spot_img
17.1 C
New Delhi
Tuesday, December 7, 2021
spot_img

खेल मंत्रालय ने 2020 राष्ट्रीय खेल पुरस्कार विजेताओं को ट्रॉफी सौंपी

spot_imgspot_img
Indradev shukla

नयी दिल्ली /अदिति सिंह : खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 2020 के विजेताओं को सोमवार को ट्रॉफी सौंपी क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण पिछले साल पुरस्कार समारोह का आनलाइन आयोजन किया गया था। राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 2020 के विजेताओं को पहले ही नकद पुरस्कार दिया जा चुका था लेकिन महामारी के कारण वे अपनी ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र नहीं ले पाए थे। खेल मंत्रालय ने पिछले साल 29 अगस्त को 74 राष्ट्रीय खेल पुरस्कार दिए थे जिसमें पांच राजीव गांधी खेल रत्न (अब नाम परिर्वितत करके मेजर ध्यानचंद खेल रत्मन किया गया) और 27 अर्जुन पुरस्कार शामिल थे। शहर के होटल में सोमवार को समारोह में हिस्सा लेने वाले पुरस्कार विजेताओं में महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल, स्टार पहलवान विनेश फोगाट और 2016 पैरालंपिक के स्वर्ण पदक विजेता मरियप्पन थंगावेलु आदि शामिल थे जिन्हें प्रतिष्ठित खेल रत्न पुरस्कार दिया गया।

Indradev shukla

तोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन, क्रिकेटर इशांत शर्मा, धाविका दुती चंद, तीरंदाज अतनु दास ओर बैडमिंटन खिलाड़ी सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी अर्जुन पुरस्कार ट्रॉफी लेने वालों में शामिल रहे। ठाकुर ने समारोह के दौरान कहा, राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रतिष्ठित पुरस्कार हैं जिन्हें खिलाड़ी वर्षों के समर्पण और कड़ी मेहनत के बाद हासिल करते हैं। सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई और भविष्य की योजनाओं के लिए शुभकामनाएं। पुरस्कार विजेताओं की यात्रा यहीं समाप्त नहीं होगी तथा और अधिक उपलब्धियां हासिल होगी। उन्होंने कहा, हमें प्रतिभावान खिलाडिय़ों की खोज, उन्हें निखारने की प्रक्रिया जारी रखनी चाहिए और उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने में सक्षम बनाना चाहिए। इसलिए मैं सभी खिलाडिय़ों से आग्रह करता हूं कि वे ऐसे पांच खिलाडिय़ों को निखारने और ट्रेङ्क्षनग देने की शपथ लें जो भविष्य में भारत के लिए पदक जीत सकते हैं। समारोह में खेल सचिव सुजाता चतुर्वेदी, युवा मामलों की सचिव उषा शर्मा और मंत्रालय तथा भारतीय खेल प्राधिकरण के शीर्ष अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया। राष्ट्रीय खेल

पुरस्कार 2020 के विजेताओं की सूची
खेल रत्न पुरस्कार: रोहित शर्मा (क्रिकेट), मरियप्पन थंगावेलु (पैरा एथलेटिक्स), मनिका बत्रा (टेबल टेनिस), विनेश फोगाट (कुश्ती), रानी रामपाल (हॉकी)। अर्जुन पुरस्कार: अतनु दास (तीरंदाजी), दुती चंद (एथलेटिक्स), सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी (बैडमिंटन), चिराग शेट्टी (बैडमिंटन), विशेष भृगुवंशी (बास्केटबॉल), मनीष कौशिक (मुक्केबाजी), लवलीना बोरगोहेन (मुक्केबाजी), इशांत शर्मा (क्रिकेट), दीप्ति शर्मा (क्रिकेट), सावंत अजय अनंत (घुड़सवारी), संदेश ङ्क्षझगन (फुटबॉल), अदिति अशोक (गोल्फ), आकाशदीप सिंह (हॉकी), दीपिका (हॉकी), दीपक (कबड्डी), काले सारिका सुधाकर (खो खो)), दत्तू बबन भोकानल (रोइंग), मनु भाकर (निशानेबाजी), सौरभ चौधरी (निशानेबाजी), मधुरिका पाटकर (टेबल टेनिस), दिविज शरण (टेनिस), शिवा केशवन (शीतकालीन खेल), दिव्या काकरान (कुश्ती), राहुल अवारे (कुश्ती), सुयश नारायण जाधव (पैरा तैराकी), संदीप (पैरा एथलेटिक्स), मनीष नरवाल (पैरा निशानेबाजी)। द्रोणाचार्य पुरस्कार (जीवन पर्यंत उपलब्धि श्रेणी): धर्मेंद्र तिवारी (तीरंदाजी), पुरुषोत्तम राय (एथलेटिक्स), शिव ङ्क्षसह (मुक्केबाजी), रोमेश पठानिया (हॉकी), कृष्ण कुमार हुड्डा (कबड्डी), विजय भालचंद्र मुनीश्वर (पैरा पावरलिङ्क्षफ्टग), नरेश कुमार (टेनिस), ओम प्रकाश दहिया (कुश्ती)। द्रोणाचार्य पुरस्कार (नियमित श्रेणी): जूड फेलिक्स (हॉकी), योगेश मालवीय (मल्लखंभ), जसपाल राणा (निशानेबाजी), कुलदीप कुमार हांडू (वुशु), गौरव खन्ना (पैरा बैडमिंटन)। ध्यानचंद पुरस्कार: कुलदीप सिंह भुल्लर (एथलेटिक्स), जिन्सी फिलिप्स (एथलेटिक्स), प्रदीप श्रीकृष्ण गांधे (बैडमिंटन), तृप्ति मुरगुंडे (बैडमिंटन), एन उषा (मुक्केबाजी), लाखा सिंह (मुक्केबाजी), सुखविंदर सिंह संधू (फुटबॉल), अजीत सिंह (हॉकी), मनप्रीत सिंह (कबड्डी), जे रंजीत कुमार (पैरा एथलेटिक्स), सत्यप्रकाश तिवारी (पैरा बैडमिंटन), मनजीत सिंह (रोइंग), स्वर्गीय सचिन नाग (तैराकी), नंदन बल (टेनिस), नेत्रपाल हुड्डा (कुश्ती)। तेनङ्क्षजग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार: अनीता देवी (भूमि साहस), कर्नल सरफराज ङ्क्षसह (भूमि साहस), टका तामुत (भूमि साहस), केवल हिरेन कक्का (भूमि साहस), सतेंद्र ङ्क्षसह (जल साहस), गजानंद यादव (वायु साहस), स्वर्गीय मगन बिस्सा (जीवन पर्यंत उपलब्धि)। मौलाना अबुल कलाम आजाद (माका) ट्रॉफी: पंजाब विश्वविद्यालय,

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार:
नवोदित और युवा प्रतिभा की पहचान और निखारना: लक्ष्य संस्थान, सेना खेल संस्थान। कारपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के माध्यम से खेलों को प्रोत्साहन: तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) लिमिटेड। खिलाडिय़ों को रोजगार और खेल कल्याण के उपाय: वायु सेना खेल नियंत्रण बोर्ड। खेल विकास के लिए: अंतरराष्ट्रीय खेल प्रबंधन संस्थान (आईआईएसएम)।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img