spot_img
28.1 C
New Delhi
Friday, October 22, 2021
spot_img

हरसिमरत कौर बादल पहुंची लखीमपुर खीरी, पीड़ितों को लगाया गले

—केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को तत्काल बर्खास्त करने का दबाव
—मंत्री के बेटे आशीष को गिरफ्तार किया जाए, अकाली दल ने की मुलाकात
—अकाली नेता मारे गए किसानों और पत्रकार के घर भी पहुंचे
—एसजीपीसी ने प्रत्येक पीड़ित परिवार को 5 लाख रूपये प्रदान किए

नई दिल्ली/लखीमपुर खीरी : शिरोमणी अकाली दल ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को उनके बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के अलावा तत्काल बर्खास्त करने की मांग की है। यह मांग लखीमपुर खीरी जिले पूर्व केंद्रीय मंत्री सरदारनी हरसिमरत कौर बादल द्वारा लखनऊ में की गई जब पार्टी का प्रतिनिधिमंडल जिसमें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में बलविंदर सिंह भूंदड़, प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा, बीबी जागीर कौर, बिक्रम सिंह मजीठिया और मनप्रीत अयाली समेत चारो किसानों के घर दौरा करने के बाद की गई। सरदारनी हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि यह निंदनीय है कि मंत्री के बेटे आशीष ने किसानों को उस समय कुचल दिया जब उनके पिता अजय मिश्रा ने किसानों को चेतावनी दी थी कि वे कोई विरोध प्रदर्शन न करें यां फिर हालात का सामना करने के लिए तैयार रहे। सरदारनी बादल ने कहा कि यह निंदनीय है कि इस जघन्य मामले में केंद्र सरकार यां उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस मामले में स्पष्ट सबूतों के बावजूद कोई कार्रवाई नही की गई है। आशीष मिश्रा के वाहन का वीडियो फुटेज उपलब्ध है। चश्मदीद गवाह बताते हैं कि आशीष मिश्रा किसानों को कुचलने के बाद तुरंत घटनास्थल से भाग गए। उसे हत्या के आरोप में तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
सरदारनी बादल ने कहा कि इसी तरह केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा किसानों को धमकी देने और यहां तक कि उनके खिलाफ हिंसा की वीडियो उपलब्ध है। उन्होने कहा उनहे केंद्रीय मंत्रिमंडल में रखना गलत है और केंद्र सरकार को उनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए।


इस बीच शिरोमणी अकाली दल के प्रतिनिधिमंडल ने भाजपा मंत्री के बेटे के साथ ही मारे गए पत्रकार के साथ साथ चारों किसानों के घर गए। प्रतिनिधिमंडल चैखरा गांव में लवप्रीत सिंह के घर, नामदर पूर्व में नछतर सिंह के घर, वंजारन टांडा में दलजीत सिंह, मोहरनिया में गुरविंदर सिंह तथा निघासन गांव में पत्रकार रमन कश्यप के घर गए ।

SGPC ने प्रत्येक पीड़ित परिवार को पांच लाख रूपये का चैक सौंपा

एसजीपीसी अध्यक्ष बीबी जागीर कौर ने प्रत्येक पीड़ित परिवार को पांच लाख रूपये का चैक सौंपा तथा आश्वासन दिया कि शिरोमणी कमेटी पीड़ितों के परिजनों की शिक्षा का ध्यान रखेगी। पीड़ित परिवारों को दरबार साहिब से प्रसाद और सिरोपा भेंट किया गया, बीबी जागीर कौर ने दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए ‘अरदास’ की।
पीड़ित परिवार बेहद भावुक हो गए। उनके परिवार के सदस्यों ने कहा कि वे कभी सोच भी नही सकते थे कि कोई इस तरह से शांतिपूर्ण विरोध कर रहे निर्दोष किसानों को इस तरह से कुचल सकता है। परिजनों ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अभी भी इस मामले में कोई कार्रवाई शुरू नही की है। उन्होने कहा कि अपराधी स्थानीय है तथा उनकी पहचान कर ली गई है, लेकिन उन्हे गिरफ्तार नही किया गया है। उन्होने कहा कि पुलिस ने आशीष को भागने का पर्याप्त समय दिया तथा भाजपा मंत्री का बेटा नेपाल फरार हो गया था। वहां मौजूद पंजाबियों ने कहा कि आशीष एक गुडा है तथा वे किसानों द्वारा शांतिपूर्ण विरोध से चिढ़ने लगे थे। उन्होने कहा कि किसानों की हत्या की पूर्व योजना बनाई गई थी क्योंकि आशीष ने किसानों को कुचलने से पहले असला तथा गुंडों को इकटठा किया था।

Related Articles

epaper

Latest Articles