37.5 C
New Delhi
Monday, May 23, 2022

CM योगी का हुक्म, सभी अधिकारी अपनी तैनाती के क्षेत्र में ही रात्रि प्रवास करें

लखनऊ /अदिति सिंह : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मण्डल, जनपद, तहसील एवं ब्लॉक स्तर के अधिकारियों के साथ विकास कार्यों, कानून-व्यवस्था और अन्य विषयों के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की जनता को शासन की नीतियों का समुचित लाभ दिलाने, राज्य के समग्र विकास और प्रदेश की छवि बदलने में फील्ड में तैनात अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। विगत 05 वर्षों में हमने अनेक चुनौतियों का सामना किया है। हमें एक बीमारू प्रदेश मिला था, स्थिति बिगड़ी हुई थी, अराजकता थी, दंगों की संस्कृति थी। टीम यूपी ने लगातार प्रयास कर एक नई कार्यसंस्कृति तैयार किया। हमने साबित किया कि उत्तर प्रदेश दंगामुक्त हो सकता है। साम्प्रदायिक सौहार्द का उदाहरण बन सकता है। यह बड़ी उपलब्धि है।

—मुख्यमंत्री योगी ने दिया यूपी के सभी जिलों को निर्देश
—तहसील दिवस, थाना दिवस एवं ब्लॉक दिवस का आयोजन अनिवार्य
—महिला व बाल यौन उत्पीड़न से जुड़े अपराध में संवेदनशीलता बरती जाए
—स्कूल चलो अभियान में एक भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रहे

