spot_img
27.1 C
New Delhi
Saturday, September 18, 2021
spot_img

सिरो सर्वे : दिल्ली की 56.13 प्रतिशत आबादी में पाई गई एंटीबाॅडीज

– स्वास्थ्य विभाग ने मौलाना आजाद मेडिकल काॅलेज के साथ मिल कर किया सर्वे
—15 जनवरी से 23 जनवरी तक सिरो सर्वे कर 28 हजार सैंपल लिए
—नार्थ दिल्ली में 49.09%, साउथ ईस्ट में 62.18 % कोरोना की व्यापकता
-यह सिरो सर्वे, देश के अंदर सबसे बड़ा सिरो सर्वे था : सत्येंद्र जैन
– दिल्ली में कोरोना के केस काफी कम हो गए हैं, अभी मास्क लगा कर रखें

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा कराए गए पांचवें सिरो सर्वे की रिपोर्ट आ गई है और रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली की 56.13 प्रतिशत आबादी में एंटीबाॅडीज पाई गई है। स्वास्थ्य विभाग ने मौलाना आजाद मेडिकल काॅलेज के साथ मिल कर 15 जनवरी से 23 जनवरी तक सिरो सर्वे कर 28 हजार सैंपल लिए थे। सत्येंद्र जैन ने बताया कि नार्थ दिल्ली जिले में सबसे कम 49.09 प्रतिशत और साउथ ईस्ट जिले में सबसे ज्यादा 62.18 प्रतिशत कोरोना केस की व्यापकता थी और अब औसतन 56.13 प्रतिशत लोग कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हो चुके हैं। यह सिरो सर्वे, देश के अंदर सबसे बड़ा सिरो सर्वे था। अभी तक किसी भी राज्य ने इतना बड़ा सिरो सर्वे नहीं किया है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिल्ली सचिवालय में कहा कि जनवरी में सिरो सर्वे किया गया था। यह सिरो सर्वे 15 जनवरी से शुरू किया गया था और दिल्ली के अंदर सभी वार्डों में 23 जनवरी तक यह सर्वे किया गया। यह सिरो सर्वे अब तक का सबसे बड़ा सर्वे था।

इस सर्वे में 28 हजार सैंपल लिए गए थे। इसकी रिपोर्ट आ गई है। इस बार जो सिरो सर्वे की रिपोर्ट आई है, उसमें पूरी दिल्ली में 56.13 प्रतिशत लोग पाॅजिटिव पाए गए हैं। इसका मतलब यह है कि 56.13 प्रतिशत लोगों के शरीर में एंटीबाॅडीज पाई गई है। वह लोग कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हो चुके हैं। इन लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में कुल 11 जिले हैं। इसमें नार्थ दिल्ली जिले में सबसे कम कोरोना की व्यापकाता थी। नार्थ दिल्ली जिले में 49.09 प्रतिशत थी और सबसे ज्यादा साउथ ईस्ट जिले के अंदर 62.18 प्रतिशत कोरोना की व्यापकता थी। इसे हम दूसरी तरह से कह सकते हैं कि 49 प्रतिशत से लेकर 62 प्रतिशत तक दिल्ली में लोगों के अंदर एंटीबॉडीज पाई गई हैं और औसतन 56.13 प्रतिशत लोग कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हो चुके हैं। यह सिरो सर्वे देश के अंदर सबसे बड़ा सिरो सर्वे था। अभी तक किसी भी राज्य ने इतना बड़ा सिरो सर्वे नहीं किया है। इस सर्वे को करने के लिए हमारे स्वास्थ्य विभाग ने दिन रात काम किया। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जो पिछला सिरो सर्वे किया गया था, उसमें करीब 25 से 26 प्रतिशत लोगों में पॉजिटिव यानि एंटीबाॅडीज पाई गई थी।

यह पांचवां सिरो सर्वे था, कोरोना के केस काफी कम हो गए

यह पांचवां सिरो सर्वे था। अब दिल्ली के अंदर कोरोना के केस काफी कम हो गए हैं। पिछले 10-12 दिनों से लगातार 200 से कम केस आ रहे हैं और पॉजिटिविटी दर जो एक समय 15 प्रतिशत पर चली गई थी, वह अब घटकर पिछले एक महीने से 1 प्रतिशत से भी कम है। फिर भी मैं दिल्ली के लोगों से कहना चाहूंगा कि पॉजिटिविटी दर कम है, केस भी बहुत कम है, हॉस्पिटल में मरीज भी बहुत कम भर्ती हो रहे है। इसके बावजूद भी मास्क जरूर लगा कर रखें और कोरोना के सभी नियमों का पालन जरूर करें। पिछले दो-तीन महीने में दिल्ली की जनता ने बहुत ज्यादा सहयोग किया है। सभी लोगों ने बहुत मेहनत भी की है। सड़क पर अब सभी लोग मास्क लगाकर निकलते हैं। अभी कुछ महीने और मास्क लगाने की जरूरत है और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की आवश्यकता है। मुझे लगता है कि हम सब लोग मिलकर इस महामारी पर नियंत्रण पा सकेंगे।

सिरो सर्वे में हर वार्ड से 100 सैंपल लिए गए

डीजीएचएस की निदेशक डा. नूतन मुंडेजा बताया कि हमने यह सर्वे मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के साथ मिलकर किया है, जिसमें हमारे सभी जिला स्तरीय अधिकारियों ने हमारे साथ सहयोग दिया। इस सर्वे हमने एक नई टेक्नोलॉजी जो सीएलआईए तकनीक है, उसका उपयोग किया। यह तकनीक ज्यादा संवेदनशील है। सभी सैंपल हमने आईएलबीएस में करवाए हैं। हमने सभी वार्डों में से वहां की हर तरह की आबादी से सैंपल उठाए हैं और हमने हर वार्ड से 100 सैंपल उठाने का प्रयास किया है और इसमें हम कामयाब भी रहे हैं। हमने सभी वार्डों से कुल 28 हजार सैंपल लिए थे।

Related Articles

epaper

Latest Articles