spot_img
27.1 C
New Delhi
Wednesday, September 29, 2021
spot_img

MP : टीकाकरण के महाअभियान में एक दिन में लगाया जाएगा 10 लाख व्यक्तियों को टीका

— मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम दिया संदेश, की अपील
—कोरोना के खिलाफ सबसे प्रभावी अस्त्र है कोरोना वैक्सीन
—स्वयं टीका लगवाइए, दूसरों को भी प्रेरित कीजिए

नई दिल्‍ली /खुशबू पाण्डेय: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता के नाम अपने संदेश में कहा है कि वैक्सीन कोरोना महामारी के विरूद्ध सबसे प्रभावी अस्त्र है। जो व्यक्ति वैक्सीन के दोनों डोज़ लगवा लेते हैं या तो उन्हें कोरोना होगा ही नहीं, और यदि हुआ भी तो जल्दी ठीक हो जाएगा। यह दुनियाभर के वैज्ञानिकों एवं विशेषज्ञों द्वारा प्रमाणित है। वैक्सीन को लेकर किसी प्रकार के भ्रम में न रहें तथा नियत समय अवधि में वैक्सीन के दोनों डोज़ लगवाएं। स्वयं भी वैक्सीन लगवाएं तथा दूसरों को भी वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करें।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 21 जून को प्रात: 10 बजे से प्रदेश में टीकाकरण का महाअभियान प्रारंभ किया जा रहा है। प्रदेश में टीकाकरण के लिए बनाए गए 7 हजार केन्द्रों पर पहले दिन ही 10 लाख से अधिक व्यक्तियों को वैक्सीन लगाए जाने का लक्ष्य रखा गया है। जून महीने में 50 लाख से अधिक व्यक्तियों को कोरोना वैक्सीन लगाया जाएगा तथा इस साल के अंत तक प्रदेश के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगवाकर सुरक्षित कर दिया जाएगा। वैक्सीनेशन सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।


मुख्यमंत्री चौहान ने समाज के प्रबुद्धजनों, जनप्रतिनिधियों, समाजसेवकों, धर्मगुरूओं सहित समाज के सभी वर्गों से अपील की है कि वे लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। वे टीकाकरण केन्द्र पर जाकर प्रेरक का काम करें। नौजवान घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीन के लिए निमंत्रित करें तथा उन्हें टीकाकरण केन्द्रों पर लाने में सहायता करें। साथ ही टीकाकरण केन्द्रों पर व्यवस्था बनाने में भी सहयोग दें।

यह भी पढें…कश्मीर घाटी के सभी रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई शुरू, यात्रियों केा फ्री सुविधा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर लगभग समाप्त हो गई है। प्रदेश में प्रतिदिन 75 से 80 हजार टैस्ट किए जा रहे हैं, जिनमें लगभग 110 कोरोना पॉजीटिव प्रतिदिन निकल रहे हैं। प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट 0.15% हो गई है तथा रिकवरी रेट 99% तक पहुंच गई है। एक्टिव प्रकरणों की संख्या 2400 रह गई है।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यद्यपि कोरोना संक्रमण लगभग समाप्त हो गया है, बाजार खुल गए हैं, जनजीवन सामान्य हो चला है तथा आर्थिक गतिविधियां बढ़ रही हैं, परंतु वायरस अभी मौजूद है, संकट टला नहीं है। किसी भी स्थिति में निश्चिंत न रहें। दुनिया के कई देशों में तीसरी लहर तथा कहीं-कहीं तो चौथी लहर भी आ चुकी है। ऐसे में पूर्ण सतर्क रहनेक की आवश्यकता है।

यह भी पढें…कोरोना वैक्सीनेशन के लिए ‘जान है तो जहान है ‘ बताएंगे धर्मगुरू

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य अपने हाथों में लेने के लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का हृदय से अभिनंदन करता हूँ। भारत में वैक्सीनेशन का अभियान बिखर सा गया था। राज्य सरकारों द्वारा मांग किए जाने पर केन्द्र सरकार द्वारा वैक्सीनेशन अभियान अपने हाथों में लिया गया। अब पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की उपलब्धता है तथा आगे भी वैक्सीन निरंतर उपलब्ध होता रहेगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना नियंत्रण के मुख्य रूप से तीन उपाय हैं। पहला सरकार द्वारा व्यवस्थाएं किए जाना, दूसरा आप सभी के द्वारा कोरोना अनुकूल व्यवहार किए जाने तथा तीसरा वैक्सील लगवाना। सरकार तीसरी लहर को रोकने तथा उससे लड़ने की सारी व्यवस्थाएं कर रही है। अधिक से अधिक टैस्ट किए जा रहे हैं, जो पॉजीटिव आ रहे हैं उन्हें आयसोलेट कर उनका इलाज किया जा रहा है, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है तथा जहां संक्रमण हैं वहां माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र बनाए जा रहे हैं। अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है, ऑक्सीजन की व्यवस्था, दवाओं की व्यवस्था की जा रही है। स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक से अधिक सुदृढ़ किया जा रहा है।

Related Articles

epaper

Latest Articles