23.6 C
New Delhi
Wednesday, May 12, 2021

दिल्ली में बहुत अधिक ऑक्सीजन की मांग बढ़ी, ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर जोर

— दिल्ली में कोरोना के नियंत्रण को लेकर जगी उम्मीद, संक्रमण दर में आ रही गिरावट

नई दिल्ली/ भारती भडाना : दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोरोना की संक्रमण दर में आ रही गिरावट से दिल्ली में कोविड के काबू में आने को लेकर उम्मीद की एक किरण नजर आई है। चार दिन पहले तक संक्रमण दर 35 फीसद से अधिक थी, जो अब 31.76 फीसद पर आ गई है। दिल्ली के अंदर बहुत अधिक ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है। इसलिए हमारा सबसे अधिक ध्यान ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर है। उन्होंने वैक्सीनेशन को लेकर कहा कि दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी है। कंपनियों से वैक्सीन मिलते ही हम सभी को वैक्सीन लगाना शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि यह राजनीति करने का समय नहीं है। दिल्ली में सब कुछ पारदर्शी है। हम कभी भी कोई बात नहीं छिपाते हैं और आगे भी नहीं छिपाएंगे। दिल्ली के लोगों की भलाई के काम में जो भी अड़चनें आएंगी। हम उसे सकारात्मक लेते हुए अपना काम करेंगे। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने आज दिल्ली में कोरोना के मौजूदा हालात पर जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली में कल 25,986 कोरोना के नए केस आए थे और संक्रमण दर 31.76 फीसद थी।

दिल्ली में पिछले 10 से 12 दिनों से प्रतिदिन 20 हजार से अधिक केस आ रहे हैं। कोरोना के नियंत्रण को लेकर थोड़ी आशा की किरण नजर आई है। चार दिन पहले तक दिल्ली में जो सकारात्मकता दर 35 फीसद से अधिक चल रही थी और ऐसा लग रहा था कि यह दर बढ़ कर 40 से 45 फीसद तक पहुंच जाएगी। लेकिन अब संक्रमण दर थोड़ा कम हो रही है और अब यह 31.76 फीसद है। स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना की मौजूदा हालात को ग्राफ के जरिए समझाते हुए कहा कि पिछले डेढ़ महीने में संक्रमण दर लगातार उपर ही जा रही थी, लेकिन अब यह दर नीचे की ओर आनी शुरू हो रही है। इस वजह से आशा की एक किरण नजर आ रही है और ऐसा लग रहा है कि शायद अब संक्रमण दर धीरे-धीरे कम होगी। स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली में कोरोना की जांच की संख्या कम होने के सवाल पर कहा कि लाॅकडाउन की वजह से टेस्ट कराने के लिए लोग कम आ रहे हैं। पहले हमारे जितने भी अस्पताल और डिस्पेंसरी थे, वहां पर टेस्ट किए जा रहे थे। अब लाॅकडाउन की वजह से वहां पर टेस्ट थोड़ा कम हो गया। लोगों की भीड़ आनी कम हो गई है, इसलिए जांच की संख्या कम लग रही है, अन्यथा जो भी लोग जांच कराने के लिए आ रहे हैं, उन सभी लोगों की जांच की जा रही है।

दिल्ली में वैक्सीनेशन: अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिल्ली में वैक्सीनेशन को लेकर कहा कि अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है। इसके लिए हमने कंपनी से अनुरोध किया है। कंपनी जैसे ही वैक्सीन दे देती है, हम सभी को वेक्सीन लगाएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की तरफ से वैक्सीनेशन को लेकर सभी तैयारियां की जा चुकी हैं, लेकिन उसके लिए वैक्सीन का उपलब्ध होना जरूरी है। अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है। उन्होंने कहा कि यह पता चला है कि वैक्सीन का उत्पादन बहुत अधिक नहीं है। जैसे ही कंपनियां हमें एक सेड्यूल दे देती हैं कि कितनी-कितनी वैक्सीन कब-कब देंगी, तो हम तुरंत वैक्सीनेशन शुरू कर देंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह राजनीति का समय नहीं है। छह माह पहले भी विपक्ष ने शोर मचाया था, जबकि सब कुछ ठीक था। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि पहली बात तो कोई नहीं चाहेगा कि एक भी मौत हो। दूसरी बात यह कि किसके पास अधिकार है। दिल्ली में मृत्यु प्रमाण पत्र किसी का न बन रहा हो, तो बताए। सबका मृत्यु प्रमाण पत्र बन रहा है और उस पर लिखा रहता है कि कोरोना से मौत हुई है। दिल्ली के अंदर सब कुछ पारदर्शी है। हम कभी भी कोई बात नहीं छिपाते हैं और न आगे भी छिपाएंगे।

कोविड केयर सेंटर में बहुत कम लोग जा रहे 

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि इस बार जो कोरोना की लहर आई है, यह पहले की तीन लहर से बिल्कुल अलग है। पहले हमारे कोविड केयर सेंटर में हजारों लोग होते थे, लेकिन इस बार की लहर में जो भी मरीज आ रहे हैं, उनको ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत पड़ रही है। इसलिए कोविड केयर सेंटर में बहुत कम लोग जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार का सबसे अधिक ध्यान ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर है। दिल्ली के अंदर बहुत अधिक ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है। एकदम से यह मांग बढ़ गई है। दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में करीब 19 हजार मरीज भर्ती हैं और उन सभी लोगों को ऑक्सीजन चाहिए। इनके अलावा भी बहुत से लोग हैं, जिनको ऑक्सीजन की आवश्यकता है।

 एलजी को सारी शक्तियां देने के संबंध में कहा कि हम अपना काम करते रहेंगे

स्वास्थ्य मंत्री  सत्येंद्र जैन ने केंद्र सरकार द्वारा एलजी को सारी शक्तियां देने के संबंध में कहा कि हम अपना काम करते रहेंगे। जनता के लिए जो भी हमें करना है, वो सभी काम हम करते रहेंगे। दिल्ली के लोगों की भलाई के काम में जो भी अड़चनें आएंगी, हम उसे सकारात्मक लेते हुए काम करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने शवों को ले जाने वाले वाहनों द्वारा अधिक पैसा वसूलने के सवाल पर कहा कि दिल्ली सरकार जो कैब एंबुलेंस चला रही है, उसमें आज भी कोई दिक्कत नहीं है। कोई भी 102 नंबर डाॅयल कर इसकी सेवा ले सकता है। मुझे लगता है कि दिल्ली के अंदर लोगों को इस तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ रहा होगा। दिल्ली के बाहर जाने वालों को इस तरह की समस्या हो सकती है। इसे भी हम ठीक करेंगे।

Related Articles

epaper

Latest Articles