spot_img
29.1 C
New Delhi
Monday, July 26, 2021
spot_img

UP: बेसिक शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए CM ने दिए सख्त निर्देश

—बच्चों को अच्छी और गुणवत्तापूर्ण बेसिक शिक्षा उपलब्ध कराना जरूरी: मुख्यमंत्री
—विद्यार्थियों के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति तथा NCERT पाठ्यक्रमों के दृष्टिगत कार्यवाही के निर्देश
—बेसिक शिक्षा का स्तर उत्कृष्ट होने से माध्यमिक व उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी व्यापक सुधार होंगे
—विद्यालयों में अवस्थापना सुविधाओं में वृद्धि तथा फर्नीचर की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाए

लखनऊ/ टीम डिजिटल : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेसिक शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए त्वरित निर्णय लेते हुए कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षा व्यवस्था में व्यापक सुधार तथा बच्चों में आधारभूत लर्निंग कौशल पर केन्द्रित कार्ययोजना बनाते हुए उसका प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए। कोविड-19 प्रोटोकॉल व एसओपी के अनुसार विद्यालय संचालित हों। राज्य सरकार प्रदेश के बच्चों को अच्छी और गुणवत्तापूर्ण बेसिक शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने बेसिक शिक्षा के विद्यार्थियों के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 तथा एनसीईआरटी पाठ्यक्रमों के दृष्टिगत कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने पाठ्यक्रमों में भारतीय परिवेश और संस्कृति, प्रदेश के सम्बन्ध में जानकारी तथा प्रेरक कहानियों और महापुरुषों के जीवन प्रसंगों को भी शामिल किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा का स्तर उत्कृष्ट होने से माध्यमिक व उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी व्यापक सुधार होंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्री तथा वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा बेसिक शिक्षा कार्यालयों का समय-समय पर निरीक्षण किया जाए। इन कार्यालयों में स्वच्छता सहित कार्य संस्कृति को बेहतर किए जाने के उपाय सुनिश्चित हों। उन्होंने बेसिक शिक्षा के विद्यालयों में निःशुल्क पाठ्य-पुस्तकें, स्कूल बैग, यूनिफॉर्म, स्वेटर, जूते-मोजे आदि का वितरण गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए पारदर्शी व्यवस्था के तहत समयबद्ध ढंग से किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में अवस्थापना सुविधाओं में वृद्धि तथा फर्नीचर की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाए।

जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण की कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए

मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि विद्यालय का संचालन जर्जर भवन में मिले, तो तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था के तहत इनका संचालन अन्यत्र करते हुए जर्जर भवन के ध्वस्तीकरण की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने शासन के दिशा-निर्देशों के अनुरूप जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण की कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों के भवनों का गहन निरीक्षण किया जाए। बेसिक शिक्षा में सुधार के लिए शिक्षकों को लगातार प्रशिक्षित किया जाए।
इस अवसर पर बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  सतीश चन्द्र द्विवेदी, अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा श्रीमती रेणुका कुमार, सचिव मुख्यमंत्री  आलोक कुमार, विशेष सचिव बेसिक शिक्षा डॉ0 काजल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/thewomenexpress और https://twitter.com/thewomenexpress पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

Related Articles

epaper

Latest Articles