25.6 C
New Delhi
Wednesday, May 12, 2021

राउरकेला की ‘संजीवनीे’ से ठीक होंगे हरियाणा के लाखों कोविड मरीज

–हरियाणा को मिलेंगे 5 कंटेनर आक्सीजन, खाली कंटेर भेजा
–कोविड पीडि़तों की ‘सांसे’ पहुंचाने को रेलवे ने बढ़ाई स्पीड
–ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने यूपी, महाराष्ट्र, दिल्ली और मध्य प्रदेश में अब तक 510 मीट्रिक टन ऑक्सीजन पहुंचाई

नई दिल्ली /अदिति सिंह : कोरोना महामारी में भारतीय रेल इस बार भी सबसे आगे पूरी रफ्तार के साथ लोगों की जान बचाने के लिए फर्राटे से दौड़ रही है। यात्रियों को उनकी मंजिल पर पहुंचाने एवं सामानों को एक दूसरी जगह तक तक पहुंचाने के साथ ही अब कोरोना पीडि़त लोगों की सांसे पहुंचाने में दिन-रात एक कर दिया है। अब तक, 510 मीट्रिक टन से अधिक तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और दिल्ली में पहुंचाई गई है। दिल्ली से सटे हरियाणा सरकार ने भी ऑक्सीजन एक्सप्रेस के लिए भारतीय रेलवे से डिमांड की है। वर्तमान में, खाली टैंकर फरीदाबाद में लोड किए गए हैं, जिन्हें राउरकेला में भरने के लिए भेजा जा रहा है। अब तक की योजना के अनुसार प्रत्येक 5 टैंकरों की क्षमता वाली 2 ऑक्सीजन एक्सप्रेस विशेष रूप से हरियाणा के लिए चलाई जाएगी।
मध्य प्रदेश ने आज सुबह 64 मीट्रिक टन से अधिक तरल चिकित्सा ऑक्सीजन के साथ अपनी पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस प्राप्त की है। मध्य प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर इन टैंकरों को उतारा गया। इनमें जबलपुर में 1 टैंकर, भोपाल में 2 टैंकर और सागर में 3 टैंकर उतारे गए हैं। इसी प्रकार लखनऊ के लिए चौथी ऑक्सीजन एक्सप्रेस जल्द एलएमओ के तीन टैंकरों को लेकर लखनऊ पहुंचेगी। एक और खाली रैक (छठा) लखनऊ से बोकारो के रास्ते में है, जो उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाले ऑक्सीजन टैंकर का एक और सेट लाएगा। ऑक्सीजन एक्सप्रेस उत्तर प्रदेश को निरंतर राज्य के निवासियों के लिए निर्बाध ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित कर रही है।
रेल मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक भारतीय रेलवे ने अब तक उत्तर प्रदेश को 202 मीट्रिक टन, महाराष्ट्र को 174 मीट्रिक टन, दिल्ली को 70 मीट्रिक टन और मध्य प्रदेश को 64 मीट्रिक टन तरल ऑक्सीजन पहुंचाई है।

Related Articles

epaper

Latest Articles