मुख्यमंत्री  ने कहा कि विगत दिनों रामनवमी के पर्व पर जिस प्रकार शांति और सौहार्द का माहौल रहा, वह नए उत्तर प्रदेश की पहचान बन रहा है। हालांकि कुछ अराजक तत्वों/संगठनों ने हनुमत जयंती पर कुछ गड़बड़ी की कोशिश की थी, उन्हें यथोचित जवाब दे दिया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आस्था का पूरा सम्मान है। इसमें सरकार का कोई हस्तक्षेप नहीं है, लेकिन इसका सार्वजनिक रूप से भौंड़ा प्रदर्शन कर दूसरों को परेशान किया जाए, यह स्वीकार्य नहीं है। आगामी 03 मई को अक्षय तृतीया और ईद का पर्व एक साथ सम्भावित है। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की अतिरिक्त संवेदनशीलता अपेक्षित है। पर्व एवं त्योहारों के दृष्टिगत साफ-सफाई, पेयजल व विद्युत आपूर्ति सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करायी जाएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लोकतंत्र में संवाद का बड़ा महत्व है। संवाद के माध्यम से ही हमने अनावश्यक रूप से लगाए गए लाउडस्पीकर को हटाने में सफलता पायी है। लाउडस्पीकर की आवाज सम्बन्धित परिसर के भीतर ही रहेगी, सौहार्द के साथ हमने यह करके उदाहरण प्रस्तुत किया है। ऐसे में सभी धर्मगुरुओं और प्रबुद्ध जनों से संवाद बनाने का क्रम जारी रहे। लाउडस्पीकर के प्रयोग के लिए जो दिशा-निर्देश दिए गए हैं, उनका कड़ाई से अनुपालन कराया जाए। अनावश्यक रूप से लगाए गए लाउडस्पीकर तत्काल उतार लिए जाएं। यह सुनिश्चित हो कि लाउडस्पीकर की आवाज़ उस परिसर से बाहर न आए। अन्य लोगों को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। नए स्थलों पर लाउडस्पीकर लगाने की अनुमति न दें।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि SDM, CO, SO, तहसीलदार, BDO, ग्राम विकास अधिकारी आदि सभी अपनी तैनाती के क्षेत्र में ही रात्रि प्रवास करें। शासकीय आवास है, तो वहां रहें अथवा किराए का आवास लें, लेकिन रात्रि में अपने ही क्षेत्र में रहें। इस व्यवस्था का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि माह के प्रत्येक प्रथम व तृतीय शनिवार को तहसील दिवस का आयोजन किया जाए। दूसरे व चौथे शनिवार को थाना दिवस एवं ब्लॉक दिवस का आयोजन किया जाए। थाना दिवस का आयोजन थाने पर तथा ब्लॉक दिवस का आयोजन ब्लॉक कार्यालय पर किया जाए। ब्लॉक दिवस पर समस्त सम्बन्धित अधिकारी स्वयं उपस्थित रहकर विकास खण्ड से जुड़े प्रकरणों एवं समस्याओं का निस्तारण करेंगे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि फील्ड में तैनात अधिकारी/कर्मचारी जनसमस्याओं के निस्तारण को शीर्ष प्राथमिकता दें। आमजन के साथ संवेदनशील व्यवहार रखें। यह ध्यान रखें कि आपका आचरण आमजन के मन में शासन के प्रति विश्वास का आधार बनता है। जनता की संतुष्टि ही आपके प्रदर्शन की श्रेष्ठता का मानक होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि हर व्यक्ति को न्याय पाने का अधिकार है। सोमवार से शुक्रवार तक जनहित से सीधे जुड़ाव रखने वाले कार्यालयों में हर दिन एक घण्टे की अवधि जनसुनवाई के लिए नियत है। इस अवधि में अधिकारी जनता से मिलें, शिकायतें/समस्याएं सुनें और मेरिट पर उनका निस्तारण करें। IGRS CM हेल्पलाइन जनता की समस्याओं के निदान का अच्छा माध्यम बन कर उभरा है। इसके प्रकरण लम्बित न रहें। इनकी हर कार्यालय में सतत् समीक्षा होनी चाहिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गांवों में स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं की सहज उपलब्धता के लिए ‘मुख्यमंत्री आरोग्य मेले’ सार्थक सिद्ध हो रहे हैं। प्रत्येक रविवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आयोजित होने वाले आरोग्य मेलों से अधिकाधिक लोगों को लाभान्वित कराया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी शासकीय कार्यालय समय से खुलें। सभी अधिकारी और कर्मचारी समय से कार्यालय आएं और समय पर जाएं। अधिकारीगण कैम्प कार्यालय की प्रवृत्ति बंद करें। कार्यालयों में अनुशासन का माहौल बना रहे। लोक शिकायतों का गुणवत्ता के आधार पर निस्तारण किया जाए। शासकीय कार्य वही करेगा, जिसे आवंटित है, जिसकी जिम्मेदारी है। ऐसी सूचना है कि कुछ लोग बाहरी लोगों को अनाधिकृत अधिकार दे रहे हैं। ऐसी हर घटना संज्ञेय अपराध मानी जाएगी। दलालों को सरकारी कार्यालयों से दूर रखें। प्रत्येक कार्यालय में मूवमेण्ट रजिस्टर अनिवार्य रूप से रखा जाए, जिसमें कार्यालय से बाहर जाने वाले अधिकारी और कर्मचारी का विवरण रहे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मंत्रियों के समूह, मण्डल स्तर तथा जनपद स्तर का भ्रमण कर विभिन्न कार्यों की मौके पर समीक्षा एवं स्थलीय निरीक्षण करेंगे। इसकी पूरी तैयारी कर लें। मंत्री समूह को सभी सहयोग प्रदान करें। अधिकारी फील्ड का नियमित भ्रमण करते हुए क्षेत्र में रात्रि निवास करें। रेंज और जोन स्तर के अधिकारी अलग-अलग जिलों में रात्रि विश्राम करते हुए स्थानीय समस्याओं/सम्भावनाओं की जानकारी कर आवश्यक कार्यवाही करें। इसी प्रकार, जिलाधिकारी/पुलिस कप्तान माह में कम से कम एक बार अलग-अलग तहसील/सर्किल में बारी-बारी से रात्रि विश्राम करें। इससे पूरा सिस्टम एक्टिव बना रहेगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जिलाधिकारी/पुलिस कप्तान स्थानीय जनप्रतिनिधियों से सतत् संवाद-सम्पर्क बनाए रखें। उनके सुझावों पर ध्यान दें। उनके पत्रों का त्वरित निस्तारण किया जाए। फोन रिसीव न कर सकें तो कॉल बैक करें। हर शासकीय अधिकारी को इसका अनुपालन करना होगा। फील्ड में तैनात वरिष्ठ अधिकारी तहसील/ब्लॉक/सर्किल का औचक निरीक्षण करते रहें। देर रात्रि में अचानक निरीक्षण करें। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अपराध और अपराधियों के विरुद्ध शासन की जीरो टॉलरेंस की नीति है। गो-तस्करी, अवैध वृक्ष कटान, भूमि पर अवैध कब्जा, अवैध शराब, ओवरलोडिंग, नियमविरुद्ध खनन पर सख्ती से रोक लगाते हुए कठोर कार्रवाई की जाए।

