14.1 C
New Delhi
Sunday, December 4, 2022

कोरोना से मचा हाहाकार, दिल्ली में बिगड़ रहे हालात

—अस्पतालों में बेड और आक्सीजन की कमी, केंद्र सरकार से दिल्ली ने लगाई गुहार
—केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10 हजार में से 7 हजार बेड कोरोना के लिए किए जाएं
—सीएम केजरीवाल ने गृहमंत्री अमित शाह से की बात, मांगे बेड और आक्सीजन
— दिल्ली सरकार 6 हजार से ज्यादा ऑक्सीजन बेड तैयार कर लेगी जल्द
– कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज, यमुना स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, राधा स्वामी सत्संग ब्यास और स्कूलों में भी बेड लगाए जा रहे

नई दिल्ली /अदिति सिंह : देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना ने हाहाकार मचा रखा है। खुद दिल्ली की सरकार भी बेबस हो गई है। अस्पतालों में कारेाना मरीजों के लिए ना तो बेड बचे हैंं और ना ही मरीजों की जान बचाने के लिए आक्सीजन। नतीजन दिल्ली में पल-पल हालात बिगड़ रहे हैं। राजधानी के बिगडते हालात को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चिंता जताई है। साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डाक्टर हर्षवर्धन से बात की है। केजरीवाल ने केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10 हजार में से 7 हजार बेड कोरोना के लिए सुरक्षित करने की मांग की है, जो अभी केवल 1800 बेड ही सुरक्षित हैं। इसके अलावा दिल्ली ने केंद्र सरकार से आक्सीजन की डिमांड की है। सीएम ने कहा कि दिल्ली सरकार अगले दो-तीन दिनों में 6 हजार से ज्यादा ऑक्सीजन बेड तैयार कर लेगी। कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज, यमुना स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, राधा स्वामी सत्संग ब्यास के अलावा कुछ स्कूलों में भी बेड लगाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने साथ मिल कर कोरोना का सामना करने और कर्फ्यू में सहयोग देने के लिए दिल्लीवासियों के साथ ही कई गैर सरकारी संगठनों, डॉक्टर्स की एनजीओ और धार्मिक संगठन को आगे आकर मदद करने के लिए धन्यवाद दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में केंद्र सरकार के सारे अस्पतालों को मिलाकर के करीब 10 हजार बेड हैं। अभी उसमें से 1800 बेड्स कोरोना के लिए सुरक्षित किए गए हैं। इतनी गंभीर परिस्थिति में 10 हजार में से कम से कम 7 हजार वेट कोरोना के लिए सुरक्षित किए जाएं। दिल्ली में पल-पल पर स्थिति खराब हो रही है, इसलिए 10 हजार में से कम से कम 7 हजार बेड कोरोना के लिए सुरक्षित किए जाएं। साथ ही, ऑक्सीजन की हमें तुरंत आपूर्ति की जाए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली में कोरोना की मौजूदा हालात पर डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी।

24 घंटे में कोरोना के लगभग 25,500 केस आए

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के अंदर पिछले 24 घंटे में कोरोना के लगभग 25,500 केस आए हैं। उसके पिछले 24 घंटे में 24,000 केस आए थे और उसके पिछले 24 घंटे में 19,500 केस आए थे। अभी कोरोना के केस बढ़ने की गति चालू है और केस बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ज्यादा चिंता की बात यह है कि पिछले 24 घंटे में सकारात्मकता दर बढ़ कर करीब 30 फीसद हो गई है, जबकि यह उसके पिछले 24 घंटे में केवल 24 फीसद थी। सकारात्मकता दर पिछले 24 घंटे में 24 फीसद से बढ़कर 30 फीसद हो गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी पूरी दिल्ली का जायजा लिया जाए, तो कोरोना के लिए जो सुरक्षित बेड हैं, वह बेड काफी तेजी से खत्म होते जा रहे हैं। मरीज बहुत तेजी से अस्पतालों में जा रहे हैं। आईसीयू बेड की खासकर कमी हो गई है। पूरी दिल्ली के आईसीयू बेड मिलाकर लगभग 100 से भी कम आईसीयू बेड बचे हुए हैं। ऑक्सीजन की भी काफी कमी है। कल रात एक प्राइवेट अस्पताल ने हमें बताया कि उनके यहां ऑक्सीजन की काफी ज्यादा कमी हो गई थी, जिसकी वजह से त्रासदी होते-होते बची। हम लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में भी हैं। उनसे भी मदद मांग रहे हैं और उनसे हमें मदद मिल भी रही है।

अगले दो-तीन दिनों के अंदर 6 हजार ऑक्सीजन बेड तैयार कर लेंगे

दिल्ली सरकार की तरफ से अगले दो-तीन दिनों के अंदर 6 हजार से ज्यादा ऑक्सीजन बेड हम तैयार कर लेंगे। जैसा कि आईसीयू बेड की कमी है। हम आईसीयू बेड कितने बढ़ा पाएंगे, इस की एक सीमा है। लेकिन देखने आया है कि अधिकतर मरीजों को हाईफ्लो ऑक्सीजन की जरूरत होती है। हम कई सारे अस्पतालों के अंदर हाईफ्लो ऑक्सीजन का इंतजाम कर रहे हैं, ताकि और हाईफ्लो ऑक्सीजन के बेड लगाए जा सकें। हम अगले कुछ दिनों में छह हजार बेड का यमुना स्पोर्ट्स कंपलेक्स और काॅमनवेल्थ गेम विलेज में बेड का इंतजाम कर रहे हैं। राधा स्वामी सत्संग ब्यास में जो पहले था, उसे हम दोबारा चालू कर रहे हैं। कई स्कूलों के अंदर भी बेड लगाए जा रहे हैं और उनको अस्पतालों के साथ अटैच किया जा रहा है।

Related Articles

epaper

Latest Articles