spot_img
29.1 C
New Delhi
Monday, July 26, 2021
spot_img

BCCI के घरेलू सत्र के कार्यक्रम में 2100 से ज्यादा मैच, 16 नवंबर से रणजी ट्राफी

—महिलाओं का अंडर-19 और लड़कों का अंडर-19 टूर्नामेंट भी होगा
—27 अक्टूबर से सीनियर महिला एक दिवसीय चैलेंजर ट्रॉफी होगी

नयी दिल्ली /मोक्षिता : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) 2021-22 घरेलू सत्र में प्रतिष्ठित रणजी ट्रॉफी के साथ सभी आयु वर्ग के घरेलू टूर्नामेंटों का आयोजन करेगा। BCCI के कार्यक्रम में मौजूदा सत्र में कुल 2127 मैचों का आयोजन प्रस्तावित है जिसमें रणजी ट्राफी के मैच 16 नवंबर से शुरू होंगे। कोरोना वायरस महामारी के कारण बीसीसीआई को पिछले सत्र में रणजी ट्रॉफी को रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा था और इस दौरान किसी भी आयु वर्ग के टूर्नामेंट का आयोजन नहीं हो पाया था। इस साल हालांकि पूर्ण घरेलू सत्र होगा जिसमें सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्राफी 20 अक्टूबर से शुरू होगी और विजय हजारे ट्रॉफी राष्ट्रीय एकदिवसीय चैंपियनशिप अगले साल 23 फरवरी से खेली जाएगी। बीसीसीआई सचिव जय शाह ने कहा, मौजूदा सत्र 21 सितंबर (2021) से सीनियर महिला एकदिवसीय लीग के साथ शुरू होगा जिसके बाद 27 अक्टूबर 2021 से सीनियर महिला एक दिवसीय चैलेंजर ट्रॉफी आयोजित की जायेगी।सैयद मुश्ताक अली ट्राफी का फाइनल इस साल 12 नवंबर को खेला जाएगा।

प्रतिष्ठित रणजी ट्रॉफी का आयोजन 16 नवंबर 2021 से 19 फरवरी 2022 तक होगा। विजय हजारे ट्राफी का फाइनल 26 मार्च को खेला जाएगा। बयान में कहा गया, बीसीसीआई खिलाडिय़ों और इसमें शामिल सभी लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को सर्वोपरि रखते हुए घरेलू सत्र की मेजबानी करने को लेकर आश्वस्त है । रणजी ट्राफी नौ-नौ टीमों के दो एलीट ग्रुप और सी और प्लेट ग्रुप (मुख्यत: पूर्वोत्तर की टीमें) के साथ खेली जायेगी जिनमें 10-10 टीमें होंगी। उम्मीद है कि एलीट ग्रुप में अंकों के हिसाब से शीर्ष पांच टीमें क्वार्टरफाइनल में जगह बनायेंगी जबकि ग्रुप सी से दो और प्लेट ग्रुप की शीर्ष टीम अंतिम आठ की अन्य टीमें होंगी। विजय हजारे ट्राफी के लिये ग्रुप समान रहेंगे जबकि मुश्ताक अली टी20 के पांच ग्रुप होंगे जिसमें दो ग्रुप सात-सात टीमों के जबकि तीन ग्रुप आठ-आठ टीमों के होंगे। BCCI सितंबर से नवंबर के बीच वीनू मांकड ट्राफी (राष्ट्रीय अंडर-19 एकदिवसीय) और अंडर-19 चैलेंजर्स ट्राफी का आयोजन करायेगा ताकि अगले साल होने वाले आईसीसी अंडर-19 विश्व कप के लिये सफेद गेंद संभावित खिलाडिय़ों का चयन कर सके। तीन दिवसीय कूच बेहार ट्राफी इन दोनों टूर्नामेंट के खत्म होने के बाद ही शुरू होगी।

भारत की अंडर-19 टीम के लिये खिलाडिय़ों का चयन चैलेंजर्स ट्राफी से होगा

BCCI के एक सूत्र ने कहा, भारत की अंडर-19 टीम के लिये कोर संभावित खिलाडिय़ों का चयन वीनू मांकड और इसके बाद होने वाली चैलेंजर्स ट्राफी से होगा। अगर कूच बेहार ट्राफी में कोई बेहद शानदार प्रदर्शन करता है तो उसे बाद में शामिल कर लिया जायेगा। महिलाओं का अंडर-19 और लड़कों का अंडर-19 टूर्नामेंट (विजय मर्चेंट ट्राफी) भी अंडर-23 ग्रुप टूर्नामेंट के साथ इस साल आयोजित किया जायेगा। घरेलू सत्र में 2127 मैच खेले जायेंगे जैसे 2019-20 सत्र में कराये गये थे लेकिन इस सत्र में भी ईरानी कप, दलीप ट्राफी (अंतर-क्षेत्रीय प्रथम श्रेणी) या देवधर ट्राफी नहीं करायी जायेगी।

घरेलू क्रिकेटरों के लिये मैच फीस बढ़ाने का प्रस्ताव

वहीं घरेलू क्रिकेटरों के लिये मैच फीस बढ़ाने का भी एक प्रस्ताव है लेकिन राशि पर अभी फैसला नहीं हुआ है। फिलहाल उन्हें प्रत्येक प्रथम श्रेणी मैच के 1.4 लाख रूपये, लिस्ट ए और टी20 मैचों के 35,000 रूपये मिलते हैं जबकि रिजर्व खिलाडिय़ों को इस राशि का आधा हिस्सा मिलता है। पता चला है कि प्रत्येक दिन की मैच फीस को बढ़ाकर 50,000 से 60,000 रूपये के बीच किया जा सकता है लेकिन इस प्रस्ताव को BCCI की आम सभा की मंजूरी चाहिए।

Related Articles

epaper

Latest Articles