मिशन शक्ति अभियान को आगे बढ़ाने के लिए तेजी

मुख्यमंत्री  ने कहा कि महिला, एससी, एसटी, बाल यौन उत्पीड़न से जुड़े अपराध के मामलों में पूरी संवेदनशीलता बरती जाए। समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित कराया जाए। मिशन शक्ति अभियान को आगे बढ़ाने के लिए तेजी से कार्यवाही की जाए। प्रतिदिन एक घण्टे भीड़भाड़ वाले तथा संवेदनशील स्थानों में पुलिस बल की फुट पेट्रोलिंग जरूर हो।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रत्येक जनपद में माफिया एवं अपराधियों की सूची बनाकर उनकी अवैध सम्पत्ति को जब्त करने की कार्यवाही को आगे बढ़ाया जाए। पेशेवर अपराधियों के मुकदमों में प्रभावी अभियोजन करते हुए इन्हें सजा दिलायी जाए। चार्जशीट दाखिल करने में देरी पर जवाबदेही तय होनी चाहिए। डी0एम0/पुलिस कप्तान जनपद न्यायाधीश से हर माह न्यूनतम एक बार जरूर भेंट करें। पॉक्सो, महिला अपराध के केस की स्थिति पर चर्चा करें। जिला मॉनीटरिंग कमेटी की बैठक नियमित रूप से आयोजित हो।

महिला बीट अधिकारी के गांव के भ्रमण के कार्यक्रम तैयार करें

मुख्यमंत्री  ने कहा कि जनपद के शहीद स्मारकों, स्वाधीनता संग्राम से जुड़े स्थलों/प्रमुख धर्म स्थलों/प्रमुख पर्यटन स्थलों पर हर दिन आधा घण्टा पुलिस/पीएसी बैण्ड द्वारा राष्ट्रभक्ति के गीतों की धुनों का वादन किया जाए। हर जिले में इसकी रूपरेखा तैयार की जाए। सभी प्रमुख चौराहों/बैंकों/व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर सी सी टी वी कैमरे लगवाए जाएं। सी एस आर  से इसमें सहयोग लिया जा सकता है। महिला बीट अधिकारी के गांव के भ्रमण के कार्यक्रम तैयार करें। शासकीय योजनाओं/कार्यक्रमों की जानकारी जनता को दी जाए। इसके लिए पुस्तिका भी उपलब्ध कराई जाएगी।

एक भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रहे

मुख्यमंत्री   ने कहा कि ‘स्कूल चलो अभियान’ को प्रभावी बनाएं। एक भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रहे। हर विद्यार्थी निर्धारित यूनीफॉर्म में ही स्कूल आए। जनप्रतिनिधिगण से विद्यालयों को गोद लेने का आग्रह करें। अधिकारीगण भी ऐसा प्रयास कर सकते हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस बार गर्मी जल्दी व ज्यादा पड़ रही है। फसलों में आग लगने की दुःखद घटनाओं की जानकारी मिल रही है। इसके दृष्टिगत आप लोग विशेष सावधानी बरतें। सभी फायर स्टेशन पूरी मुस्तैदी से कार्यरत रहें। आग लगने की दुर्घटनाओं से किसानों सहित सभी प्रभावित लोगों को नियमानुसार मुआवजे के तौर पर तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। सभी अस्पतालों तथा मेडिकल कॉलेजों में अग्निशमन व्यवस्थाओं का निरीक्षण करें, जिससे अग्नि की घटनाओं से कोई क्षति न होने पाए। पूरे प्रदेश में तत्काल अभियान चलाकर यह कार्य किया जाए।

Previous article22 APRIL 2022
Next article23 APRIL 2022

Related Articles

epaper

Latest Articles