहां खराब रहा तो तीसरा ओवर और भी बदतर था जिसमें न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने चार चौकों और एक छक्के के साथ 24 रन ले डाले। दूसरी ओर हेजलवुड ने चार ओवर में 16 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि जाम्पा ने चार ओवर में 24 रन देकर एक विकेट चटकाया। न्यूजीलैंड की पारी कप्तान विलियमसन के नाम रही जिन्होंने साबित कर दिया कि उन्हें आधुनिक क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में क्यो शुमार किया जाता है। हर प्रारूप में तकनीकी कौशल के साथ संयम बनाये रखकर खेलना उनकी खूबी है और सबसे बड़ी बात यह है कि जरूरत के समय वह हमेशा फॉर्म में होते हैं।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img