37.5 C
New Delhi
Monday, May 23, 2022

हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने गृहमंत्री अमित शाह से की मुलाकात

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज यहां गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर हरियाणा राज्य की युवा नीति के संदर्भ में अवगत करवाया। इसके अलावा हरियाणा राज्य की विभिन्न विकास परियोजनाओं के संदर्भ में भी चर्चा की। राज्यपाल ने बताया कि हरियाणा राज्य की युवा नीति के अंतर्गत युवाओं को सामाजिक जागरूकता व नशामुक्ति जैसे अभियानों से जोड़ा गया है। हरियाणा राज्य को नशामुक्त बनाए जाने की दिशा में युवाओं की सक्रिय भागीदारी के लिए कार्य किया जा रहा है। राज्य में महिला सशक्तिकरण की दिशा में किए जा रहे कार्यों बारे भी चर्चा की गई।
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने हरियाणा के बजट सत्र के संदर्भ में गृह मंत्री अमित शाह से चर्चा की। राज्य में वित्तीय वर्ष 2022- 2023 के बजट में 1.77 लाख करोड़ रूपये अधिक का प्रावधान है, जो गत वर्ष की अपेक्षा 15.6 प्रतिशत अधिक है। इस मौके पर नामुमक्ति के संदर्भ में हरियाणा के राज्यपाल ने चर्चा करते हुए हरियाणा,पंजाब, हिमाचल,जम्मू एवं कश्मीर व चंडीगढ की एक बैठक किए जाने का सुझाव भी दिया।

– हरियाणा की युवा नीति के संदर्भ में अवगत कराया
-हरियाणा को नशा मुक्त बनाने के लिए युवाओं की सक्रिय भागीदारी
-राज्य के बजट, महिला सशक्तिकरण सहित सभी मुददों पर की चर्चा

बता दें कि राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय दिल्ली दौरे पर हैं और इससे परले उन्होंने उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू से मुलाकात कर हरियाणा राज्य में शिक्षा क्षेत्र में हुई उन्नति व भविष्य के लक्ष्यों के संदर्भ में चर्चा की। मुलाकात के दौरान बताया कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों ने गुणवत्ता के मानक प्राप्त किए हैं। सभी विश्वविद्यालयों में इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित किए गए हैं। पाँच राजकीय महाविद्यालयों में भी इन्क्यूबेशन केंद्र स्थापित किये गए हैं। रोजगारोन्मुखी शिक्षा की दिशा में देश का पहला कौशल विकास विश्वविद्यालय नामत: श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय’ भी हरियाणा द्वारा स्थापित किया गया है। हरियाणा में 138 ने नए राज्य मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय प्रारंभ किए गए हैं। राज्य में उत्कृष्टता केंद्रों के रूप में 1418 राज्य मॉडल संस्कृति प्राथमिक विद्यालय स्थापित किए गए हैं।

महिला सशक्तिकरण पर सरकार का विशेष फोकस

महिला सशक्तिकरण व सुरक्षा कार्यक्रमों की बावत प्रदेश में वित्तीय वर्ष 2021-22 में 3884 स्वयं सहायता समूहों को 3.88 करोड़ रुपये का रिवॉल्विंग फण्ड उपलब्ध करवाया गया। महिलाओं के लिए व्यक्तिगत ऋण योजना के अंतर्गत सब्सिडी की दर 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत की गई है। स्टार्ट-अप ग्राम उद्यमशीलता कार्यक्रम में 1238 स्वयं सहायता समूह महिला उद्यमों का गठन किया गया है। उद्यम स्थापित करने के लिए 5 करोड़ 25 लाख रुपये वित्तीय सहायता दी गई है। पंचायतीराज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व देने का निर्णय लिया गया है। राज्यपाल ने बताया कि हरियाणा में 12 वर्ष से 14 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों को कोविड टीकाकरण प्रारंभ किया गया है।

Related Articles

epaper

Latest Articles