spot_img
29.1 C
New Delhi
Thursday, June 17, 2021
spot_img

दिल्ली में 500 आईसीयू बेड 24 घंटे में होगा शुरू, मिलेगी बडी राहत

—एलएनजेपी के सामने रामलीला मैदान  में  500 आईसीयू बेड जल्द शुरू होंगे
– तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए हमें स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को  बढ़ाना पड़ेगा
– तीसरी लहर में अगर 30 हजार केस भी आते हैं, तो उसे डील करने के लिए तैयार

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीटीबी अस्पताल के पास रामलीला ग्राउंड में बनाए गए 500 आईसीयू बेड का आज दौरा कर तैयारियां का जायजा लिया। सीएम ने कहा कि एक हजार आईसीयू बेड और कई जगह बढ़ाए जा रहे अतिरिक्त ऑक्सीजन बेड के चालू होने के बाद लोगों को आईसीयू और ऑक्सीजन बेड की कमी महसूस नहीं होगी। जीटीबी के पास रामलीला ग्राउंड में 500 आईसीयू बेड कल से चालू हो जाएंगे और एलएनजेपी के सामने बनाए जा रहे 500 आईसीयू बेड दो-तीन में चालू हो जाएंगे। हमारे पास बाहर से आज एक हजार ऑक्सीजन सिलेंडर भी आ जाएंगे। मैं उम्मीद करता हूं कि पीक निकल चुकी है, लेकिन अपनी तरफ से कोई ढिलाई नहीं देना चाहूंगा। सीएम ने कहा कि तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए हमें स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को और बढ़ाना पड़ेगा। हम बड़े स्तर पर इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर रहे हैं। तीसरी लहर में अगर 30 हजार केस भी आते हैं, तो  उसे डील करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के पास तीन-चार दिन की ही वैक्सीन बची है। केंद्र सरकार से निवेदन है कि हमें ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन दी जाए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज जीटीबी अस्पताल के सामने स्थित रामलीला ग्राउंड में बनाए गए 500 आईसीयू बेड का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैंने रामलीला ग्राउंड में बनाए गए 500 आईसीयू बेड का निरीक्षण किया। इस रामलीला ग्राउंड में पिछले 10 दिनों के अंदर यह 500 बेड का आईसीयू तैयार किया गया है। हम जानते हैं कि यह दूसरी लहर कितनी खतरनाक रही है। इससमें बहुत ज्यादा लोग बीमार हुए, काफी ज्यादा मौतें हुईं और बहुत व्यापक पैमाने पर संक्रमण हुआ। इस दौरान हमें आईसीयू बेड की बहुत ज्यादा कमी पड़ गई थी। इसी को ध्यान में रखते हुए यह 500 आईसीयू बेड तैयार किए गए हैं। यह आईसीयू बेड बन कर पूरी तरह तैयार हो गए हैं। अब यहां केवल मॉनिटर आना बाकी है। माॅनिटर भी आज रात तक आ जाएंगे और कल से यह 500 आईसीयू बेड चालू हो जाएंगे। यह आईसीयू बेड जीटीबी अस्पताल से अटैच किए गए हैं।

रामलीला ग्राउंड में 500 ICU बेड पर 22 मीट्रिक टन ऑक्सीजन खर्च होगी

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इसी तरह, एलएनजेपी अस्पताल के सामने भी रामलीला मैदान है। वहां भी 500 आईसीयू बेड 2 या 3 दिन के अंदर चालू हो जाएंगे। मैं समझता हूं कि ये 1000 आईसीयू बेड के एक साथ चालू होने के बाद दिल्ली के लोगों को अब आईसीयू बेड की कमी शायद महसूस नहीं होगी। इसी तरह, हम ऑक्सीजन बेड भी हम बहुत बड़े स्तर पर बढ़ाते जा रहे हैं। आज ही शाम तक 1000 ऑक्सीजन सिलेंडर हमारे पास बाहर से आ रहे हैं और अगले तीन-चार दिन के अंदर काफी सारे ऑक्सीजन सिलेंडर आ रहे हैं। इसके अलावा, हम कई जगहों पर ऑक्सीजन के और नए बेड बना रहे हैं। बीच में कुछ दिनों के लिए जो बेड की कमी महसूस हुई थी, वो बेड की कमी अब नहीं महसूस होगी। जीटीबी के सामने रामलीला ग्राउंड में बनाए गए 500 आईसीयू बेड पर करीब 22 मीट्रिक टन ऑक्सीजन खर्च होगी। इसके लिए ऑक्सीजन के टैंक बाहर लगाए गए हैं। इससे यहां ऑक्सीजन की कमी महसूस नहीं होगी।

