spot_img
26.1 C
New Delhi
Saturday, July 31, 2021
spot_img

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने काशी में किया मिशन-2022 का आगाज

—मेरा बूथ-सबसे मजबूत अभियान के तहत कार्यकर्ताओं का किया आहवान
—चुनाव तैयारी में जुटने की अपील कहा, अभी भी देश में मोदी लहर
—अब कार्यकर्ता मोदी और योगी की योजनाओं को घर-घर जाकर प्रचार-प्रसार करें

(सुरेश गांधी)
वाराणसी/ टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 भले ही अभी दूर हो, लेकिन सियायी पार्टियां अभी से अपने किले मजबूत करने में जुट गए हैं। इसी कड़ी में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा दो दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुंचे हैं। हरहुआ स्थित गोकुल धाम में भाजपा के संगठनात्मक बैठक को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा ने ’मेरा बूथ-सबसे मजबूत’ अभियान संकल्प को दोहराते हुए कहा कि देश में अभी भी मोदी लहर चरम पर है। गुजरात निकाय चुनाव परिणाम इसका ताजा उदाहरण है।
इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा, प्रदेश सह संगठन मंत्री भवानी सिंह, स्टांप शुल्क रजिस्टर पंजीयन मंत्री रवीन्द्र जायसवाल, काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव ने उन्हें स्मृति चिन्ह प्रदान कर स्वागत किया। कार्यक्रम की शुरुआत में वंदे मातरम के जयघोष के बीच दीप प्रज्जवलन व पुष्प अर्पित कर किया।

इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं से केरल, पश्चिम बंगाल सहित अन्य राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों का हवाला देते हुए मिशन 2022 यूपी के जीत का मंत्र दिया। कहा, अगले वर्ष उत्तर प्रदेश में भी चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में पार्टी के निचले कार्यकर्ता से लेकर के और मेरी राष्ट्रीय अध्यक्ष की भी भूमिका बढ़ जाती है। आयोजन का मकसद पूर्वांचल में बड़ी जीत का है। इसमें पंचायत चुनाव को आधार बनाकर मिशन 2022 की जीत तय करने पर मंथन किया जा रहा है।
जेपी नड्डा ने कहा कि हमें बूथ लेवल पर फिर से काम करने की आवश्यकता है। हर कार्यकरता अपने बूथ को मजबूत करने में जुट जाए। बूथ की जीत विधानसभा की जीत होगी।

मिशन 2022 में हमें जमीनी रूप से काम करनाा होगा

मिशन 2022 में हमें जमीनी रूप से काम करनाा होगा। पिछले 4 सालों में प्रदेश सरकार और 6 साल की केंद्र की मोदी सरकार ने जन कल्याणकारी नीतियों को लागू किया है। इससे शोषित, वंचित और निचले पायदान पर खड़े लोगों में इन योजना से बलदाव आया है। अब कार्यकर्ताओं जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि इन योजनाओं का घर-घर जाकर प्रचार-प्रसार करें। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन लोगों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाया है। उनकी पहचान करें और उन्हें योजनाओं का लाभ दिलाएं। साथ ही लाभार्थियों के बारे में लोगों को बताएं कि कैसे सरकार की योजनाओं से उनके जीवन में बदलाव आया है।
स्मृति ईरानी ने गुलगप्पे वाले को दिया ईनाम
वाराणसी के दौरे पर पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बनारसी चाट और गोलगप्पे की दीवानी हो गयी है। उन्होंने बनारसी चाट और गोलगप्पे के मजे लिए। वह इसे खाकर इतनी खुश हुईं कि दुकानदार को ईनाम भी दिया।

Related Articles

epaper

Latest Articles