तीसरी लहर की संभावना को मद्देनजर तैयारियां करनी चाहिए

सीएम अरविंद केजरीवाल ने संभावित तीसरी लहर के संबंध में कहा कि हमें तीसरी लहर की संभावना को मद्देनजर रखते हुए बिल्कुल तैयारियां करनी चाहिए। इसके लिए हमें अपने स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को और बढ़ाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि नवंबर में दिल्ली के अंदर कोरोना की एक लहर आई थी, जब अधिकतम 8500 केस आए थे। उस लहर को हमने बहुत सफलता पूर्वक बिना किसी समस्या के डील किया, लेकिन यह जो लहर आई है, इसमें अधिकतम 28,000 केस आए हैं। यह संभावनाओं से परे है। इस वजह से पूरा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर तनाव में आ गया था, लेकिन अब हम जिस स्तर पर इंफ्रास्ट्रक्चर बना रहे हैं। हमें इसे बनाने में हफ्ते-दस दिन अवश्य लग गए, लेकिन जिस स्तर पर हम इसे बना रहे हैं, तो अगली लहर में अगर 30 हजार केस भी आते हैं, तब भी हम उसको डील करने के लिए तैयार हैं। सीएम ने लॉकडाउन के संबंध में कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि कोरोना की पीक निकल चुकी है और यह उम्मीद करता हूं कि आने वाले समय में केस और कम होंगे, लेकिन सरकार में होते हुए और दिल्ली का मुख्यमंत्री होते हुए मैं अपनी तरफ से कोई भी ढिलाई नहीं देना चाहूंगा। इसमें कोई कुछ नहीं कर सकता है, लेकिन मैं अपनी तरफ से सारी तैयारियां रखना चाहूंगा कि इत्तिफाक से अगर कल से केस बढ़ने चालू हो जाएं, तो हम तैयार हैं। लोगों की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

दिल्ली के पास तीन-चार दिन की वैक्सीन और बची

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि दिल्ली के पास तीन-चार दिन की वैक्सीन और बची हुई है। तीन-चार दिन की भी उस हिसाब से बची हुई कि आज हम एक से सवा लाख डोज प्रतिदिन दे रहे हैं। हम अगले कुछ दिनों में इसको बढ़ाकर तीन लाख डोज प्रतिदिन तक लेकर जाएंगे। अगर हम तीन लाख डोज प्रतिदिन देते हैं, तो हम एक महीने में 90 लाख डोज दे सकते हैं। इस तरह हम तीन महीने में पूरी दिल्ली को वैक्सीन लगा सकते हैं। सीएम ने कहा कि दुनिया भर में सभी विशेषज्ञों का भी यही मानना है कि यूके और यूएस समेत जहां-जहां भी कोरोना के केस में गिरावट आई है, उसमें वैक्सीन ने बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अगर हम किसी तरह से अपने लोगों को बड़े स्तर पर वैक्सीन लगा देते हैं, तो शायद तीसरी लहर से बचा जा सकता है। दिल्ली में वैक्सीन की आपूर्ति कम है। कंपनियों को हमने ऑर्डर जारी कर दिए हैं, लेकिन केंद्र सरकार इसका आवंटन कर रही है। क्योंकि केंद्र सरकार से हमारे पास चिट्ठी आती है कि आपको इस महीने कितनी वैक्सीन मिलेगी। इसलिए केंद्र सरकार से मेरा निवेदन है कि हमें ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन दी जाए। सीएम ने कहा कि अभी यह समय राजनीति करने का नहीं है। यह समय सबको मिलकर लोगों की सेवा करने का है।

Related Articles

epaper

Latest Articles